Sunday, July 25, 2021
Homeराजनीतिबंगाल में एक और बीजेपी वर्कर की मौत: पार्टी ने कहा- पुलिस ने फेंके...

बंगाल में एक और बीजेपी वर्कर की मौत: पार्टी ने कहा- पुलिस ने फेंके बम, तेजस्वी सूर्या बोले- वर्दी उतार TMC के गुंडों को कर लो ज्वाइन

“पुलिस ने भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं पर आँसू गैस के गोले और वाटर कैनन का इस्तेमाल किया। उन्हें यूनिफॉर्म उतार कर टीएमसी गुंडों को ज्वाइन कर लेना चाहिए। भाजपा के कई कार्यकर्ता उनके शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन के दौरान घायल हो गए। पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र की हत्या हो रही है।”

अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले पश्चिम बंगाल जंगी मैदान की तरह नजर आने लगा है। राज्य से एक और बीजेपी कार्यकर्ता के मारे जाने की खबर है। आरोप है कि सत्ताधारी टीएमसी के संरक्षण में पुलिस ने इस बर्बरता को अंजाम दिया है।

घटना सिलीगुड़ी के तीनबत्ती की है। सोमवार (दिसंबर 7, 2020) को बीजेपी कार्यकर्ता राज्य सचिवालय की शाखा ‘उत्तरकन्या’ की ओर बढ़ने का प्रयास कर रहे थे। इस दौरान दो जगहों पर उनकी पुलिस से झड़प हुई। बीजेपी का आरोप है कि हमले में उसके कार्यकर्ता उलेन रॉय की मौत हो गई।

बता दें कि भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) ने बंगाल सरकार के खिलाफ ‘उत्तरकन्या अभिजन’ के तहत दो स्थानों पर विरोध प्रदर्शन आयोजित किए थे। भाजयुमो के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद तेजस्वी सूर्या ने बंगाल पुलिस की बर्बरता की ओर ध्यान दिलाते हुए कहा है, शांतिपूर्ण प्रदर्शन के दौरान कई बीजेपी कार्यकर्ता जख्मी हो गए। बंगाल में लोकतंत्र की हत्या हो रही है।

भाजयुमो ने आरोप लगाया कि उत्तर बंगाल के लोगों से किए गए वादों को सरकार ने पूरा नहीं किया और सरकार द्वारा शुरू की गई कल्याणकारी योजनाओं का लाभ आम आदमी तक नहीं पहुँचा। भाजपा की युवा शाखा उत्तर बंगाल में ममता बनर्जी सरकार के कथित कुशासन, बेरोजगारी और उपेक्षा के खिलाफ मार्च निकाल रही थी। पश्चिम बंगाल के भाजपा अध्यक्ष और सांसद दिलीप घोष और सयंतन बसु सिलीगुड़ी के फूलबाड़ी जंक्शन में एक मार्च का नेतृत्व कर रहे थे। वहीं अन्य मार्च का नेतृत्व भाजपा के बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय और पार्टी नेता मुकुल रॉय कर रहे थे।

प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने कार्यकर्ताओं को आगे बढ़ने से रोकने के लिए पानी की बौछारों का इस्तेमाल किया और आँसू गैस के गोले छोड़े। फुलबारी बाजार में एक रैली का नेतृत्व करने वाले बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि पश्चिम बंगाल में ‘बीजेपी के उभार’ से डरकर सरकार दमनकारी नीति अपना रही है।

मार्च के दौरान दोपहर करीब दो बजे सिलीगुड़ी के तीनबत्ती पर भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने मोर्चाबंदी करने की कोशिश की। इसके बाद पुलिस और भाजपा कार्यकर्ताओं में झड़प हो गई। स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए भारी पुलिस बल को बुलाया गया। इस झड़प में कई पत्रकार, भाजपा कार्यकर्ता और पुलिस के जवान घायल हो गए हैं। वहीं एक बीजेपी नेता की मौत भी हो गई है। पुलिस ने क्षेत्र में धारा 144 लागू करने की घोषणा कर दी।

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए सांसद और भाजपा युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या ने कहा, “पुलिस ने भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं पर आँसू गैस के गोले और वाटर कैनन का इस्तेमाल किया। उन्हें यूनिफॉर्म उतार कर टीएमसी गुंडों को ज्वाइन कर लेना चाहिए। भाजपा के कई कार्यकर्ता उनके शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन के दौरान घायल हो गए। पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र की हत्या हो रही है।” उन्होंने एक अन्य ट्वीट में बताया कि ममता पुलिस द्वारा फेंके गए बमों के कारण भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता उलन रॉय की मृत्यु हो गई।

वहीं बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा पश्चिम बंगाल सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे बीजेपी युवा मोर्चा कार्यकर्ताओं पर तीनबत्ती में पुलिस ने आँसू गैस और वॉटर कैनन का इस्तेमाल किया। यहाँ जिस प्रकार की अराजकता है, राष्ट्रपति शासन लगाना जरूरी है। यहाँ प्रजातंत्र नहीं, गुंडों का राज है।

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “उत्तरी बंगाल के विकास की माँग कर रहे भाजपा कार्यकर्ता उलेन रॉय की पुलिस लाठीचार्ज में मौत हो गई। ममता सरकार के इशारों पर पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं पर ऐसे जुल्म लगातार हो रहे हैं। अब ऐसी घटनाओं को रोका जाना जरूरी है।”

इस घटना पर बंगाल पुलिस की ओर से भी बयान जारी किया गया है। पुलिस ने अपने बयान में कहा, “आज सिलीगुड़ी में एक राजनीतिक दल के समर्थकों द्वारा विरोध-प्रदर्शन के दौरान हिंसा की गई। हिंसक भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने केवल वाटर कैनन और आँसू गैस का इस्तेमाल किया। पुलिस को एक व्यक्ति की मौत की सूचना मिली है। मौत का वास्तविक कारण पोस्टमॉर्टम के बाद ही पता चलेगा।”

ऑपइंडिया ने रैली और पुलिस की बर्बरता के बारे में पश्चिम बंगाल के बीजेपी मीडिया विभाग के सदस्य कालीचरण शॉ से बात की। उन्होंने कहा कि ममता सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया गया क्योंकि वह उत्तर बंगाल के विकास के अपने वादे को पूरा करने में विफल रही है। उन्होंने कहा कि 2014 में उन्होंने सुनिश्चित किया कि उत्तर पश्चिम बंगाल में विकास कार्य उनकी प्राथमिकता सूची में होगी, लेकिन ऐसा करने में वो असफल रही।

इससे पहले भाजपा नेता कबीर बोस को हाउस अरेस्ट करने और उनके घर को टीएमसी के 100 से ज्यादा कार्यकर्ताओं को घेरने की खबर आई थी। इसको लेकर टीएमसी सांसद कल्याण बनर्जी ने कहा है, “भाजपा का एक गुंडा CISF के संरक्षण में यहाँ रह रहा है। वह जगदीप धनखड़ के साथ नियमित संपर्क में है। CISF ने हमारे कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज किया।”

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में शनिवार को हिंसक वारदात की खबर सामने आई थी। राज्य के आसनसोल में बीजेपी की बाइक रैली पर हमला हुआ था। इसमें बीजेपी के 5 से 7 कार्यकर्ता घायल हुए थे। बीजेपी कार्यकर्ताओं पर फायरिंग की गई और पत्थरबाजी भी की गई। इस दौरान बम भी फेंके गए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राज कुंद्रा की कंपनी के 4 कर्मचारी उनके ही खिलाफ बने गवाह: पूछताछ में रो पड़ीं शिल्पा शेट्टी, ड्रोन से होनी थी पोर्न फिल्मों...

पोर्न फ़िल्में बना कर बेचने के मामले में फँसे राज कुंद्रा की ही कंपनी के 4 कर्मचारी उनके खिलाफ गवाह बनने के लिए आगे आए हैं। ड्रोन से पोर्न फ़िल्में शूट करने की थी प्लानिंग।

मणिपुर के सेब, आदिवसियों की बेर और ‘बनाना फाइबर’ से महिलाओं की कमाई: Mann Ki Baat में महिला शक्ति की कहानी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (25 जुलाई, 2021) को 'मन की बात' के 79वें एपिसोड के जरिए देश की जनता को सम्बोधित किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,111FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe