Monday, August 15, 2022
HomeराजनीतिBJP ने हरियाणा के आईटी सेल प्रभारी अरुण यादव को पद से हटाया, सालों...

BJP ने हरियाणा के आईटी सेल प्रभारी अरुण यादव को पद से हटाया, सालों पुराने ट्वीट पर कार्रवाई की हो रही थी मॉंग

पिछले दिनों बीजेपी ने अपने दो नेताओं- नूपुर शर्मा और नवीन कुमार जिंदल पर पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी के चलते सख्त कार्रवाई की थी।

भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने गुरुवार (7 जुलाई 2022) को हरियाणा आईटी सेल प्रभारी अरुण यादव को तत्काल प्रभाव से उनके पद से हटा दिया है। बताया जा रहा है कि सोशल मीडिया पर उनका 2017 का एक ट्वीट वायरल हुआ था, जिसके चलते उन पर कार्रवाई की माँग हो रही थी। हालाँकि अभी तक अरुण यादव के खिलाफ कोई शिकायत दर्ज होने की सूचना नहीं है। 

ऑल्ट न्यूज के को-फाउंडर मोहम्मद जुबैर की गिरफ्तारी के बाद यादव का यह पुराना ट्वीट वायरल किया गया था। उनकी गिरफ्तारी की माँग सोशल मीडिया पर उठ रही थी। हरियाणा भाजपा सचिव गुलशन भाटिया की ओर से जारी एक बयान के अनुसार, पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने अरुण यादव को तत्काल प्रभाव से हटा दिया। लेकिन बयान में यादव को हटाने के पीछे के कारण का कोई जिक्र नहीं किया गया है।

फोटो साभार: India Today

बता दें कि जुबैर को दिल्ली पुलिस ने 27 जून को गिरफ्तार किया था। 2 जुलाई को पुलिस ने उनके खिलाफ विदेश से पैसे लेने का भी आरोप लगाया। उन्हें 14 दिन की हिरासत में रखा गया है। 4 जुलाई को जुबैर के खिलाफ उत्तर प्रदेश में भी केस दर्ज किया गया। जुबैर ने जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है और कहा है कि उन्हें जान से मारने की धमकी दी जा रही है।

बीजेपी कर चुकी है नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल पर कार्रवाई

बता दें पिछले दिनों ही बीजेपी ने अपने दो नेताओं- नूपुर शर्मा और नवीन कुमार जिंदल पर पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी के चलते सख्त कार्रवाई की थी। बीजेपी ने राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा को पार्टी से निलंबित कर दिया। बीजेपी की दिल्ली इकाई के मीडिया प्रमुख नवीन कुमार जिंदल को भी पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वो हिंदुस्तानी जो अभी भी नहीं हैं आजाद: PoJK के लोग देख रहे आशाभरी नजरों से भारत की ओर, हिंदू-सिखों का यहाँ हुआ था...

विभाजन की विभीषिका को भी भुलाया नहीं जा सकता। स्वतंत्रता-प्राप्ति का मूल्य समझकर और स्वतन्त्रता का मूल्य चुकाकर ही हम अपनी स्वतंत्रता को सुरक्षित और संरक्षित कर सकते हैं।

वे नहीं रहे… क्योंकि वे हिन्दू थे: अपनी नवजात बेटी को भी नहीं देख पाए गौ प्रेमी किशन भरवाड

27 वर्षीय हिंदू युवक किशन भरवाड़ को कट्टरपंथी मुस्लिमों ने 25 जनवरी 2022 को केवल हिंदू होने के कारण मार डाला था। वजह वही क्योंकि वे हिन्दू थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,977FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe