Tuesday, July 23, 2024
Homeराजनीतितेलंगाना की आदिवासी महिला से मिले शाह, किया सदस्यता अभियान फिर शुरू

तेलंगाना की आदिवासी महिला से मिले शाह, किया सदस्यता अभियान फिर शुरू

बकौल शाह, "एक समय जब हमारी 2 सीटें थी, तो उस समय के प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने ताना मारा था कि भाजपा परिवार नियोजन में मानती है हम दो हमारे दो। तंज कसने वालों को आज विपक्ष का नेता बनने लायक सीटें नहीं मिल रही और हमारी पूर्ण बहुमत की सरकार आज केंद्र में है।"

एक बार फिर भाजपा के सदस्यों में भारी बढ़ोतरी के लिए केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज (शनिवार, 6 जुलाई) से एक बार फिर सदस्यता अभियान प्रारम्भ किया। इस बार शुरुआत तेलंगाना से की गई, और शाह ने एक आदिवासी महिला से मुलाकात की।

ट्वीट कर दी जानकारी

ट्वीट कर मुलाकात की जानकारी देते हुए शाह ने लिखा, “रंगारेड्डी, तेलंगाना के ममीडिपल्ली गाँव की श्रीमती जाटवती सोनी नाइक जी के घर गया। उनके स्वागत और उनकी गर्मजोशी ने अभिभूत कर दिया।” उन्होंने मुलाकात की फ़ोटो भी पोस्ट की।

राजीव गाँधी के तंज़ को किया याद

रंगारेड्डी से ही भाजपा के सदस्यता अभियान की शुरुआत करते हुए अमित शाह ने 1984 में तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गाँधी का भाजपा को मारा गया ताना भी याद किया। बकौल शाह, “एक समय जब हमारी 2 सीटें थी, तो उस समय के प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने ताना मारा था कि भाजपा परिवार नियोजन में मानती है हम दो हमारे दो। तंज कसने वालों को आज विपक्ष का नेता बनने लायक सीटें नहीं मिल रही और हमारी पूर्ण बहुमत की सरकार आज केंद्र में है।”

उन्होंने बूथवार काम करने की भाजपा की रणनीति जारी रखने का भी ऐलान किया, और कमज़ोर बूथों पर अधिकाधिक सदस्य बनाने पर भी ज़ोर दिया। “इस बार सदस्यता हर बूथ को मजबूत बनाने के लिए है। जहाँ हम मजबूत हैं, वहीं सदस्य बनाएँ ऐसा नहीं होना चाहिए। जो बूथ हम हारे हैं, उसे मजबूत करने का लक्ष्य तय करने का काम किया जाना चाहिए।” उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी का संदेश देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने हर बूथ पर भाजपा को मज़बूत बनाने के अलावा भाजपा को सर्व-स्पर्शीय, सर्व-समावेशी बनाने पर भी जोर दिया है

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राक्षस के नाम पर शहर, जिसे आज भी हर दिन चाहिए एक लाश! इंदौर की महारानी ने बनवाया, जयपुर के कारीगरों ने बनाया: बिहार...

गयासुर ने भगवान विष्णु से प्रतिदिन एक मुंड और एक पिंड का वरदान माँगा है। कोरोना महामारी के दौरान भी ये सुनिश्चित किया गया कि ये प्रथा टूटने न पाए। पितरों के पिंडदान के लिए लोकप्रिय गया के इस मंदिर का पुनर्निर्माण महारानी अहिल्याबाई होल्कर ने करवाया था, जयपुर के गौड़ शिल्पकारों की मेहनत का नतीजा है ये।

मार्तंड सूर्य मंदिर = शैतान की गुफा: विद्यार्थियों को पढ़ाने वाला Unacademy का जहरीला वामपंथी पाठ, जानिए क्या है इतिहास

मार्तंड सूर्य मंदिर को 8वीं शताब्दी ईस्वी में बनाया गया था और यह हिंदू धर्म के प्रमुख सूर्य देवता सूर्य को समर्पित है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -