Tuesday, October 19, 2021
HomeराजनीतिPM मोदी की तुलना आसाराम और गुरमीत राम रहीम से... जिसने किया, वो एक...

PM मोदी की तुलना आसाराम और गुरमीत राम रहीम से… जिसने किया, वो एक कॉन्ग्रेसी नेता है

कॉन्ग्रेस नेता गौरव पाँधी ने लिखा - "मुझे नहीं पता कि उनकी पीआर टीम क्या करने की कोशिश कर रही थी, लेकिन उन्होंने उन्हें आसाराम और राम रहीम का खौफनाक मिश्रण बना दिया है।"

हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मोर के साथ तस्वीर सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर विरोधी खेमे की ओर से विभिन्न किस्म की प्रतिक्रियाएँ सामने आईं। इस वीडियो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने आधिकारिक आवास पर मोर को खिलाते हुए देखा गया।

लेकिन यह वीडियो सिर्फ इसी वजह से अब चर्चा में नहीं है। वीडियो में पीएम मोदी का नया लुक भी विरोधियों के लिए समस्या का कारण बन गया है। यही वजह है कि कॉन्ग्रेस नेताओं ने अपनी कुत्सित मानसिकता का परिचय देते हुए पीएम मोदी के नए लुक की तुलना गुरमीत राम रहीम और आसाराम सी कर डाली। कॉन्ग्रेस नेता गौरव पाँधी ने कहा कि पीएम मोदी का नया रूप ‘आसाराम और राम रहीम का डरावना मिश्रण’ है।

ट्विटर पर कॉन्ग्रेस नेता गौरव पाँधी ने लिखा, “मुझे नहीं पता कि उनकी पीआर टीम क्या करने की कोशिश कर रही थी, लेकिन उन्होंने उन्हें आसाराम और राम रहीम का खौफनाक मिश्रण बना दिया है।”

पीएम मोदी द्वारा अपने इंस्टाग्राम पेज पर एक वीडियो पोस्ट किए जाने के कुछ दिनों बाद पाँधी की यह टिप्पणी आई है। पीएम मोदी ने जो वीडियो पोस्ट किया था, उसमें वह अपने सुबह के व्यायाम के दौरान अपने आवास पर मोर को दूध पिलाते हुए दिखाई दे रहे हैं। 1.47 मिनट के इस वीडियो में प्रधानमंत्री मोदी आवास से उनके कार्यालय तक चलने की कुछ झलकियाँ भी हैं।

कॉन्ग्रेस नेता गौरव पाँधी के इस घृणित ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स की मिश्रित प्रतिक्रिया मिली है। कुछ लोगों ने पाँधी का समर्थन किया, जबकि अन्य ने उनकी इसके लिए निंदा की है।

सृष्ठि राजीव शर्मा ने इस घटिया तुलना पर अपनी प्रतिक्रिया में लिखा है, “ये इस संगठन के राष्ट्रीय स्तर के पद धारक हैं। ये लोग अपनी पार्टी में 2 मिनट की लोकप्रियता के लिए 2 कौड़ी के वान्नाबी ट्रोल की तरह व्यवहार करते हैं।”

एक अन्य ट्विटर यूजर ने लिखा है, “यह वही है, जिस पर आकर अब कॉन्ग्रेस ठहर गई है – अपराधियों के साथ पीएम की तुलना करना। क्या यह गाँधी परिवार की आंतरिक मंडली की CWC बैठक और दरार को छिपाने के लिए है? किसी भी तरह से आप सत्ता में वापस नहीं आएँगे। यदि यह आपको खुश करता है, तो आगे बढ़ें।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,824FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe