Wednesday, July 24, 2024
Homeराजनीति'काम खतम, पैसा हजम, मनीष सिसोदिया कौन हो तुम': क्या केजरीवाल ने AAP नेता...

‘काम खतम, पैसा हजम, मनीष सिसोदिया कौन हो तुम’: क्या केजरीवाल ने AAP नेता को अकेले छोड़ा, आतिशी को बंगला मिलते ही नेटिजन्स बोले- दूध में पड़ी मक्खी की तरह फेंका

एक यूजर ने कहा, "कल तक केजरीवाल कह रहा था कि मनीष सिसोदिया की पत्नी बीमार है, बूढ़ी माँ है। आज केजरीवाल ने सिसोदिया का बंगला अतिशी मार्लेना को अलॉट कर दिया और तुरंत बंगला खाली करने का नोटिस दे दिया। अपनी इज्जत बचाने के लिए केजरीवाल ने सिसोदिया को दूध में पड़ी मक्खी की तरह फेंक दिया।"

शराब घोटाला मामले को लेकर जेल में बंद दिल्ली के पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रहीं हैं। एक ओर जहाँ कोर्ट ने उनकी रिमांड 5 दिन के लिए बढ़ा दी। वहीं, अब अरविंद केजरीवाल ने उनका बंगला भी आतिशी मार्लेना को आवंटित कर दिया है। उन्हें बंगला खाली करने के लिए 5 दिन का समय दिया गया है।

दरअसल, दिल्ली के शराब घोटाला मामले में सीबीआई ने मनीष सिसोदिया को 26 फरवरी 2023 को गिरफ्तार किया था। इसके बाद से अब तक उन्हें जमानत नहीं मिल सकी है। जेल जाने के बाद मनीष सिसोदिया ने 28 फरवरी को मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सिसोदिया के मंत्रालयों का प्रभार आतिशी मार्लेना को सौंप दिया था।

वहीं, अब दिल्ली सरकार ने सिसोदिया को बड़ा झटका देते हुए उनका बंगला भी आतिशी मार्लेना को ही आवंटित कर दिया है। उन्हें यह बंगला 5 दिन के अंदर यानी 21 मार्च तक खाली करना होगा। मनीष सिसोदिया से सरकारी बंगला छीनकर आतिशी मार्लेना को देने के बाद से सोशल मीडिया यूजर्स अलग-अलग तरह की प्रतिक्रियाएँ दे रहे हैं। वहीं, सरकार के इस कदम से भाजपा ने केजरीवाल पर निशाना साधा है।

भाजपा नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने ट्वीट कर कहा है, “26 फरवरी से जेल में बंद सिसोदिया से केजरीवाल ने महज 15 दिनों में पूरी तरह पल्ला झाड़ लिया। सिसोदिया का बंगला आतिशी मार्लेना को दिया गया। उनकी माँ, पत्नी और बच्चे कहाँ जाएँगे?”

भाजपा नेता शहजाद पूनावाला ने कहा है, “केजरीवाल का आदर्श वाक्य- काम खतम, पैसा हजम, मनीष सिसोदिया कौन हो तुम? मनीष सिसोदिया की सार्वजनिक रूप से अनदेखी करने के बाद अब मनीष सिसोदिया का सरकारी आवास, बंगला नंबर एबी-17, मथुरा रोड नई-नई मंत्री आतिशी को आवंटित सिसोदिया के परिवार को बंगला खाली करने के लिए 5 दिन का समय दिया गया है, यानी 21 मार्च तक। लगता है कि केजरीवाल मनीष को शराब घोटाला का बलि का बकरा बनाने की कोशिश कर रहे हैं और खुद को बचाने के लिए उनकी बलि दे रहे हैं?”

पत्रकार अशोक श्रीवास्तव ने ट्वीट कर कहा है, “दोस्त-दोस्त न रहा। अरविन्द केजरीवाल ने मनीष सिसोदिया का बंगला आतिशी को अलॉट किया।”

राजा सिंह सेवारा नामक यूजर ने कहा है, “कल तक केजरीवाल कह रहा था कि मनीष सिसोदिया की पत्नी बीमार है बूढ़ी माँ है। आज केजरीवाल ने सिसोदिया का बंगला अतिशी मार्लेना को अलॉट कर दिया और सिसोदिया के परिवार को तुरंत ही बंगला खाली करने का नोटिस दे दिया। अपनी इज्जत बचाने के लिए केजरीवाल ने सिसोदिया को दूध में पड़ी मक्खी की तरह फेंक दिया। अब मनीष सिसोदिया का भी फर्ज बनता है कि वह सरकारी गवाह बन जाए और केजरीवाल की पोल खोले।”

लेखक संदीप देव ने कहा है, “आनन-फानन में मनीष सिसोदिया का बंगला आतिशी मर्लेना को आवंटित करने के पीछे कोई साक्ष्य मिटाने का इरादा तो नहीं है? सिसोदिया की गैरहाजिरी में उसके परिवार का खयाल किए बिना केजरीवाल का यह जल्दबाजी भरा कदम उस बंगले में पहुँचने की आतुरता दिखाता था। ED की 5 दिन की हिरासत और बंगले में आनन-फानन मे़ घुसना। केस बड़ा है और दाल में कुछ न कुछ काला तो है।”

अतुल्य भारत नामक यूजर ने कहा है, “अंदर से तो केजरीवाल को भी मालूम है कि अब सिसोदिया को जल्दी तिहाड़ से बाहर नहीं आना है। तो आतिशी को ही क्यों नाराज करना अब पैसा तो आतिशी से ही मिलना है। लेकिन ये बंगला खाली करना ही केजरीवाल को तिहाड़ तक लेकर जाएगा। सिसोदिया और जैन अकेले क्यों सजा काटेंगे जब सबने मलाई चाटी है।”

बता दें कि शुक्रवार (17 मार्च 2023) को शराब घोटाले को लेकर गिरफ्तार किए गए दिल्ली के पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने कोर्ट में पेश किया। ED ने कोर्ट को बताया था कि मनीष सिसोदिया ने इस सवाल का कोई जवाब नहीं दिया कि उन्होंने इतने फोन क्यों बदले।

प्रवर्तन निदेशालय ने कोर्ट को बताया कि मनीष सिसोदिया ने अपने फोन को जानबूझकर नष्ट किया है। जाँच एजेंसी ने कोर्ट से 7 दिन की रिमांड की माँग की थी। हालाँकि, कोर्ट ने ED के आग्रह को स्वीकार करते हुए मनीष सिसोदिया को 7 दिन के बजाए 5 दिन के रिमांड पर भेज दिया। इसका मतलब यह है कि सिसोदिया को अब 22 मार्च दिन रिमांड में रहना होगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

औरतें और बच्चियाँ सेक्स का खिलौना नहीं… कट्टर इस्लामी मानसिकता पर बैन लगाओ, OpIndia पर नहीं: हज पर यौन शोषण की खबरें 100% सच

हज पर मुस्लिम महिलाओं और बच्चियों का यौन शोषण होता है, यह खबर 100% सत्य है। BBC, Washington Post और अरब देश की मीडिया में भी यह छपा है।

‘मेरे बेटे को मार डाला’: आधुनिक पश्चिमी सभ्यता ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स को भी दे दिया ऐसा दर्द, कहा – Woke वाले...

लिंग-परिवर्तन कराने वाले को उसके पुराने नाम से पुकारना 'Deadnaming' कहलाता है। उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि उनका बेटा मर चुका है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -