Thursday, April 25, 2024
Homeराजनीतिकेंद्र और ममता बनर्जी के बीच जारी टकराव में अलपन बंद्योपाध्याय ने लिया रिटायरमेंट,...

केंद्र और ममता बनर्जी के बीच जारी टकराव में अलपन बंद्योपाध्याय ने लिया रिटायरमेंट, ‘दीदी’ ने बनाया सलाहकार

“हमें अभी आईएएस कैडर नियमों से एक पत्र मिला है। भारत सरकार ने अलपन को कल ज्वाइन करने के लिए कहा। सेवा विस्तार का उद्देश्य पूरा नहीं हुआ है।” वहीं अलपन के एक्सटेंशन पर ममता ने कहा, “ये मेरे हाथ में नहीं है। समय आने पर इस मामले पर जवाब दूँगी।”

बंगाल की खाड़ी से उठा चक्रवाती तूफान यास अब थम चुका है, लेकिन इसका सियासी असर बंगाल की राजनीति पर दिख रहा है। बंगाल की ममता बनर्जी और केंद्र सरकार पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंद्योपाध्याय को लेकर आमने-सामने हैं। पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंद्योपाध्याय सोमवार (मई 31, 2021) सुबह 10 बजे दिल्ली आकर रिपोर्ट करना था, लेकिन ममता सरकार ने उन्हें रिलीव नहीं किया। 

केंद्र सरकार और मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी के बीच जारी रस्साकशी के बाद पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंद्योपाध्याय ने सोमवार को रिटायरमेंट ले लिया। 31 मई को ही उनका कार्यकाल समाप्त हो रहा था जो तीन महीनों के लिए बढ़ाया गया था। उन्हें केंद्र सरकार ने वापस बुला लिया था, लेकिन वे नहीं गए। अब ममता बनर्जी ने उन्हें अपना विशेष सलाहकार नियुक्त किया है। वह अगले तीन साल तक इस पद पर रहेंगे। वहीं, अपर मुख्य सचिव गृह एचके द्विवेदी को बंगाल का नया मुख्‍य सचिव बनाया गया है।

ममता बनर्जी ने कहा, “हमें अभी आईएएस कैडर नियमों से एक पत्र मिला है। भारत सरकार ने अलपन को कल ज्वाइन करने के लिए कहा। सेवा विस्तार का उद्देश्य पूरा नहीं हुआ है।” वहीं अलपन के एक्सटेंशन पर ममता ने कहा, “ये मेरे हाथ में नहीं है। समय आने पर इस मामले पर जवाब दूँगी।”

ममता बनर्जी ने बैठक के दौरान कहा, “गरीब लोग याद रखें कि मैं आप सबके लिए हूँ, उकसावे में शामिल न हों।” पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने चक्रवात यास पर समीक्षा बैठक के दौरान कहा, “मैंने (चक्रवात यास प्रभावित) दीघा का दौरा किया है, यहाँ मुख्य सचिव अलपन बंद्योपाध्याय की जिम्मेदारी है। मछुआरों के मुआवजे के बारे में सोचा जाना चाहिए।” बता दें कि बैठक में मुख्य सचिव थे, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने बैठक के दौरान कहा कि COVID कोविड मामलों की दैनिक संख्या घटकर 11,000 हो गई है। दैनिक पॉजिटिविटी रेट घटकर 18 -19% हो गई। मृत्यु दर 0.56% है, जो पहली लहर से कम है, और डिस्चार्ज दर 91% है। उन्होंने कहा कि उन्हें चक्रवात के लिए न तो कोई राहत पैकेज मिला है और न ही उन्होंने इसके लिए कहा है।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में चक्रवाती तूफान Yaas से प्रभावित राज्य पश्चिम बंगाल का दौरा करने के बाद एक समीक्षा बैठक बुलाई थी। इस बैठक में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनके करीबी माने जाने वाले मुख्य सचिव अलपन बंद्योपाध्याय करीब आधे घंटे देर से पहुँचे थे और थोड़ी देर रुकने के बाद वहाँ से निकल गए थे। इसे सर्विस रूल्स के खिलाफ माना जा रहा है। इसके बाद केंद्र सरकार ने मुख्य सचिव बंद्योपाध्याय के ट्रांसफर को लेकर सेंट्रल एडमिनिस्ट्रेटिव ट्रिब्यूलन (CAT) और कलकत्ता हाई कोर्ट में कैविएट दाखिल किया।

हालाँकि, ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 5 पन्नों का पत्र लिखकर राज्य के मुख्य सचिव अलपन बंद्योपाध्याय को कार्यमुक्त कर दिल्ली भेजने से इनकार कर दिया। अपने पत्र में ममता ने बंद्योपाध्याय को सोमवार ( 31 मई 2021) को सुबह 10 बजे तक नॉर्थ ब्लॉक में रिपोर्ट करने के केंद्र सरकार के आदेश को ‘पूरी तरह से असंवैधानिक’ बताया। उन्होंने कहा, “मैं भारत सरकार द्वारा हमें भेजे गए एकतरफा आदेश से स्तब्ध हूँ, जिसमें हमें पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंद्योपाध्याय कार्यमुक्त करने के लिए कहा गया है, ताकि वो भारत सरकार की सेवा में शामिल हो सकें।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मार्क्सवादी सोच पर नहीं करेंगे काम: संपत्ति के बँटवारे पर बोला सुप्रीम कोर्ट, कहा- निजी प्रॉपर्टी नहीं ले सकते

संपत्ति के बँटवारे केस सुनवाई करते हुए सीजेआई ने कहा है कि वो मार्क्सवादी विचार का पालन नहीं करेंगे, जो कहता है कि सब संपत्ति राज्य की है।

मोहम्मद जुबैर को ‘जेहादी’ कहने वाले व्यक्ति को दिल्ली पुलिस ने दी क्लीनचिट, कोर्ट को बताया- पूछताछ में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला

मोहम्मद जुबैर को 'जेहादी' कहने वाले जगदीश कुमार को दिल्ली पुलिस ने क्लीनचिट देते हुए कोर्ट को बताया कि उनके खिलाफ कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe