Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीतिजिस बसपा सांसद दानिश अली पर बिगड़े थे रमेश बिधूड़ी, उन्होंने फिलिस्तीन के दूतावास...

जिस बसपा सांसद दानिश अली पर बिगड़े थे रमेश बिधूड़ी, उन्होंने फिलिस्तीन के दूतावास पहुँच किया समर्थन: पत्र पर मनोज झा के भी हस्ताक्षर, हमास के हमले में 1400 मौतें

फिलिस्तीन के राजदूत को सौंपे पत्र में जिन भारतीय नेताओं ने फिलिस्तीन का समर्थन किया। इस पत्र पर जिनके नाम हैं, वो हैं- कुँवर दानिश अली, मनोज झा, मोहम्मद अबीद...

हमास ने इजरायल पर आतंकी हमला किया, जिसके बाद पूरी दुनिया इजरायल के प्रति सहानुभूति और एकजुटता दिखा रही है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हमास के हमले की निंदा की और इजरायल के प्रति समर्थन जताया, तो भारत के ही कुछ विपक्षी दलों के नेता, सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री फिलिस्तीन का समर्थन कर रहे हैं। इसके लिए बसपा सांसद दानिश अली, कॉन्ग्रेसी नेता मणिशंकर अय्यर के नेतृत्व में कई सांसदों, नेताओं और पूर्व सांसदों ने दल ने फिलिस्तीनी राजदूत से मुलाकात की और फिलिस्तीन के प्रति अपना समर्थन जताया।

इन नेताओं ने इजरायली पलटवार का कड़ा विरोध किया है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय से युद्ध को रोकने के लिए दबाव डालने की अपील की है।

दानिश अली ने किया इजरायल का विरोध

दानिश अली ने अपने एक्स (पूर्व में ट्विटर) हैंडल पर इस मुलाकात से संबंधित तस्वीर पोस्ट की और लिखा, “आज विभिन्न दलों के सांसदों और राजनेताओं ने फिलिस्तीनी राजदूत से मुलाकात की और इजरायली बलों द्वारा गाजा में बेरहमी से मारे गए मासूम बच्चों सहित फिलिस्तीनी लोगों के लिए गहरी चिंता व्यक्त की। हम अंतरराष्ट्रीय समुदाय से हस्तक्षेप करने और इस पागलपन को रोकने की मांग करते हैं।” बता दें कि ये वही दानिश अली हैं, जिनपर संसद में भाजपा संसद रमेश बिधूड़ी बिगड़ गए थे।

हालाँकि, इस युद्ध के शुरू होने के बाद से दानिश अली लगातार इजरायल के खिलाफ बयान दे रहे हैं और फिलिस्तीन के प्रति समर्थन जता रहे हैं।

इस मुलाकात के बाद कुँवर दानिश अली ने पीटीआई से बातचीत में कहा, “हम भारत की आवाम की तरफ से फिलिस्तीन की आवाम के प्रति समर्थन के लिए गए थे। हम भारतीय विदेश मंत्रालय के बयान के साथ खड़े हैं, जिसमें भारत एक स्वतंत्र फिलिस्तीन का समर्थन करता है। हम इजरायली हिंसा के खिलाफ हैं। हम चाहते हैं कि दोनों तरफ से हो रही हिंसा बंद हो।”

इन नेताओं ने दिया फिलिस्तीन को समर्थन

फिलिस्तीन के राजदूत को सौंपे पत्र में जिन भारतीय नेताओं ने फिलिस्तीन का समर्थन किया। इस पत्र पर जिनके नाम हैं, वो हैं- कुँवर दानिश अली, मनोज झा, मोहम्मद अबीद, नदीम शाह, डी राजा, मोहम्मद अफजल, दीपांकर भट्टाचार्य, मणि शंकर अय्यर, जावेद अली खान, मुजफ्फर शाह (जम्मू -कश्मीर), सुहासिनी अली, केसी त्यागी, संतोष भारतीय, जेना श्रीकांत और शाहिद सिद्दीकी। इनमें से कुछ पूर्व केंद्रीय मंत्री हैं, तो कुछ पूर्व सांसद। ये सभी नेता फिलिस्तीन के राजदूत से मिले और फिलिस्तीन के प्रति अपनी एकजुटता दर्ज कराई।

हमास के हमलों में 1400 से अधिक की मौत

बता दें कि हमास के हमले में इज़राइल में मरने वालों की संख्या अब 1400 से अधिक हो गई है, करीब 4000 लोग घायल हुए हैं, जिनमें मुख्य रूप से आम नागरिक शामिल हैं। हमास द्वारा आतंकी हमले के जवाब में इज़राइल ने गाजा में हमास के खिलाफ एक बड़ा अभियान चलाया है। इसके साथ ही उत्तरी गाजा में बिजली, पानी और राशन की आपूर्ति को रोकते हुए सीज कर दिया है। इजरायल ने उत्तरी गाजा के लोगों को दक्षिणी गाजा जाने के लिए कहा, ताकि वो जमीनी स्तर पर अपने हमलों को शुरू कर सके।

हमास पर ताबड़तोड़ हमले जारी, मौतों की संख्या

इस बीच, रायटर्स ने गाजा के अधिकारियों के हवाले से बताया है कि इजरायली हमले में अब तक कम से कम 2750 लोग मारे जा चुके हैं, तो 10 हजार से अधिक लोग घायल हुए हैं। मरने वालों में महिलाएँ और बच्चे भी शामिल हैं, क्योंकि इजरायल अभी तक हवाई हमले ही कर रहा है। वहीं, इन हमलों के साथ ही 1000 लोग लापता भी हैं। इजरायल के जमीनी हमले की सूरत में ये आँकड़े तेजी से बढ़ सकते हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

लोकसभा में ‘परंपरा’ की बातें, खुद की सत्ता वाले राज्यों में दोनों हाथों में लड्डू: डिप्टी स्पीकर पद पर हल्ला कर रहा I.N.D.I. गठबंधन,...

कर्नाटक, तेलंगाना और हिमाचल प्रदेश में कॉन्ग्रेस ने अपने ही नेता को डिप्टी स्पीकर बना रखा है विधानसभा में। तमिलनाडु में DMK, झारखंड में JMM, केरल में लेफ्ट और पश्चिम बंगाल में TMC ने भी यही किया है। दिल्ली और पंजाब में AAP भी यही कर रही है। लोकसभा में यही I.N.D.I. गठबंधन वाले 'परंपरा' और 'परिपाटी' की बातें करते नहीं थक रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -