Wednesday, September 29, 2021
Homeराजनीतिराजस्थान में BSP नेताओं को गधे पर घुमाया: कॉन्ग्रेस पर भड़कीं मायावती, कहा- जैसे...

राजस्थान में BSP नेताओं को गधे पर घुमाया: कॉन्ग्रेस पर भड़कीं मायावती, कहा- जैसे को तैसा

बसपा कोऑर्डिनेटर रामजी गौतम और प्रदेश प्रभारी सीताराम को नाराज कार्यकर्ताओं ने जयपुर स्थित पार्टी कार्यालय पर मुँह काला कर गधे पर बैठाकर घुमाया। गुस्साए कार्यकर्ताओं ने उनके मुँह पर कालिख पोती और जूते-चप्पल की माला भी पहनाई।

राजस्थान में बसपा नेताओं के साथ बदसलूकी पर पार्टी की सुप्रीमो मायावती भड़क गई हैं। राजस्थान के जयपुर में मंगलवार (अक्टूबर 22, 2019) सुबह बहुजन समाज पार्टी (BSP) के नेशनल कोऑर्डिनेटर का मुँह काला करने और गधे पर बैठाकर घुमाने के मामले की बसपा सुप्रीमो मायावती ने कड़ी निंदा की है। मायावती ने ट्वीट कर कॉन्ग्रेस पार्टी को चेतावनी देते हुए कहा कि लोग ‘जैसे को तैसा’ जवाब दे सकते हैं।

मायावती ने कॉन्ग्रेस पर गलत परंपरा लागू करने का आरोप लगाते हुए ट्वीट किया कि कॉन्ग्रेस पार्टी ने पहले राजस्थान में बसपा विधायकों को तोड़ा और अब मूवमेन्ट को अघात पहुँचाने के लिए वहाँ के वरिष्ठ लोगों पर हमला करवा रही है, जो अति-निन्दनीय व शर्मनाक है। कॉन्ग्रेस अम्बेडकरवादी मूवमेन्ट के खिलाफ काफी गलत परम्परा डाल रही है, जिसका जैसे को तैसा जवाब लोग दे सकते हैं। इसलिए कॉन्ग्रेस पार्टी को अपनी ऐसी घिनौनी हरकतों से बाज़ आ जाना चाहिए।

बता दें कि मंगलवार सुबह जयपुर में बसपा कोऑर्डिनेटर रामजी गौतम और प्रदेश प्रभारी सीताराम को बसपा के ही नाराज कार्यकर्ताओं ने जयपुर स्थित पार्टी कार्यालय पर मुँह काला कर गधे पर बैठाकर घुमाया। उन पर टिकट बेचने और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ धोखाधड़ी करने का आरोप है। गुस्साए कार्यकर्ताओं ने उनके मुँह पर कालिख पोती और जूते-चप्पल की माला भी पहनाई।

बसपा कार्यकर्ताओं ने इस घटना के दौरान नेशनल कोऑर्डिनेटर के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। रामजी गौतम और सीताराम पर पार्टी से दगाबाजी करने व चुनाव में टिकट बेचने का आरोप है। इसी आरोप के चलते बसपा कार्यकर्ताओं ने उनके साथ ऐसा व्यवहार किया। गुस्साए कार्यकर्ताओं ने उनके मुँह पर कालिख पोत कर उन्हें गधे पर बिठाया और उनका जुलूस निकाला। यह कांड बसपा प्रदेश कार्यालय के सामने हुआ था। बसपा कार्यकर्ताओं ने रामजी गौतम के साथ मारपीट भी की थी।

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले राजस्थान में बसपा के 6 विधायकों ने कॉन्ग्रेस का हाथ थाम लिया था। जिसके बाद मायावती ने कॉन्ग्रेस पर हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप लगाया था। बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा था कि कॉन्ग्रेस ने एक बार फिर यह साबित कर दिया है कि वह एक गैर भरोसेमंद पार्टी है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘उमर खालिद को मिली मुस्लिम होने की सजा’: कन्हैया के कॉन्ग्रेस ज्वाइन करने पर छलका जेल में बंद ‘दंगाई’ के लिए कट्टरपंथियों का दर्द

उमर खालिद को पिछले साल 14 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था, वो भी उत्तर पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा के मामले में। उसपे ट्रंप दौरे के दौरान साजिश रचने का आरोप है

कॉन्ग्रेस आलाकमान ने नहीं स्वीकारा सिद्धू का इस्तीफा- सुल्ताना, परगट और ढींगरा के मंत्री पदों से दिए इस्तीफे से बैकफुट पर पार्टी: रिपोर्ट्स

सुल्ताना ने कहा, ''सिद्धू साहब सिद्धांतों के आदमी हैं। वह पंजाब और पंजाबियत के लिए लड़ रहे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू के साथ एकजुटता दिखाते हुए’ इस्तीफा दे रही हूँ।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
125,032FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe