Tuesday, August 3, 2021
Homeराजनीतिमेरे साथ आतंकवादियों जैसा सलूक हो रहा है: जेल से पेशी के लिए लाए...

मेरे साथ आतंकवादियों जैसा सलूक हो रहा है: जेल से पेशी के लिए लाए जाने पर बोले आजम खान

आजम ने बेटे और पत्नी के साथ 26 फरवरी को कोर्ट में आत्मसमर्पण किया था। अदालत ने तीनों सपा नेताओं को 2 मार्च तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। उन पर बेटे अब्दुल्ला आजम के दो जन्म प्रमाण-पत्र बनवाने का आरोप है।

धोखाधड़ी के मामले में जेल में बंद सपा सांसद आजम खान, उनकी विधायक पत्नी तंजीन फातिमा और उनके बेटे अब्दुल्ला आजम खान को शनिवार (फरवरी 29, 2020) को सीतापुर जेल से रामपुर कोर्ट पेशी पर ले जाया गया। इस दौरान उन्‍होंने मीडिया से बातचीत में कहा, “मेरे साथ आतंकवादियों जैसा सलूक हो रहा है। इस सरकार में मेरे साथ अमानवीय व्यवहार हो रहा है।”

आजम खान के आतंकवादी वाले बयान पर सीतापुर के जेल अधीक्षक डीसी मिश्र ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “सांसद के साथ जेल में अच्छा व्यवहार किया जाता है। हम उन्हें जेल मैनुअल के हिसाब से ही सारी सुविधाएँ उपलब्ध करा रहे हैं।” साथ ही जेल अधीक्षक ने कहा कि वो बड़े व्यक्ति हैं, वह घर जैसी सुविधा सोचते होंगे तो वह सुविधा जेलों में उपलब्ध नहीं हो सकती।

इसके साथ ही नगर विकास राज्य मंत्री महेश चंद्र गुप्ता ने भी इस पर टिप्पणी करते हुए कहा कि आजम खान ने अपने जमाने में लोगों को बहुत परेशान किया। आजम खान अपनी फटकार से लोगों को परेशान करते थे। आज उनके साथ जो हो रहा है, सच्चाई में न्याय हो रहा है। आजम के साथ आतंकवादी जैसा कोई बर्ताव नहीं हो रहा है। मंत्री ने कहा कि आजम जैसा करेंगे, वैसा भरेंगे। सपा के राज में बहन-बेटियाँ स्कूल भी सही ढंग से नहीं जा पाती थीं।

बता दें कि स्वार से विधायक रहे बेटे अब्दुल्ला आजम के दो जन्म प्रमाण-पत्र बनवाने में आरोपी सपा सांसद आजम खान ने पत्नी एवं शहर विधायक तजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम के साथ बुधवार (फरवरी 26, 2020) को कोर्ट में आत्मसमर्पण किया था। जिसके बाद अदालत ने तीनों सपा नेताओं को 2 मार्च तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। उन पर आरोप है कि बार-बार कोर्ट के आदेश से लेकर मुनादी तक कराने के बाद भी वो कोर्ट में हाजिर नहीं हुए। इसके मद्देनजर स्पेशल कोर्ट ने मंगलवार (फरवरी 25, 2020) को सीआरपीसी की धारा-83 के तहत संपत्ति कुर्क करने के आदेश जारी किया था।

पिछले साल भाजपा नेता आकाश सक्सेना ने गंज कोतवाली में मोहम्मद आजम खान, अब्दुल्ला आजम और तंज़ीन फातिमा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। साथ ही आरोप लगाया था कि अनुचित लाभ लेने के लिए सपा सांसद आजम खान और उनकी पत्नी तजीन फातिमा ने बेटे अब्दुल्ला आजम के दो जन्म प्रमाण-पत्र बनवाए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द सीएम हैप्पी एंड गे: केजरीवाल सरकार का घोषणा प्रधान राजनीतिक दर्शन

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द CM हैप्पी एंड गे, एक अंग्रेजी कहावत की इस पैरोडी में केजरीवाल के राजनीतिक दर्शन को एक वाक्य में समेट देने की क्षमता है।

एक का छत से लटका मिला शव, दूसरे की तालाब से मिली लाश: बंगाल में फिर भाजपा के 2 कार्यकर्ताओं की हत्या

एक मामला बीरभूम का है और दूसरा मेदिनीपुर का। भाजपा का कहना है कि टीएमसी समर्थित गुंडों ने उनके कार्यकर्ताओं की हत्या की जबकि टीएमसी इन आरोपों से किनारा कर रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,842FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe