Wednesday, May 25, 2022
Homeराजनीति'अखिलेश हमारे महबूब... उनके खिलाफ साजिश रची तो सबसे निपट लेंगे' : सपा प्रवक्ता...

‘अखिलेश हमारे महबूब… उनके खिलाफ साजिश रची तो सबसे निपट लेंगे’ : सपा प्रवक्ता फखरुल ने अपर्णा को ‘यादव’ बहू मानने से किया इनकार, नाम लिखा- अपर्णा बिष्ट

फखरुल हसन ने अपने पोस्ट में अखिलेश यादव को अपना महबूब नेता बताया और लिखा कि उनके ख़िलाफ़ साजिश रचने वाले अंदर के हों या बाहर के, वो लोग (सपा से जुड़े लोग) सबसे निपटना जानते हैं।

सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव के भारतीय जनता पार्टी से जुड़ने की खबरों के बीच समाजवादी नेता नाराज हैं। भले ही अखिलेश यादव या मुलायम सिंह यादव की ओर से अभी इस संबंध में कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। मगर पार्टी के प्रवक्ता ने अपर्णा यादव पर निशाना साधना शुरू कर रखा हुआ है। उन्होंने अपर्णा यादव को यादव परिवार की बहू मानने से मना किया है।

समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता और लखनऊ क्रिश्चियन कॉलेज में लेक्चरार फखरुल हसन चांद ने अपर्णा यादव को लेकर अपने सोशल मीडिया साइट पर डाला, “मैं जब से समाजवादी पार्टी में आया तब से एक बात ही जानता हूँ कि आदरणीय नेताजी के एक ही बेटा है और वो हैं हम सबके महबूब नेता आदरणीय अखिलेश यादव जी, और नेताजी कि एक ही बहू है जिनका नाम है आदरणीय डिंपल भाभी, बाकी नेताजी का कोई पुत्र नहीं जिसकी रगों में नेता जी का खून दौड़ता हो, जिसका डीएनए नेताजी के हों, जब कोई दूसरा बेटा हम नहीं मानते तो दूसरी कोई बहू भी नहीं हो सकती है।”

सपा प्रवक्ता ने अपने पोस्ट में लिखा, “हमारे महबूब नेता के ख़िलाफ़ साजिश करने वाले चाहे अंदर के हों या बाहर से हम समाजवादी लोग सबसे निपटना जानते हैं। अब जिसको दल में जाना हो जाए, लेकिन अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनने से साजिशें नहीं रोक पाएँगी।”

अपने अन्य पोस्ट में फखरुल ने अखिलेश यादव और डिंपल यादव की तस्वीर साझा करते हुए उन्हें मुलायम सिंह यादव का असली बेटा और बहू बताया। अपने एक पोस्ट में फखरुल ने अपर्णा यादव को अपमानित करने के लिहाज से कहा, “समाजवादी पार्टी आज अपर्णा बिष्ट के जाते ही शुद्ध हो गई। समाजवादी पार्टी किसी को हारने के लिए टिकट नही देंगी , चाहे अंदर का हो या बाहर का।”

बता दें कि लंबे समय से पीएम मोदी और सीएम योगी की प्रशंसक रहीं अपर्णा यादव ने आज भारतीय जनता पार्टी को ज्वाइन किया है। भाजपा की सदस्यता लेने के साथ ही उन्होंने राष्ट्र धर्म को सबसे ऊपर बताया। जब उनसे सवाल पूछा गया कि क्या अखिलेश यादव उनकी उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए तो इस पर अपर्णा यादव वने कहा, “मैंने हमेशा राष्ट्र को धर्म माना है। यह मेरी नई पारी है। मैं पीएम मोदी और सीएम योगी से बहुत प्रभावित हूँ। उनकी नीतियाँ मुझे नैतिक रूप से पसंद आती हैं इसलिए मैंने बीजेपी ज्वाइन की।”  

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिक्षा का गुजरात मॉडल: सूरत के सरकारी स्कूलों में एडमिशन की होड़, लगातार तीसरे साल प्राइवेट स्कूल पीछे

दिल्ली के तथकथित शिक्षा मॉडल का आपने खूब प्रचार सुना होगा। इससे इतर गुजरात के सूरत के सरकारी स्कूलों में एडमिशन के लिए भारी भीड़ दिख रही है।

अब्दुल की दाढ़ी जैसा ही फेक निकला इमरान से पैसे की लूट: 20 मामले जब ‘जय श्रीराम’ के नाम पर फैलाया झूठ

महाराष्ट्र के औरंगाबाद के इमरान खान को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उसने जानने वाले लोगों से खुद को पिटवाया और उनसे जय श्रीराम के नारे लगाने को कहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
188,731FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe