Monday, August 2, 2021
Homeराजनीतिमहाराष्ट्र में MVA को बड़ा झटका, भाजपा ने छीनी NCP की सीट: कर्नाटक की...

महाराष्ट्र में MVA को बड़ा झटका, भाजपा ने छीनी NCP की सीट: कर्नाटक की बेलगाम LS सीट पर भी BJP का कब्ज़ा

महाराष्ट्र के सोलापुर में चंद्रभागा नदी के किनारे स्थित पंढरपुर विधानसभा क्षेत्र में MVA को भाजपा ने झटका दिया। यहाँ से भाजपा के समाधान अवताडे महादेव ने NCP के भगीरथ भालके को 3733 वोटों से हराया।

देश में 5 राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों के परिणाम आ गए है। पुडुचेरी और तमिलनाडु में सत्ता परिवर्तन हुआ तो केरल, पश्चिम बंगाल और असम में सत्ताधारी दलों पर ही जनता ने भरोसा जताया। भाजपा ने असम जीत कर उत्तर-पूर्व का गढ़ और मजबूत किया। साथ ही पुडुचेरी से सुदूर दक्षिण में एंट्री ली। CPI(M) केरल तो TMC पश्चिम बंगाल बचाने में कामयाब रही। तमिलनाडु में DMK के स्टालिन पहली बार मुख्यमंत्री बनेंगे।

लेकिन, इन 5 राज्यों के विधानसभा चुनावों के अलावा अन्य राज्यों में भी लोकसभा व विधानसभा की कुछ सीटों पर उपचुनाव हुए थे। आंध्र प्रदेश, केरल, तमिलनाडु और कर्नाटक में हुए लोकसभा उपचुनावों में उन्हीं पार्टियों को सफलता मिली, जिनका इन सीटों पर पहले से ही कब्ज़ा था। इसके अलावा विधानसभा उप-चुनावों में भी अधिकतर दलों ने अपनी सीटें बचा लीं। लेकिन, सबसे तगड़ा झटका महाराष्ट्र की ‘महा विकास अघाड़ी (MVA)’ सरकार को लगा।

महाराष्ट्र के सोलापुर में चंद्रभागा नदी के किनारे स्थित पंढरपुर विधानसभा क्षेत्र में MVA को भाजपा ने झटका दिया। यहाँ से भाजपा के समाधान अवताडे महादेव ने NCP के भगीरथ भालके को 3733 वोटों से हराया। भगीरथ भालके दिवंगत NCP विधायक भरत भालके के पुत्र हैं। अवताडे को जहाँ 109450 (48.15%) वोट मिले, भालके 105717 (46.51%) वोट पाकर दूसरे स्थान पर रहे। भरत भालके की मौत दिसंबर 2020 में कोरोना के कारण हुई थी।

गुजरात के मोरवा हदफ़ विधानसभा क्षेत्र में चुनाव हुए, जिसे भाजपा ने आसानी से जीत लिया। झारखंड के मधुपुर में सत्ताधारी JMM ने जीत दर्ज की। कर्नाटक के बसवकल्याण सीट पर भाजपा तो मस्की सीट कॉन्ग्रेस के खाते में गई। मध्य प्रदेश की सामोह सीट कॉन्ग्रेस के खाते में गई। मिजोरम की सेरछिप सीट ‘ज़ोराम पीपल्स मूवमेंट (ZPM)’ के खाते में गई, जो कॉन्ग्रेस की गठबंधन साथी है। राजस्थान की राजसमंद सीट पर भाजपा ने जीत दर्ज की।

तेलंगाना के नागार्जुन सागर विधानसभा सीट पर सत्ताधारी TRS का ही कब्ज़ा रहा। उत्तराखंड की साल्ट सीट पर भाजपा के महेश जीना ने जीत दर्ज की। लोकसभा उपचुनाव की बात करें तो आंध्र प्रदेश की तिरुपति सीट से YRSCP ने बड़े अंतर से जीत दर्ज की। कर्नाटक के बेलगाम भाजपा के खाते में आया। केरल की मल्ल्पुरम सीट ‘इंडियन मुस्लिम लीग (IUML)’ के खाते में गया। तमिलनाडु की कन्याकुमारी सीट पर कॉन्ग्रेस ने आसान जीत दर्ज की।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘दविंदर सिंह के विरुद्ध जाँच की जरूरत नहीं…मोदी सरकार क्या छिपा रही’: सोशल मीडिया में किए जा रहे दावों में कितनी सच्चाई

केंद्र सरकार के ख़िलाफ़ कई कॉन्ग्रेसियों, पत्रकारों, बुद्धिजीवियों ने सोशल मीडिया पर दावा किया। लेकिन इनमें से किसी ने एक बार भी नहीं सोचा कि अनुच्छेद 311 क्या है।

ममता से मिले राजदीप तो आया मौसम रसगुल्ला का, राजनीति में अब लड्डू का हाल भी राहुल गाँधी जैसा

राजदीप सरदेसाई ने रसगुल्ले को राजनीति और पत्रकारिता के मध्य में रख दिया है। राजनीति इसे खिलाकर कठिन सवालों को रोकेगी और पत्रकारिता इसे खाकर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,620FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe