डी-कंपनी के बाद अब PMC घोटाले से जुड़ रहे प्रफुल्ल पटेल के तार: मीडिया रिपोर्ट्स

पटेल पहले ही मुंबई ब्लास्ट के आरोपित और दाऊद के क़रीबी इक़बाल मिर्ची के साथ जमीन सौदे को लेकर विरोधियों के निशाने पर हैं। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मीडिया को हाल ही में दिए इंटरव्यू में इसे 'देशद्रोह से कम नहीं' करार दिया था।

अंग्रेजी चैनल टाइम्स नाउ ने दावा किया है कि पूर्व केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री और राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता प्रफुल्ल पटेल के संबंध कथित PMC घोटाले के अभियुक्त हैं। टाइम्स नाउ का दावा है कि उसने ऐसे दस्तावेज़ देखे हैं जिनसे पता चलता है कि घोटाले के आरोपित वधावन परिवार के हवाई जहाज़ पर प्रफुल्ल पटेल एक चार्टर्ड फ्लाइट में सवार थे। और करेले पर नीम चढ़ा यह कि प्रफुल्ल पटेल पहले ही डी-कंपनी और इक़बाल मिर्ची से जुड़े लोगों के साथ आर्थिक संबंध के लिए विरोधियों के निशाने पर हैं। ऐसे में उनकी मुश्किलें बढ़ना तय है।

एक नहीं, कई बार- जब ‘मंत्री जी’ थे पटेल

टाइम्स नाउ के चैनल प्रसारण पर दिखाए गए दस्तावज़ों के अनुसार प्रफुल्ल पटेल और उनकी पत्नी वर्षा ने एक नहीं, कई-कई बार प्रिविलेज एयरवेज़ प्राइवेट लिमिटेड के चार्टर्ड विमान पर सफ़र किया था। यह सभी उड़ानें मार्च से जून 2012 के बीच की थीं, जब पटेल डॉ. मनमोहन सिंह की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार में नागरिक उड्डयन मंत्रालय के प्रभारी मंत्री थे। टाइम्स नाउ का दावा है कि यात्री सूची (passenger manifests) में पटेल का ज़िक़्र ‘Honourable Minister’ (माननीय मंत्री महोदय) के तौर पर है।

उनके साथ कई बार सफ़र करने वाले होते थे राकेश वधावन, जो PMC घोटाले के आरोपित हैं। पंजाब एंड महाराष्ट्र बैंक घोटाले के मुख्य आरोपित और एचडीआईएल के मालिक राकेश वधावन और उनके बेटे सारंग वधावन के पास से ₹3500 करोड़ की 2100 एकड़ जमीन ED ज़ब्त करने की तैयारी में है।

पहले ही डी-कंपनी के झंझावात में

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

पटेल पहले ही मुंबई ब्लास्ट के आरोपित और दाऊद के क़रीबी इक़बाल मिर्ची के साथ जमीन सौदे को लेकर विरोधियों के निशाने पर हैं। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने टाइम्स नाउ को हाल ही में दिए इंटरव्यू में इसे ‘देशद्रोह से कम नहीं’ करार दिया था। उन्होंने पूछा कि आखिर प्रफुल्ल पटेल की ऐसी क्या मज़बूरी थी कि उन्हें हाजरा बीबी के साथ डील करना पड़ा?

अमित शाह ने इस मामले पर टिप्पणी करते हुए कहा था, “इस मामले में जाँच चल रही है। आप और हम यहाँ बैठकर निर्णय नहीं कर सकते हैं। ईडी मामले की बारीकियाँ जुटा रही है। एक बार जाँच पूरी हो जाए और विश्लेषण हो जाए तभी हम टिप्पणी कर सकते हैं कि इसमें कोई आतंक से सम्बंधित ऐंगल है या नहीं। लेकिन, पहली नजर में इकबाल मिर्ची की पत्नी के साथ करार करना ‘देशद्रोह’ जैसा ही लगता है।”

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

जेएनयू छात्र विरोध प्रदर्शन
गरीबों के बच्चों की बात करने वाले ये भी बताएँ कि वहाँ दो बार MA, फिर एम फिल, फिर PhD के नाम पर बेकार के शोध करने वालों ने क्या दूसरे बच्चों का रास्ता नहीं रोक रखा है? हॉस्टल को ससुराल समझने वाले बताएँ कि JNU CD कांड के बाद भी एक-दूसरे के हॉस्टल में लड़के-लड़कियों को क्यों जाना है?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

112,491फैंसलाइक करें
22,363फॉलोवर्सफॉलो करें
117,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: