Monday, June 24, 2024
Homeराजनीतिअवैध खनन मामले में सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव को CBI ने भेजा समन, पूछताछ...

अवैध खनन मामले में सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव को CBI ने भेजा समन, पूछताछ के बुलाया: CM रहने के दौरान सामने आया था घोटाला

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को सीबीआई का बुलावा आया है। सीबीआई ने समन जारी कर 29 फरवरी को पूछताछ में शामिल होने के लिए कहा है।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को केंद्रीय जाँच एजेंसी (सीबीआई) ने बुलाया है। सीबीआई ने समन जारी कर 29 फरवरी को पूछताछ में शामिल होने के लिए कहा है। सीबीआई का ये समन अवैध खनन मामले से जुड़ा है, जिसमें उन्हें बतौर गवाह बुलाया गया है। केंद्रीय जांच एजेंसी ने अखिलेश को सीआरपीसी की धारा 160 के तहत नोटिस जारी किया है। उन्हें ये नोटिस 21 फरवरी को नोटिस जारी किया गया था।

जानकारी के मुताबिक, अखिलेश यादव को जनवरी 2019 में दर्ज की गई सीबीआई की उस एफआईआर के संबंध में तलब किया गया है, जो हमीरपुर में 2012-2016 के बीच कथित अवैध खनन से संबंधित है। बता दें कि इस मामले में 5 जनवरी 2019 को CBI ने 12 जगहों पर छापेमारी भी की थी।

अखिलेश यादव ने कहा कि पिछले चुनाव से पहले भी एक नोटिस आया था और इस चुनाव में भी एक नोटिस आया है। बताया जा रहा है कि ये मामला साल 2012 से 2017 के बीच का है, जब अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री थे, साथ ही उनके पास खनन मंत्रालय भी था।

इसी मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 28 जुलाई 2016 को आदेश दिया था जिसके बाद सीबीआई की ओर से मामला दर्ज किया गया था। डीएम हमीरपुर, जियोलॉजिस्ट, माइनिंग ऑफिसर, क्लर्क, लीज होल्डर और प्राइवेट और अज्ञात लोगों के खिलाफ अलग-अलग धाराओं 120 बी, 379, 384, 420, 511, प्रिवेंशन ऑफ करप्शन की धारा 13(1), (d) के तहत केस दर्ज क‍िया था। इस मामले में माइनिंग लैंड की फ्रेश लीज और र‍िन्‍युअल आद‍ि शाम‍िल है। अवैध खनन के मामले में सीबीआई ने उस उसय उत्तर प्रदेश के हमीरपुर ज‍िले की तत्कालीन डीएम के लखनऊ आवास पर भी छापेमारी की थी। टीम ने उनके आवास से कई अहम दस्तावेज भी जब्त किए थे।

इस मामले की जाँच में जुटी सीबीआई ने 5 जनवरी 2019 को 12 जगहों पर छापेमारी के दौरान काफी मात्रा में कैश और गोल्ड की बरामदगी की थी। अब बतौर गवाह अखिलेश को सीबीआई ने सीआरपीसी 160 के तहत तलब क‍िया है। इस एफआईआर में लिखा है कि आपराधिक साजिश में सरकारी कर्मचारियों ने निविदा प्रक्रिया का पालन किए बिना अवैध रूप से नए पट्टे और नवीकरण पट्टे दिए। लोगों को अवैध रूप से खनन की अनुमति दी गई।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

चर्च में फायरिंग, यहूदियों के धर्मस्थल को जलाया, पादरी का काटा गला: आतंकी हमले में रूस के 15 पुलिसकर्मियों की मौत, 6 आतंकवादी भी...

रूस में हुए आतंकी हमले में 15 से ज्यादा पुलिसकर्मियों की मौत हो गई, पादरी का सिर कलम कर दिया गया और 25 से ज्यादा घायल बताए जा रहे हैं।

किसानों के आंदोलन से तंग आ गए स्थानीय लोग: शंभू बॉर्डर खुलवाने पहुँची भीड़, अब गीदड़-भभकी दे रहे प्रदर्शनकारी

किसान नेताओं ने अंबाला शहर अनाज मंडी में मीडिया बुलाई, जिसमें साफ शब्दों में कहा कि आंदोलन खराब नहीं होना चाहिए। आंदोलन खराब करने वाला खुद भुगतेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -