Tuesday, August 9, 2022
Homeराजनीति'झारखंड सरकार गिराने की साजिश, CM सरमा से मिलवाने का लालच': असम के मंत्री...

‘झारखंड सरकार गिराने की साजिश, CM सरमा से मिलवाने का लालच’: असम के मंत्री ने बताई कॉन्ग्रेस MLA के आरोपों की सच्चाई, कैश के साथ धराए थे 3 विधायक

"ये बात गुरुवार (26 जुलाई, 2022) को सुबह 9 बजे की है। ट्रेड यूनियन से जुड़े एक मुद्दे पर सहायता के लिए उन्होंने ये मुलाकात करवाई थी।"

कॉन्ग्रेस के विधायक कुमार जयमंगल ने दावा किया था कि उनकी पार्टी के जिन 3 विधायकों को बड़ी मात्रा में कैश के साथ गिरफ्तार किया गया था, उन्होंने उन्हें असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा से मिलवाने का लालच दिया था। अब असम के मंत्री और राज्य सरकार के प्रवक्ता पीजूष हजारिका ने इन आरोपों की सच्चाई बताई है। उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से कॉन्ग्रेस विधायक के आरोपों की पोल खोली है।

उन्होंने जानकारी दी, “मनगढंत FIR दायर करने से 5 दिन पहले असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा उन्हें केंद्रीय कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी के आवास पर लेकर गए थे। ये बात गुरुवार (26 जुलाई, 2022) को सुबह 9 बजे की है। ट्रेड यूनियन से जुड़े एक मुद्दे पर सहायता के लिए उन्होंने ये मुलाकात करवाई थी। कुमार जयमंगल नियमित रूप से सीएम सरमा से मिलते रहे हैं। असम सीएम और जनजातीय विधायकों के विरुद्ध झूठे आरोप लगाने के लिए उन्हें कानून का सामना करना चाहिए।”

बता दें कि बेरमो विधानसभा क्षेत्र से विधायक कुमार जयमंगल सिंह ने एक पत्र लिख कर आरोप लगाया था कि हावड़ा में कैश के साथ पकड़े गए तीनों विधायक झारखंड सरकार गिराने की साजिश में शामिल थे और सीएम सरमा भी इसका हिस्सा हैं। पत्र में उन्हें कोलकाता बुला कर गुवाहाटी ले जाकर सीएम सरमा के साथ बैठक कराने के लालच का आरोप लगाया गया था। जबकि हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा था कि वो 22 साल कॉन्ग्रेस में रहे हैं, ऐसे में वहाँ के शीर्ष नेतृत्व के लोग उनके संपर्क में तो रहते हैं लेकिन राजनीति की बातें नहीं होतीं।

शनिवार (31 जुलाई, 2022) की देर रात हावड़ा पुलिस को कैश से भरी गाड़ियों के जाने की सूचना मिली थी। हालाँकि, ये नहीं पता चला कि इनमें कौन लोग हैं। पुलिस ने तीनों विधायकों की गाड़ियों को रोका और उनकी तलाशी ली तो उसमें भारी मात्रा में कैश बरामद किया गया और पता चला कि ये तीनों विधायक हैं। इसके बाद पुलिस ने ड्राइवर सहित कार में सवार पाँच लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया। विधायक इरफान अंसारी वही व्यक्ति हैं, जिन्होंने अग्निपथ योजना का विरोध करते हुए कहा था कि ‘देश खून से लथपथ हो जाए, लेकिन अग्निपथ लागू नहीं होने देंगे।’

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डोनाल्ड ट्रंप के ‘खूबसूरत घर’ पर FBI की रेड: पूर्व राष्ट्रपति बोले- मेरी तिजोरी में भी सेंध मारी, दावा- व्हाइट हाउस से लेकर चले...

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप को लेकर कहा जा रहा है कि उन्होंने राष्ट्रपति भवन छोड़ते समय कुछ दस्तावेज अपने पास रख लिए थे। एफबीआई रेड में उन्हें ही ढूँढ रही थी।

मंदिर से लौट रहे हिन्दू परिवार पर हमला, महिलाओं से छेड़छाड़: Pak में जहाँ हुई थी हिन्दू कारोबारी की हत्या, वहाँ अब भी नहीं...

पाकिस्तान के सिंध के संघर में एक हिंदू परिवार पर रविवार शाम को मीरपुर मथेलो पुलिस थाने के भीतर लगभग एक दर्जन लोगों ने हमला बोल दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,424FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe