Thursday, August 5, 2021
Homeराजनीतिलॉकडाउन में कोई भूखा न सोए: 1 करोड़ BJP कार्यकर्ता हर दिन 5 करोड़...

लॉकडाउन में कोई भूखा न सोए: 1 करोड़ BJP कार्यकर्ता हर दिन 5 करोड़ गरीबों को खिलाएँगे खाना

पूरे देश में 5 करोड़ गरीब लोगों को लॉकडाउन के दौरान भोजन कराया जाएगा। इसके लिए पार्टी के 1 करोड़ कार्यकर्ताओं को तैयार किया जाएगा। हरेक कार्यकर्ता पाँच लोगों के भोजन का प्रबंध करेगा।

कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रसार रोकने के लिए देश में 21 दिनों का लॉकडाउन है। इससे उन लोगों के सामने रोटी का संकट पैदा हो गया है जो रोज कमाते और खाते हैं। इन्हें राहत पहुॅंचाने के लिए केंद्र से राज्य सरकारें तमाम कदम उठा रही हैं। इसी कड़ी में बीजेपी ने भी एक कैंपेन की घोषणा की है। महाभोजन अभियान का मकसद है कि लॉकडाउन के दौरान कोई भूखा न सोए।

इस अभियान के दौरान पार्टी के 1 करोड़ कार्यकर्ता हर रोज देश के 5 करोड़ गरीबों के भोजन का प्रबंध करेंगे। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने इस संबंध में निर्देश दिए हैं। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने को भी कहा गया है। उल्लेखनीय है कि सोशल डिस्टेंसिंग कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई में सबसे बड़ा अस्त्र है।

बुधवार को बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक में निर्णय लेते हुए कहा कि गुरुवार से पूरे देश में 5 करोड़ गरीब लोगों को लॉकडाउन के दौरान भोजन कराया जाएगा। इसके लिए पार्टी के 1 करोड़ कार्यकर्ताओं को तैयार किया जाएगा। हरेक कार्यकर्ता पाँच लोगों के भोजन का प्रबंध करेगा। उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि 21 दिनों तक देश के पाँच करोड़ गरीबों को आसानी से भोजन मिल सके।

24 मार्च को रात आठ बजे राष्ट्र के नाम संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के वुहान शहर से निकले घातक कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए पूरे भारत में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन की घोषणा की थी। इस दौरान मोदी ने लोगों से अपील की थी कि वह 21 दिनों तक अपने घरों से बाहर न निकलें। भारत में कोरोना वायरस की चपेट में आने से अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि इससे संक्रमित लोगों की संख्या 606 से अधिक हो गई है। पूरे विश्व में अब तक 20 हजार से अधिक लोगों की मौत कोरोना वायरस की चपेट में आने से हो चुकी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,042FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe