Wednesday, January 19, 2022
Homeराजनीति'लखनऊ अब दुश्मन देश के विरुद्ध दहाड़ेगा भी': 'ब्रह्मोस मिसाइल यूनिट' का शिलान्यास, ₹1...

‘लखनऊ अब दुश्मन देश के विरुद्ध दहाड़ेगा भी’: ‘ब्रह्मोस मिसाइल यूनिट’ का शिलान्यास, ₹1 में योगी सरकार ने दी 80 हेक्टेयर जमीन

लखनऊ में रक्षा प्रौद्योगिकी एवं परीक्षण केन्द्र तथा ब्रह्मोस विनिर्माण केन्द्र का शिलान्यास करने के लिए उन्होंने राजनाथ सिंह को धन्यवाद भी दिया। सीएम योगी ने ध्यान दिलाया कि 19 नवंबर को झाँसी में डायनामिक्स यूनिट का शिलान्यास किया था।

राष्ट्रीय सुरक्षा की दृष्टि में भारत अब और ताकतवर बन गया है। इसमें उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ का भी योगदान है। असल में केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार (26 दिसंबर, 2021) को लखनऊ में ‘ब्रह्मोस मिसाइल यूनिट’ का शिलान्यास किया। इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी सम्बोधन दिया। बता दें कि रूस के साथ समझौते के बाद ब्रह्मोस मिसाइल को भारतीय सेना में शामिल किया गया था। अब ‘मेक इन इंडिया’ के तहत ये यूपी की राजधानी में बनेगा।

ब्रह्मोस मिसाइल की इस यूनिट के लिए उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने लीज पर जमीन उपलब्ध कराई है। खास बात ये है कि मात्र 1 रुपए की लीज पर 80 हेक्टेयर से अधिक जमीन उपलब्ध कराई है। साथ ही अमौसी एयरपोर्ट के बगल में एक DRDO लैब भी खुलेगा। वहाँ पर रक्षा अनुसन्धान और विकास का कार्य होगा। DRDO इन प्रोजेक्ट्स में 10,000 करोड़ रुपए का निवेश कर रहा है। रोजगार भी बढ़ेगा। कई उद्योगों को भी बढ़ावा दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, “ब्रह्मोस का प्रोडक्शन अब लखनऊ में होगा। लखनऊ, अब केवल ‘मुस्कुराइए, आप लखनऊ में हैं’ के लिए नहीं जाना जाएगा। लखनऊ अब दुश्मन देश के विरुद्ध दहाड़ेगा भी। यहाँ पर बनने वाली मिसाइल भारत की सुरक्षा पंक्ति को सुदृढ़ करेगी। डिफेंस कॉरिडोर युवाओं के लिए रोजगार का बेहतरीन माध्यम भी बनेगा। लखनऊ में ‘ब्रह्मोस नेक्स्ट जनरेशन मिसाइल’ का प्रोडक्शन और DRDO की अत्याधुनिक लैब की स्थापना देश की रक्षा के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण सिद्ध होगी। अब यूपी रक्षा क्षेत्र के लिए बनने वाले उपकरणों के एक्सपोर्ट के एक नए हब के रूप में स्थापित हो रहा है।”

लखनऊ में रक्षा प्रौद्योगिकी एवं परीक्षण केन्द्र तथा ब्रह्मोस विनिर्माण केन्द्र का शिलान्यास करने के लिए उन्होंने राजनाथ सिंह को धन्यवाद भी दिया। सीएम योगी ने ध्यान दिलाया कि 19 नवंबर को झाँसी में डायनामिक्स यूनिट का शिलान्यास किया था। उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े 4 सालों में हमने मृतप्राय MSME क्षेत्र को बढ़ावा दिया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश का कानपुर पहले से ही रक्षा सामग्रियों के लिए जाना जाता है, अब लखनऊ भी इसके लिए ही जाना जाएगा।

इस दौरान राजनाथ सिंह ने भी कहा कि इस समय उत्तर प्रदेश में अपराधियों की नहीं, बुलडोजर की बल्ले-बल्ले है। उन्होंने कहा कि देश में इतनी ताकत होनी चाहिए कि कोई बुरी नजर न डाले। उन्होंने कहा कि कोई भारत की तरफ आँख उठा कर न देख सके, इसके लिए उस तरह की ताकत होनी ज़रूरी है। सीएम योगी ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। हमने दुनिया को मैत्री, शांति व करुणा का संदेश दिया है। साथ ही कहा कि लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि हम 135 करोड़ देश की जनता की सुरक्षा पर किसी भी प्रकार की आँच आने दें। उन्होंने कहा, “नया भारत छेड़ता नहीं, लेकिन अगर कोई छेड़े तो उसे छोड़ता भी नहीं है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भगवान विष्णु की पौराणिक कहानी से प्रेरित है अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म, रिलीज को तैयार ‘Ala Vaikunthapurramuloo’

मेकर्स ने अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म के टाइटल का मतलब बताया है, ताकि 'अला वैकुंठपुरमुलु' से अधिक से अधिक दर्शकों का जुड़ाव हो सके।

‘एक्सप्रेस प्रदेश’ बन रहा है यूपी, ग्रामीण इलाकों में भी 15000 Km सड़कें: CM योगी कुछ यूँ बदल रहे रोड इंफ्रास्ट्रक्चर

योगी सरकार ने ग्रामीण इलाकों में 5 वर्षों में 15,246 किलोमीटर सड़कों का निर्माण कराया। उत्तर प्रदेश में जल्द ही अब 6 एक्सप्रेसवे हो जाएँगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,216FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe