Monday, June 24, 2024
Homeबड़ी ख़बरअमित शाह कल ला रहे हैं यूनिफॉर्म सिविल कोड बिल 2020? भाजपा सांसदों को...

अमित शाह कल ला रहे हैं यूनिफॉर्म सिविल कोड बिल 2020? भाजपा सांसदों को जारी हुआ व्हिप

CAA और NRC के मुद्दे पर छिटपुट आंदोलन झेलती सरकार क्या यूनिफॉर्म सिविल कोड जैसा विधेयक लाएगी, यह एक बड़ा प्रश्न है। लेकिन, नई सरकार ने जिस तेजी से लगातार अपने मेनिफेस्टो में किए गए वादों पर कार्य किया है, असंभव तो कुछ भी नहीं लगता।

देर शाम यह खबर आई कि भाजपा ने अपने सारे सांसदों को कल संसद में उपस्थित रहने को कहा है और निर्देश दिया है कि वो सरकार के समर्थन में खड़े रहें। हालाँकि, इस ‘व्हिप’ में कहीं भी विषय का जिक्र नहीं है कि समर्थन आखिर किस बात का करना है। खबरों के मुताबिक यह कहा गया है कि कुछ अतिमहत्वपूर्ण मुद्दे कल संसद में उठाए जा सकते हैं, अतः सारे सांसदों को मंगलवार, 11 फरवरी, को राज्यसभा में उपस्थित रहना है।

इसके साथ ही अटकलबाज़ी का दौर शुरु हो गया और लोगों ने तमाम तरह की अटकलें लगानी शुरु कर दीं। ज्ञात हो कि कल दिल्ली विधानसभा चुनावों के परिणाम भी आने वाले हैं, अतः कल का दिन दिल्ली में वैसे भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। लेकिन भाजपा की तरफ से आई इस खबर के कारण सोशल मीडिया पर तरह-तरह की बातें हो रही हैं।

इन सबके बीच, ट्विटर पर एक कागज का प्रिंटआउट घूमता पाया गया जिसके निचले हिस्से में राज्यसभा में कुछ विधेयकों की प्रस्तुति की बात है। इसके ऊपरी भाग में पार्लियामेंट हाउस एनेक्स छपा हुआ है और नीचे कुछ संसदीय कागजात की बातें हैं। इसी पत्र के निचले हिस्से में राज्यसभा में प्रस्तुत होने वाले विधेयकों का भी जिक्र है।

ऐसे कुल छः विधेयक हैं, लेकिन एक विधेयक जो सबसे ज्यादा ध्यानाकर्षण करता है वो है तीसरे नंबर पर लिखा ‘द यूनिफॉर्म सिविल कोड ऑफ इंडिया बिल, 2020’। और पाँचवे नंबर पर संविधान संशोधन बिल का भी जिक्र है। हालाँकि, जिस बिल का जिक्र इस दस्तावेज में है, जो कि दिनांक 6 फरवरी का है, वो एक प्राइवेट मेंबर बिल है न कि सरकार द्वारा लाया जाने वाला बिल।

ट्विटर पर यह तस्वीर खूब घूम रही है

जब इसको ले कर सोशल मीडिया पर खूब हल्ला होने लगा तो हमने राज्यसभा की साइट पर जा कर देखा कि क्या वाकई ऐसी कोई बात लिस्ट की गई है? वहाँ ऐसा कुछ नहीं मिला। कल की लिस्टिंग में राज्यसभा की कार्यवाही में किसी भी ऐसे बिल के प्रस्तुत होने की बात नहीं लिखी हुई है।

11 फरवरी की राज्यसभा की कार्यवाही में यूनिफॉर्म सिविल कोड बिल का जिक्र नहीं है

यह कागज आधिकारिक दस्तावेज़ों को किसी अधिकारी तक पहुँचाने की बात करता है। 6 फरवरी के इस कागज में ऊपर में यह लिखा है कि ‘निम्नलिखित काग़ज़ात प्राप्त किए जाएँ’ और नीचे उनके नाम हैं। यह तय है कि यह कागज राज्यसभा के कल की कार्यवाही का बिलकुल नहीं है। यह भाजपा सांसद किरोड़ी लाल मीणा द्वारा लाए गए यूनिफार्म सिविल कोड ऑफ इंडिया बिल, 2020 की बात करता प्रतीत होता है। हमने राज्यसभा की साइट पर जा कर खोजा, तो इस बिल के बावत हुई कार्यवाही का भी जिक्र मिला।

लेकिन, भाजपा के व्हिप के मद्देनजर, हो सकता है कि कोई महत्वपूर्ण बिल कल सामने आए। CAA और NRC के मुद्दे पर छिटपुट आंदोलन झेलती सरकार क्या यूनिफॉर्म सिविल कोड जैसा विधेयक लाएगी, यह एक बड़ा प्रश्न है। लेकिन, नई सरकार ने जिस तेजी से लगातार अपने मेनिफेस्टो में किए गए वादों पर कार्य किया है, असंभव तो कुछ भी नहीं लगता।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों के आंदोलन से तंग आ गए स्थानीय लोग: शंभू बॉर्डर खुलवाने पहुँची भीड़, अब गीदड़-भभकी दे रहे प्रदर्शनकारी

किसान नेताओं ने अंबाला शहर अनाज मंडी में मीडिया बुलाई, जिसमें साफ शब्दों में कहा कि आंदोलन खराब नहीं होना चाहिए। आंदोलन खराब करने वाला खुद भुगतेगा।

‘PM मोदी ने किया जी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उद्घाटन, गिर गई उसकी दीवार’: News24 ने फेक न्यूज़ परोस कर डिलीट की ट्वीट,...

अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन से जुड़े जिस दीवार के दिसंबर 2023 में बने होने का दावा किया जा रहा है, वो दावा पूरी तरह से गलत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -