Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाज₹122 करोड़ से सँवरेगा गोरखपुर, CM योगी ने 177 परियोजनाओं की रखी नींव

₹122 करोड़ से सँवरेगा गोरखपुर, CM योगी ने 177 परियोजनाओं की रखी नींव

"एम्स जैसे अत्याधुनिक सुविधायुक्त चिकित्सा संस्थान के बाद अब इस साल चिड़ियाघर की सौगात मिलेगी। अगले साल की शुरुआत में खाद कारखाने की बहुप्रतीक्षित आस पूरी होगी। कला, संस्कृति, आध्यात्म के महत्वपूर्ण केंद्र गोरखपुर में विकास की हर आस पूरी होगी। विकास की रोशनी से गोरखपुर की हर गली को रोशन किया जाएगा।"

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली सरकार के तहत विकास गतिविधियों में तेजी देखी गई है। गोरखपुर को ‘स्मार्ट सिटी’ में बदलने की अपनी प्रतिबद्धता को पूरा करने के लिए CM योगी ने 122 करोड़ रुपए की 177 विकास परियोजनाओं का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने गुरुवार को लखनऊ स्थित सरकारी आवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनता को परियोजना के बारे में बताया।

शिलान्यास की गईं परियोजनाएँ जनपद के सदर, ग्रामीण और सहजनवा विधानसभा क्षेत्र में अच्छी सड़कों, व्यवस्थित नालियों के निर्माण से जुड़ीं हैं।

इस मौके पर लोगों को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा, “एम्स जैसे अत्याधुनिक सुविधायुक्त चिकित्सा संस्थान के बाद अब इस साल चिड़ियाघर की सौगात मिलेगी। अगले साल की शुरुआत में खाद कारखाने की बहुप्रतीक्षित आस पूरी होगी। कला, संस्कृति, आध्यात्म के महत्वपूर्ण केंद्र गोरखपुर में विकास की हर आस पूरी होगी। विकास की रोशनी से गोरखपुर की हर गली को रोशन किया जाएगा।”

गोरखपुर में आने वाले विकास और बदलते भविष्य पर बोलते सीएम ने लोगों से याद करने को कहा कि आज से 20-25 साल पहले गोरखपुर के बारे में लोगों की धारणा क्या थी। अराजकता और बदहाली यहाँ की पहचान बन गई थी, लेकिन आज जनसहयोग से जन आकांक्षाओं के अनुसार नए गोरखपुर का निर्माण हो रहा है।

योगी ने कहा कि खाद कारखाने का पुनर्संचालन यहाँ के लोगों का बहुप्रतीक्षित सपना था, जो अब जल्द ही एक वास्तविकता बन जाएगा। उन्होंने याद किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने इसका शिलान्यास कर इस बात पर जोर दिया था कि इस कदम से 4,000 नौकरियों का सृजन होगा और उत्तर प्रदेश में किसानों को पोषक तत्वों की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित होगी। सीएम ने कहा कि अगले वर्ष इसका शुभारंभ होगा। उन्होंने कहा कि बॉयोफ्यूल प्लांट, वाटर स्पोर्ट पार्क, आयुष विश्वविद्यालय, वेलनेस सेंटर, वेटनरी कॉलेज, पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज, महिला पीएसी की एक वाहिनी की स्थापना ‘नए गोरखपुर’ को समृद्ध करेगी।

गोरखपुर के अंदरूनी इलाकों में बदहाल सड़कें और दुर्व्यवस्थित नालियों से जूझते लोगों के लिए बोलते हुए सीएम ने घोषणा की कि इसे मिटाने के लिए ही इन सड़क और नाली निर्माण की परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया है। उन्होंने मण्डलायुक्त गोरखपुर को निर्देश दिया कि हर एक परियोजना के लिए नोडल अधिकारी की नियुक्ति की जाए और सभी कार्य मानक के अनुसार समय से पूरे होने चाहिए।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने पर्यटन उद्देश्य के लिए गोरखपुर जिले को विकसित करने में राज्य सरकार के प्रयासों पर बोलते हुए कहा कि सरकार रामगढ़ झील को विश्वस्तरीय पर्यटन केंद्र बनाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि गोरखपुर भौगोलिक रूप से बौद्ध सर्किट के केंद्र में है। कुशीनगर, कपिलवस्तु और लुम्बिनी जाने वाले बौद्ध पर्यटक गोरखपुर होकर ही जाते हैं। वह गोरखपुर में रुकें, इसके लिए सरकार द्वारा रामगढ़ ताल को विश्व स्तरीय आकर्षण के केंद्र के रूप में विकसित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास का कोई विकल्प नहीं है और उनकी सरकार प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में उत्तर प्रदेश को ‘एंटरप्राइज स्टेट’ में बदलने के लिए काम कर रही है। यही हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। विकास से न केवल रोजी-रोजगार की संभावनाएँ बढ़ती हैं, बल्कि सम्बंधित शहर व प्रदेश के बारे में लोगों का नजरिया भी बदलता है। योगी आदित्यनाथ ने कहा, “प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में हम उत्तर प्रदेश को ‘उद्यम प्रदेश’ बनाने की दिशा में कार्य कर रहे हैं।”

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि शहर में झूलते-लटकते बिजली के तार शहर की सुंदरता तो खराब करते ही हैं, आम नागरिकों को बड़ी असुविधा होती है। इन्हें भूमिगत करने की प्रक्रिया तेज की जाए। स्वच्छ भारत अभियान के तहत स्वच्छता और स्वच्छता के लिए विशेष अभियान के बारे में बोलते हुए, सीएम ने कहा कि, “10 अक्टूबर से 16 अक्टूबर तक स्वच्छता एवं सैनिटाइजेशन का एक विशेष अभियान चलाया जा रहा है। गोरखपुर के लोगों से मेरी खास अपील है कि इस अभियान को सफल बनाएँ। उन्होंने कहा कि अभियान के तहत कूड़े निस्तारण की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। एन्टी लार्वा तथा चूने इत्यादि का छिड़काव हो। इससे डेंगू व अन्य बीमारियों को नियंत्रित करने में सफलता मिलेगी।”

शिलान्यास कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने गोरखपुर में हो रहे विभिन्न विकास कार्यों से बदलती तस्वीर की झलक पेश करती एक लघु फ़िल्म भी देखी। इस मौके पर ग्रामीण विधायक विपिन सिंह ने गोरखपुर के लोगों की ओर से एम्स, खाद करखाने, रामगढ़ झील परियोजना और गोरखपुर में चिड़ियाघर के विकास का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। वहीं सहजनवां से विधायक शीतल पांडेय ने कहा कि राजनैतिक उपेक्षा के कारण विकास की दौड़ में मीलों पीछे छूट गया गोरखपुर अब बड़े महानगरों से होड़ ले रहा है। यह क्षेत्र आज राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय पटल पर गरिमा प्राप्त कर रहा है। कार्यक्रम में अपर मुख्य सचिव, सूचना नवनीत सहगल ने कहा कि मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में प्रदेश विकास के नए आयाम रच रहा है। विकास के यूपी मॉडल की महत्ता पूरा देश महसूस कर रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET पेपरलीक का मास्टरमाइंड निकाल बिहार का लूटन मुखिया, डॉक्टर बेटा भी जेल में: पत्नी लड़ चुकी है विधानसभा चुनाव, नौकरी छोड़ खुद बना...

नीट पेपर लीक के मास्टरमाइंड में से एक संजीव उर्फ लूटन मुखिया। वह BPSC शिक्षक बहाली पेपर लीक कांड में जेल जा चुका है। बेटा भी जेल में है।

व्यभिचारी वैष्णव आचार्य, पत्रकार ने खोली पोल, अंग्रेजों के कोर्ट में मुकदमा… आमिर खान के बेटे को लेकर YRF-Netflix की बनाई फिल्म बहस का...

माँ भवानी का अपमान करने वाले को जवाब देने कारण हकीकत राय नामक बच्चे का खुलेआम सिर कलम कर दिया गया था। इस पर फिल्म बनाएगा बॉलीवुड? या सिर्फ वही 'वास्तविक कहानियाँ' चुनी जाती हैं जिनमें गुंडा कोई साधु-संत हो?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -