Thursday, April 25, 2024
Homeदेश-समाजशरजील के साथ वीडियो में AAP विधायक, सिसोदिया दे रहे गिरफ्तारी की चुनौती

शरजील के साथ वीडियो में AAP विधायक, सिसोदिया दे रहे गिरफ्तारी की चुनौती

सिसोदिया ने कहा कि शरजील को गिरफ़्तार करने के लिए वे 24 घंटे की मोहलत दे रहे हैं। अगर ऐसा नहीं हो सका तो इसका मतलब वो भाजपा का आदमी है। भाजपा को देश की सुरक्षा की कोई परवाह नहीं है।

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार (25 जनवरी) को भाजपा सरकार को 24 घंटे के भीतर शरजील इमाम को गिरफ़्तार करने की चुनौती दी। उन्होंने कहा कि यदि शरजील को नहीं किया गया तो इसका मतलब है कि उसे इस तरह का भड़काऊ भाषण देने के लिए भाजपा ने ही भेजा था।

बता दें कि सोशल मीडिया पर जैसे ही यह शरजील का वीडियो आया, यूजर्स ने उसे पहचान कर आप पार्टी को नसीहत देनी शुरू कर दी। एक यूज़र ने लिखा कि AAP का नेता अमानतुल्लाह खान पहले दिन से ही शरजील इमाम के साथ दिखाई दे रहा था।

पत्रकारों से बातचीत करते हुए सिसोदिया ने कहा कि एक व्यक्ति जो असम को भारत से अलग करने की बात कर रहा है और ऐसे समय में बीजेपी उस पर एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस कर रही है, यह बड़ी अश्चर्यजनक बात है। उन्होंने कहा कि शरजील को गिरफ़्तार करने के लिए वो भाजपा को 24 घंटे की मोहलत दे रहे हैं और अगर ऐसा नहीं हो सका तो इसका मतलब वो भाजपा का आदमी है और भाजपा को देश की सुरक्षा की कोई परवाह नहीं है।

इससे पहले, भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने अपने ट्विटर हैंडल से लिखा था, “दोस्तों शाहीन बाग़ की असलियत देखें: 1) असम को इंडिया से काट कर अलग करना हमारी ज़िम्मेदारी 2) “Chicken Neck” मुस्लिमों का है 3) इतना मवाद डालो पटरी पे की इंडिया की फ़ौज Assam जा ना सके 4) सारे ग़ैर मुस्लिमों को मुस्लिमों के शर्त पर ही आना होगा If this is not ANTI NATIONAL then what is?”

इस ट्वीट के बाद संबित पात्रा ने कॉन्फ्रेन्स कर शाहीन बाग में CAA के ख़िलाफ़ विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों को लेकर कई सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार की बातें शाहीन बाग में हो रही हैं वास्तव में उसे ‘दिशाहीन बाग’ या ‘तौहीन बाग’ कहना चाहिए। 

दरअसल, भारत-विरोधी एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहा था। इसमें दिखाया गया कि JNUSU के पूर्व सदस्य और शाहीन बाग समन्वय समिति के प्रमुख शरजील इमाम ने उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में समुदाय विशेष को निर्देश दिया कि वो रेलवे, सड़कों को अवरुद्ध करके असम से भारत को काट दे। शरजील ने एनआरसी से बहिष्कार के चलते राज्य के शिविरों में असम के मुस्लिमों को हिरासत में लेने का दावा करते हुए, मुस्लिमों को ‘अपने क्रोध का उपयोग करने के लिए’ उकसाया। इस वीडियो में उसे यह कहते पाया गया कि केंद्र को अपनी बात सुनाने का एकमात्र यही तरीका है। शरजील ने मुस्लिमों को चक्काजाम करने की भी सलाह दी।

वायरल हुए इस वीडियो में शरजील कहता है, “अगर हमारे पास 5 लाख संगठित लोग हैं तो हम नार्थ ईस्ट और हिंदुस्तान को परमानेंटली काट कर सकते हैं। परमानेंटली नहीं तो कम से कम एक-आध महीने के लिए असम को हिंदुस्तान से काट ही सकते हैं। मतलब इतना मवाद डालो पटरियों पर, रोड पर कि उनको हटाने में एक महीना लगे। जाना हो तो जाएँ एयरफोर्स से।”

इसके आगे इमाम ने कहा, “असम को काटना हमारी जिम्मेदारी है। असम और इंडिया कटकर अलग हो जाए, तभी ये हमारी बात सुनेंगे। असम में मुस्लिमों का क्या हाल है, आपको पता है क्या? CAA-NRC लागू हो चुका है वहाँ। डिटेंशन कैंप में लोग डाले जा रहे हैं और वहाँ तो खैर कत्लेआम चल रहा है। 6-8 महीनों में पता चलेगा कि सारे बंगालियों को मार दिया गया वहाँ, हिंदू हो या मुस्लिम। अगर हमें असम की मदद करनी है तो हमें असम का रास्ता बंद करना होगा फौज के लिए और जो भी जितना भी सप्लाई जा रहा है बंद करो उसे। बंद कर सकते हैं हम उसे, क्योंकि चिकन नेक जो इलाका है, वह मुस्लिम बहुल इलाका है।”

सबसे बड़ा फासिस्ट था गाँधी, संविधान और कोर्ट मुस्लिमों का दुश्मन: शाहीन बाग़ का सपोला शरजील

‘हम असम को हिंदुस्तान से परमानेंटली काट देंगे’ – शाहीन बाग के ‘मास्टरमाइंड’ की खुलेआम धमकी, वीडियो Viral

जिसने दी असम को हिंदुस्तान से काटने की धमकी, उस ‘इमाम’ के खिलाफ दर्ज होगा देशद्रोह का मुकदमा


Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक में सारे मुस्लिमों को आरक्षण मिलने से संतुष्ट नहीं पिछड़ा आयोग, कॉन्ग्रेस की सरकार को भेजा जाएगा समन: लोग भी उठा रहे सवाल

कर्नाटक राज्य में सारे मुस्लिमों को आरक्षण देने का मामला शांत नहीं है। NCBC अध्यक्ष ने कहा है कि वो इस पर जल्द ही मुख्य सचिव को समन भेजेंगे।

मार्क्सवादी सोच पर नहीं करेंगे काम: संपत्ति के बँटवारे पर बोला सुप्रीम कोर्ट, कहा- निजी प्रॉपर्टी नहीं ले सकते

संपत्ति के बँटवारे केस सुनवाई करते हुए सीजेआई ने कहा है कि वो मार्क्सवादी विचार का पालन नहीं करेंगे, जो कहता है कि सब संपत्ति राज्य की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe