Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजमोदी सरकार का विरोध करने स्कूटी से निकलीं CM ममता गिरने से बाल-बाल बचीं:...

मोदी सरकार का विरोध करने स्कूटी से निकलीं CM ममता गिरने से बाल-बाल बचीं: देखें वीडियो

स्कूटर पर सवार ममता बनर्जी ने गले में तख्ती टाँग रखी थी। जिस पर ईंधन के दाम में वृद्धि के खिलाफ नारे लिखे थे। गिरते गिरते बची सीएम ममता संभलने के बाद भी स्कूटी चलाना जारी रखा। हालाँकि, बाद में राज्य सरकार में मंत्री एवं कोलकाता के महापौर फरहाद हकीम स्कूटी चलाने लगे।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी गुरुवार (फरवरी 25, 2021) को इलेक्ट्रिक स्कूटी पर सवार होकर पेट्रोल-डीजल के बढ़ती कीमतों का विरोध करने निकलीं। इस दौरान राज्य सचिवालय नबान्न की ओर जाते वक्त एक जगह वह स्‍कूटी पर से अपना संतुलन खो बैठीं और गिरती-गिरती बचीं। सोशल मीडिया पर इसका वीडियो जमकर वायरल हो रहा है।

वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि ममता बनर्जी ठीक से स्कूटी नहीं चला पा रही हैं और एक जगह तो वह संतुलन ही खो बैठीं, जहाँ वह गिरने से बाल-बाल बचीं। जिस समय ममता बनर्जी की स्‍कूटी का बैलेंस बिगड़ा उस वक्‍त वहाँ सिक्योरिटी मौजूद थी और उन्‍होंने स्‍कूटी को फौरन संभाल लिया। वो गिरने से तो बच गईं लेकिन इस दौरान उनका मोबाइल फोन भी सड़क पर गिर गया।

स्कूटर पर सवार ममता बनर्जी ने गले में तख्ती टाँग रखी थी। जिस पर ईंधन के दाम में वृद्धि के खिलाफ नारे लिखे थे। गिरते गिरते बची सीएम ममता संभलने के बाद भी स्कूटी चलाना जारी रखा। हालाँकि, बाद में राज्य सरकार में मंत्री एवं कोलकाता के महापौर फरहाद हकीम स्कूटी चलाने लगे।

बता दें, ममता बनर्जी ने हेलमेट पहन रखा था और हाजरा मोड़ से राज्य सचिवालय के बीच 7 किलोमीटर का सफर स्कूटर पर तय करते हुए सड़क के दोनों ओर लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया।

वहीं ट्विटर पर वीडियो वायरल होते ही सोशल मीडिया यूज़र्स ने पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी के जमकर मजे लिए। किसी ने कहा इतना ड्रामा क्यों करना जब चलाना नहीं आता। तो किसी ने इसके पीछे भी मोदी योगी का हाथ बताया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अफगानिस्तान के सबसे सुरक्षित इलाके में तालिबानी हमला, रक्षा मंत्री निशाना: ब्लास्ट-गोलीबारी, सड़कों पर ‘अल्लाहु अकबर’

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के विभिन्न हिस्सों में गोलीबारी और बम ब्लास्ट की आवाज़ें आईं। शहर के उस 'ग्रीन जोन' में भी ये सब हुआ, जो कड़ी सुरक्षा वाला इलाका है।

एक मंदिर जिसे कहते हैं तांत्रिकों की यूनिवर्सिटी, इसके जैसा ही है लुटियंस का बनाया संसद भवन: मुरैना का चौसठ योगिनी मंदिर

माना जाता है कि मुरैना के चौसठ योगिनी मंदिर से ही प्रेरित होकर भारत की संसद भवन का डिजाइन लुटियंस ने तैयार किया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,864FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe