Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीति'देश विरोधी नारा हो, या सर्जिकल से लेकर एयर स्ट्राइक, कॉन्ग्रेस गंभीर मौकों पर...

‘देश विरोधी नारा हो, या सर्जिकल से लेकर एयर स्ट्राइक, कॉन्ग्रेस गंभीर मौकों पर हमेशा सरकार के खिलाफ’

"चाहे जेएनयू में देश विरोधी नारे लगाने का मामला हो, या फिर सर्जिकल स्ट्राइक हो या एयर स्ट्राइक का। कॉन्ग्रेस गंभीर मौकों पर सरकार के खिलाफ खड़ी रही।"

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर से 370 को निरस्त किए जाने का विरोध करने पर कॉन्ग्रेस नेतृत्व और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी पर जमकर निशाना साधा। अमित शाह ने रविवार (सितंबर 1, 2019) को केंद्र शासित प्रदेश दादर एवं नागर हवेली में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, “कॉन्ग्रेस ने 370 को हटाने का विरोध किया। आज भी राहुल गाँधी जो बयान देते हैं उसकी पाकिस्तान में तारीफ होती है। उनके बयान को पाकिस्तान अपनी याचिका में शामिल करता है। कॉन्ग्रेसियों को शर्म आनी चाहिए कि उनके बयान का उपयोग भारत के खिलाफ हो रहा है।”

उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 के हटने से जम्मू कश्मीर में विकास के रास्ते खुले हैं, आतंकवाद के ताबूत में अंतिम कील ठोकी है, जम्मू कश्मीर को पूरी तरह से भारत के साथ मिलाने का काम हुआ है। सब लोग इस फैसले पर सरकार के साथ हैं लेकिन कुछ लोग इसका भी विरोध कर रहे हैं।

इसके साथ ही अमित शाह ने मोदी सरकार द्वारा कश्मीर पर लिए गए फैसले को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि अनुच्छेद 370 और 35ए देश के एकीकरण में बाधा था। उन्होंने कहा, “मोदी जी को आपने फिर से प्रधानमंत्री बनाया और उन्होंने संसद के पहले ही सत्र में अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया। मोदी जी के अलावा ये काम कोई और नहीं कर सकता था।”

अमित शाह ने कहा कि चाहे जेएनयू में देश विरोधी नारे लगाने का मामला हो, या फिर सर्जिकल स्ट्राइक हो या एयर स्ट्राइक का। कॉन्ग्रेस गंभीर मौकों पर सरकार के खिलाफ खड़ी रही। उन्होंने कहा कि वो कॉन्ग्रेस से पूछना चाहते हैं कि वो (कॉन्ग्रेस) किस तरह की राजनीति करना चाहते हैं। कॉन्ग्रेस पर बरसते हुए उन्होंने कहा कि 70 सालों में देश में कई पार्टियों की सरकार बनी, कुछ लोगों की तीन-तीन पीढ़ियों ने देश पर राज किया, लेकिन इनमें अनुच्छेद-370 हटाने की हिम्मत नहीं थी।

गृह मंत्री ने कहा कि अनुच्छेद-370 को लेकर देश की जनता चट्टान की तरह नरेंद्र मोदी जी के साथ खड़ी है और वो पूरी दुनिया को बताना चाहेंगे कि 370 हटने के बाद कश्मीर में पूरी तरह से शांति है। 370 हटने के बाद वहाँ एक भी गोली चलाने की जरूरत नहीं पड़ी, एक भी आँसू गैस नहीं छोड़ा गया है और न ही किसी की जान गई है। अमित शाह ने कहा कि कानून-व्यवस्था को लेकर जो सवाल उठाए जाते हैं, उसका इस्तेमाल दुश्मन करते हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -