Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाजमोहम्मद जुबैर को लेकर UP पहुँची दिल्ली पुलिस, सीतापुर में पेशी - कोर्ट ने...

मोहम्मद जुबैर को लेकर UP पहुँची दिल्ली पुलिस, सीतापुर में पेशी – कोर्ट ने 14 दिन की कस्टडी में भेजा: हिन्दू संतों पर घृणित टिप्पणी का मामला, देखिए Video

हिन्दू संतों को लेकर घृणा फैलाने वाले ट्वीट्स करने के लिए मोहम्मद जुबैर के विरुद्ध 'हिन्दू शेर सेना' ने FIR दर्ज कराई थी। संगठन के जिलाध्यक्ष भगवान शरण ने जिले के खैराबाद पुलिस थाने में शिकायत देकर केस दर्ज कराया था।

दिल्ली पुलिस AltNews के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर को लेकर उत्तर प्रदेश के सीतापुर पहुँची है, जहाँ उसे कोर्ट में पेश किया गया। उस पर धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला ट्वीट करने का मामला चल रहा है। उसे स्थानीय जुडिशल मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया। असल में ये मामला महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती, बजरंग मुनि और आनंद स्वरूप जैसे संतों पर की गई उसकी एक आपत्तिजनक टिप्पणी से जुड़ा हुआ है।

अदालत में पेश किए जाने के बाद पुलिस ने मोहम्मद जुबैर की रिमांड माँगी। न्यायाधीश ने ‘भारतीय दंड संहिता (IPC)’ की धारा-295A (किसी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए जानबूझ कर दुर्भावनापूर्ण कृत्य करना) और IT एक्ट (सूचना एवं प्रौद्योगिकी अधिनियम) की धारा-67 (इलेक्ट्रॉनिक उपकरण का प्रयोग कर के गलत संदेश प्रसारित करना) के आरोपों के तहत 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

इसके बाद दिल्ली पुलिस मोहम्मद जुबैर को लेकर राष्ट्रीय राजधानी के लिए रवाना हो गई। हिन्दू संतों को लेकर घृणा फैलाने वाले ट्वीट्स करने के लिए मोहम्मद जुबैर के विरुद्ध ‘हिन्दू शेर सेना’ ने FIR दर्ज कराई थी। संगठन के जिलाध्यक्ष भगवान शरण ने जिले के खैराबाद पुलिस थाने में शिकायत देकर केस दर्ज कराया था। सीतापुर में दर्ज केस के लिए भी अब उसे दिल्ली पुलिस ने रिमांड में ले लिया है। उसे कड़ी सुरक्षा में लाया और ले जाया जा रहा है।

उधर कॉन्ग्रेस से समावजदी पार्टी में गए राज्यसभा सांसद कपिल सिब्बल ने मोहम्मद जुबैर की गिरफ़्तारी को असोचनीय बताया है। उन्होंने इसे लिए ‘न्यायपालिका के ताज़ा हालात’ पर भी चिंता ज़ाहिर करते हुए कहा कि संस्था के कुछ सदस्यों ने हमें नीचा दिखाया है और ताज़ा घटनाओं को लेकर उनका सिर शर्म से झुक जाता है। उन्होंने देश में आपातकाल होने का भी रोना रोया। साथ ही दावा किया कि संस्थाओं को खत्म किया जा रहा है और कानून के शासन का प्रतिदिन उल्लंघन हो रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘दरबार हॉल’ अब कहलाएगा ‘गणतंत्र मंडप’, ‘अशोक हॉल’ बना ‘अशोक मंडप’: महामहिम द्रौपदी मुर्मू का निर्णय, राष्ट्रपति भवन ने बताया क्यों बदला गया नाम

राष्ट्रपति भवन ने बताया है कि 'दरबार' का अर्थ हुआ कोर्ट, जैसे भारतीय शासकों या अंग्रेजों के दरबार। बताया गया है कि अब जब भारत गणतंत्र बन गया है तो ये शब्द अपनी प्रासंगिकता खो चुका है।

जिसका इंजीनियर भाई एयरपोर्ट उड़ाने में मरा, वो ‘मोटू डॉक्टर’ मारना चाह रहा था हिन्दू नेताओं को: हाई कोर्ट से माँग रहा था रहम,...

कर्नाटक हाई कोर्ट ने आतंकी मोटू डॉक्टर को राहत देने से इनकार कर दिया है। उस पर हिन्दू नेताओं की हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -