Monday, July 15, 2024
Homeराजनीति'जो मर गए हैं उनकी भी हाजिरी लगाओ, अरब से मुस्लिमों को बुलाओ': कॉन्ग्रेस...

‘जो मर गए हैं उनकी भी हाजिरी लगाओ, अरब से मुस्लिमों को बुलाओ’: कॉन्ग्रेस नेता उस्मान हिरोली ने कहा – मोदी से जंग जीतने का यही तरीका

उस्मान हिरोली ने एनसीपी की चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मुस्लिम चाहे जहाँ कहीं भी हैं - सउदी हों, दुबई हों या कुवैत में हों, उन्हें बुलाकर वोटिंग करवाओ।

महाराष्ट्र में 2 विधानसभा सीटों पुणे के कसबा और पिंपरी चिंचवड़ के चिंचवड़ सीट के लिए उपचुनाव होने हैं, जिसे लेकर चुनाव प्रचार थम चुका है। चुनाव प्रचार के आखिरी दिन कॉन्ग्रेस नेता उस्मान हिरोली ने सभा को संबोधित करते हुए विवादास्पद बयान दे दिया। उस्मान ने कहा कि जो लोग मर गए हैं उनसे भी वोटिंग करवाओ, तभी मोदी और आरएसएस को हरा पाएँगे। उपचुनाव को उन्होंने जंग करार देते हुए बड़ी संख्या में मुस्लिमों को वोट देने की अपील की।

उस्मान हिरोली ने एनसीपी की चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मुस्लिम चाहे जहाँ कहीं भी हैं – सउदी हों, दुबई हों या कुवैत में हों, उन्हें बुलाकर वोटिंग करवाओ। जो लोग फौत (मृत्यु) हो गए हैं उनको भी 26 फरवरी को हाजिर कीजिए और वोट डलवाइए। कॉन्ग्रेस नेता ने उपचुनाव को जंग करार देते हुए कहा कि हमलोग यह जंग तभी जीत सकते हैं और आरएसएस-मोदी को हरा सकते हैं जब हम एक होकर वोट करेंगे। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि 99 फीसद भी नहीं बल्कि 100 फीसद वोटिंग करवानी है।

महाराष्ट्र बीजेपी की तरफ से कॉन्ग्रेस नेता के इस बयान को ध्रुवीकरण की कोशिश और पीएम मोदी का अपमान बताया है। उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इसे सांप्रदायिक बयान करार देते हुए कहा कि इससे ध्रुवीकरण को बढ़ावा मिलता है। महाराष्ट्र भाजपा के उपाध्यक्ष माधव भंडारी ने कसबा विधानसभा क्षेत्र में हिंदू मतदाताओं को एक होने की बात कही है। उन्होंने हिरोली का वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि कसबा के हिंदू मतदाता एक होकर अपनी ताकत दिखाएँ।

भंडारी ने आगे लिखा कि पीएम मोदी को हराने के लिए दुबई और सऊदी से वोटरों को लाओ। इतना ही नहीं जो वोटर जिंदा नहीं है उन्हें भी वोट डालने के लिए लाओ। चुनाव आयोग और प्रशासन को इन बयानों पर कार्रवाई करनी चाहिए। बता दें कि पुणे के कसबा पेठ और पिंपरी-चिंचवाड़ विधानसभा के लिए रविवार (26 फरवरी, 2023) को वोटिंग कराई जाएगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

मंगलौर के बहाने समझिए मुस्लिमों का वोटिंग पैटर्न: उत्तराखंड की जिस विधानसभा से आज तक नहीं जीता कोई हिन्दू, वहाँ के चुनाव परिणामों से...

मंगलौर में हाल के विधानसभा उपचुनावों में कॉन्ग्रेस ने भाजपा को हराया। इस चुनाव में मुस्लिम वोटिंग का पैटर्न भी एक बार फिर साफ़ हो गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -