Saturday, April 20, 2024
Homeराजनीतिवाह! केजरीवाल सरकार अच्छा खाना खिलाते हो... अब जहाँगीरपुरी के Video से घिरी AAP...

वाह! केजरीवाल सरकार अच्छा खाना खिलाते हो… अब जहाँगीरपुरी के Video से घिरी AAP सरकार

"वाह केजरीवाल सरकार अच्छा खाना खिलाए हो खिलाओ। खिलाओ अगली सरकार में पब्लिक तुम्हें खिलाएगी, वह भी घास। ना गिर गई यह सरकार तो देखना।"

देश इस समय कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रहा है। इससे बचने का एकमात्र उपाय है- सोशल डिस्टेंसिंग। इसके लिए सरकार की तरफ से लगातार अपील की जा रही है। पश्चिमी दिल्ली से बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा ने एक वीडियो शेयर करते हुए केजरीवाल सरकार की व्यवस्था पर सवाल खड़े किए हैं।

ये वीडियो दिल्ली के जहाँगीरपुरी का है। वीडियो में देखा जा सकता है कि खाने के लिए काफी संख्या में लोग एक जगह पर इकट्ठे हैं। सोशल डिस्टेंसिंग का कोई पालन नहीं हो रहा है। प्रवेश वर्मा ने सीएम केजरीवाल को टैग करते हुए वीडियो ट्विटर पर शेयर किया। उन्होंने लिखा, “दिल्ली को इस तरह खाना खिला रहे हैं आप (AAP)। ये वीडियो आया है जहाँगीर पुरी से। सामाजिक दूरी ताक पर, कितना निराशाजनक है इस तरह से लोगों को खाने के लिए झुंड में देखना। लोग मजबूर हैं और दिल्ली सरकार का प्रशासन क्या कर रहा है ये विज्ञापन से बाहर की सच्चाई।”

इसके अलावा दिल्ली बीजेपी ने पाने ट्विटर हैंडल से ये वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा है, “मुख्यमंत्री जी, कोरोना महामारी के समय जहाँ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना बेहद महत्वपूर्ण है, जहाँगीरपुरी में लोगों का एक साथ एकत्रित होना बहुत चिंताजनक है। कृप्या, प्रचार-प्रसार से समय निकालकर इस ओर भी अपना ध्यान केंद्रित करें।”

जहाँगीरपुरी Video पर यूजर्स की प्रतिक्रिया

इस वीडियो के सामने आने के बाद ट्विटर यूजर्स ने भी इस पर आक्रोश जाहिर करते हुए कड़ी आपत्ति जताई। एक यूजर ने लिखा, “केजरीवाल जी ये क्या है? पहले शाहीन बाग, फिर आनंद विहार, फिर निजामुद्दीन कांड अब ये नया ड्रामा ? दिल्ली को सेफ रहने दो लॉकडाउन-2 चल रहा है।”

वहीं प्रवेश वर्मा के वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए एक यूजर ने लिखा, “सही कह रहे हो वर्मा जी आप ने तो हद ही कर रखी है। आप का मतलब (AAP) है कुछ और मत समझ लीजिएगा।”

प्रियांशु सिंह नाम के एक यूजर ने लिखा, “वाह केजरीवाल सरकार अच्छा खाना खिलाए हो खिलाओ। खिलाओ अगली सरकार में पब्लिक तुम्हें खिलाएगी, वह भी घास। ना गिर गई यह सरकार तो देखना।”

प्रियांशु ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “अगर यहाँ मोदी सरकार होती। बीजेपी सरकार होती तो आज दिल्ली का नजारा ही कुछ अलग होता। दिल्ली की पब्लिक आज भूख से ना मर रही होती, ना ही जमाती इतना नुकसान करते देश का। अगली बार मोदी सरकार। अगली बार बीजेपी सरकार। दिल्ली में होगा बीजेपी राज। हर-हर मोदी, घर-घर मोदी मोदी है तो देश है। मोदी सरकार होगी तभी दिल्ली सुरक्षित होगी।”

आशीष खन्ना नाम के एक यूजर ने इसे केजरीवाल की सोची-समझी साजिश करार दिया।

एक ने लिखा, “भैया ये चाहते ही नही हैं कोरोना मुक्त हो भारत। रोज टीवी पर आकर ज्ञान देने से कोरोना मुक्त नहीं होगा भारत। अगर इनके हाथ में रहा तो 14000 से कब 150000 हो जाएँगे पता नही चलेगा। आप बीजेपी आलाकमान से बात कर दिल्ली को केंद्र सरकार के हवाले कर करवाई करे तब जा कर कोरोना मुक्त होगा भारत।”

एक अन्य यूजर का कहना है, “दिल्ली प्रशासन फेल हो चुका है। इनके विधायक और अवैतनिक वालंटियर सारा राशन गटक रहे हैं जरूरतमंद लाइन में ही खड़ा रह जाता है। ऐसी नीचता भरा काम इनके विधायक ही कर सकते है। जब राशन डीलरों से विधायक मंथली लेंगे फिर भला वह राशन क्यों नहीं ब्लैक करेंगे? सच्चाई यही है।” वहीं अनुराग सिंह चंदेल का कहना है कि केजरीवेल ने दिल्ली का सत्यानाश कर दिया है।

गौरतलब है कि इससे पहले प्रवेश वर्मा ने एक विडियो शेयर किया था, जिसने केजरीवाल के दावों की पोल खोल कर रख दी थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि गरीबों को खिचड़ी के नाम पर उल्टी जैसा दिखने वाला पीला पानी परोसा जा रहा है। वर्मा ने कहा था कि ये भोजन कीड़ों से भी भरा हुआ है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘PM मोदी की गारंटी पर देश को भरोसा, संविधान में बदलाव का कोई इरादा नहीं’: गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- ‘सेक्युलर’ शब्द हटाने...

अमित शाह ने कहा कि पीएम मोदी ने जीएसटी लागू की, 370 खत्म की, राममंदिर का उद्घाटन हुआ, ट्रिपल तलाक खत्म हुआ, वन रैंक वन पेंशन लागू की।

लोकसभा चुनाव 2024: पहले चरण में 60+ प्रतिशत मतदान, हिंसा के बीच सबसे अधिक 77.57% बंगाल में वोटिंग, 1625 प्रत्याशियों की किस्मत EVM में...

पहले चरण के मतदान में राज्यों के हिसाब से 102 सीटों पर शाम 7 बजे तक कुल 60.03% मतदान हुआ। इसमें उत्तर प्रदेश में 57.61 प्रतिशत, उत्तराखंड में 53.64 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe