Tuesday, October 27, 2020
Home राजनीति जब जश्न मनाने की AAP की तैयारियाँ धरी रह गई... इसलिए Exit Polls को...

जब जश्न मनाने की AAP की तैयारियाँ धरी रह गई… इसलिए Exit Polls को झुठला सकती है BJP

1993 से 2015 तक के चुनाव बताते हैं कि वोटिंग का ग्राफ गिरने पर सत्ताधारी दल को नुकसान होता है। 1993 के 61.75 फीसदी से गिरकर 1998 में 48.99 फीसदी वोटिंग हुई और भाजपा सत्ता से बाहर हो गई थी। इस बार मतदान 2015 के 67.13 फीसदी से करीब दस फीसदी कम हुआ है ।

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की एक बेहद लोकप्रिय कविता की कुछ पंक्तियॉं यूॅं हैं,

टूटे हुए सपनों की सुने कौन सिसकी
अंतर को चीर व्यथा पलकों पर ठिठकी
हार नहीं मानूँगा, रार नई ठानूँगा
काल के कपाल पर लिखता मिटाता हूँ
गीत नया गाता हूँ

ऐसे वक्त में जब दिल्ली की जनता ने अपना फैसला ईवीएम में बंद कर दिया है, एग्जिट पोल्स आप की सत्ता में वापसी की भविष्यवाणी कर रहे हैं, शायद ही कोई आम आदमी पार्टी के टूटे हुए सपनों की सिसकी सुनना पसंद करे। लेकिन, राजनीति में अतीत को बिसरा भविष्य का अनुमान नहीं लगाया जा सकता है। सो, अतीत की मिसालें इस बात का संकेत करती हैं कि 11 फरवरी को जब नतीजे आएँगे तो असल तस्वीर दूसरी अनुमानों के बिल्कुल उलट भी हो सकती है। फिलहाल आसानी से बहुमत पाती दिख रही आप जादुई आँकड़े से पहले भी ठिठक सकती है। इसके कारणों की पड़ताल करने से पहले 2017 की एक घटना पर गौर करते हैं।

2017 में पंजाब में विधानसभा के चुनाव हुए थे। जैसे इस बार मतदान से दो महीने पहले तक दिल्ली विधानसभा चुनाव को एकतरफा बताया जा रहा था, उसी तरह राजनीतिक पंडित पंजाब में आप की सरकार बनने की भविष्यवाणी कर रहे थे। बीजेपी-शिअद गठबंधन की सरकार पंजाब में 10 साल से चल रही थी। एंटी इंकबेंसी फैक्टर काम कर रहा था। कॉन्ग्रेस गुटबाजी से उसी तरह त्रस्त बताई जा रही थी, जैसे आज दिल्ली में उसकी हालत है। 11 मार्च को पंजाब विधानसभा चुनाव के नतीजे आने थे। आप जीत को लेकर इस कदर आश्वस्त थी कि रूझानों के आने से पहले ही दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर के बाहर बैनर और गुब्बारों से सजावट कर दी गई थी। मंच तैयार था। बैंड बाजे सब रेडी। पार्टी नेता मीडिया से बातचीत में लगातार पंजाब में सरकार बनाने का दावा कर रहे थे। उस समय आप में रहे कुमार विश्वास ने दावा किया था कि 117 सदस्यीय पंजाब विधानसभा में 75 से ज्यादा सीटें जीत पार्टी दिल्ली की तरह सरकार बनाएगी।

लेकिन, रूझानों के साथ ही आप का जश्न काफूर हो गया। नेता, कार्यकर्ता सब गायब। केजरीवाल के घर के बाहर सन्नाटा पसरा गया। जब अंतिम नतीजे आए तो 77 सीटों के साथ कॉन्ग्रेस पंजाब की सत्ता में लौटी थी। आप 20 सीटों पर सिमट गई थी।

पंजाब जीतने को लेकर आप का आत्मविश्वास और राजनैतिक पंडितों के दावे कितने ऊँचे थे इसकी एक और मिसाल देखिए। आप नेता संजय सिंह जो फिलहाल राज्यसभा के सांसद हैं का एक वीडियो वायरल हुआ था। इसमें पार्टी नेता पंजाब में जीत की खुशी मनाते दिख रहे थे। साथ ही पार्टी के कुछ नेताओं का मजाक भी उड़ाया जा रहा था। वीडियो में संजय सिंह यह भी कहते दिख रहे थे कि पार्टी 100 से ज्यादा सीट जीत रही है और सरकार बनाने के लिए तैयार है।

अब 70 सदस्यीय दिल्ली विधानसभा के लिए हुए चुनावों पर लौटते हैं। बीते साल के आखिर तक हर कोई दिल्ली के विधानसभा चुनावों में आप के प्रचंड जीत का दावा करता नजर आ रहा था। इसमें कथित गोदी मीडिया भी शामिल है। लेकिन, शनिवार (8 फरवरी 2020) को आए एग्जिट पोल्स में भले बीजेपी बहुमत से दूर दिख रखी है, पर सभी पोल में उसकी सीटें 2015 की 3 सीटों से काफी ज्यादा बताई गई है। मसलन, टाइम्स नाउ के एग्जिट पोल में बीजेपी को 26, न्यूजएक्स-पोलस्टार्ट में 14, इंडिया न्यूज नेशन में 14, रिपब्लिक-जन की बात में 9-21, एबीपी न्यूज-सी वोटर में 12, टीवी9-सिसरो में 15 सीटें मिलने का अनुमान लगाया है। जाहिर है कि यह चुनाव उतना तो एकतरफा नहीं है जितना दावा किया जा रहा था।

इन अनुमानों को बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और दिल्ली से पार्टी सांसद प्रवेश वर्मा ने सिरे से खारिज किया है। तिवारी ने पार्टी को 48 तो वर्मा ने 50 सीटें मिलने का दावा किया है। तिवारी ने ट्वीट कर कहा है, “ये सभी एग्जिट पोल फेल होंगे। बीजेपी 48 सीटों के साथ सरकार बनाएगी। मेरा यह ट्वीट सॅंभालकर रखिएगा।”

एग्जिट पोल्स के ट्रैक रिकॉर्ड और अमित शाह के माइक्रोमैनेजमेंट की रणनीति बताती है कि तिवारी और वर्मा के दावों को आसानी से खारिज नहीं किया जा सकता। जैसा का वरिष्ठ पत्रकार राहुल रोशन कहते हैं कि एग्जिट पोल्स के माध्यम से मतदातों के मूड का सटीक आँकलन कठिन होता है। 2015 के चुनाव में किसी ने भी आप के 70 में से 67 सीटें लाने का अनुमान नहीं लगाया था।

इसके अलावा दिल्ली विधानसभा चुनावों के दौरान हुई वोटिंग के आँकड़े भी एक अलग तस्वीर पेश करते हैं। 1993 से 2015 तक के चुनाव बताते हैं कि वोटिंग का ग्राफ गिरने पर सत्ताधारी दल को नुकसान होता है, लेकिन जब वोटिंग परसेंट बढ़ता है तो उसकी सत्ता में वापसी होती है। मसलन, 1993 के 61.75 फीसदी से गिरकर 1998 में 48.99 फीसदी वोटिंग हुई और भाजपा सत्ता से बाहर हो गई थी। इसके बाद 2013 को अपवाद मान लें तो हर मौके पर वोटिंग में इजाफा दर्ज किया गया और सत्ता में रहने वाले दल की वापसी हुई। इस बार मतदान 2015 के 67.13 फीसदी से करीब दस फीसदी कम हुआ।

आप इसे संयोग कहकर खारिज कर सकते हैं। लेकिन, क्या इसे भी महज संयोग माना जाए कि 2017 में भी आप आज की तरह ही आत्मविश्वास में थी, राजनैतिक पंडित उसके हक में आज की तरह ही दावे कर रहे थे लेकिन आखिरी नतीजा कुछ और निकला। क्या इसे भी संयोग माना जाए कि उस साल भी वोटों की गिनती 11 तारीख को हुई थी और इस बार भी 11 को ही होनी है। अंतर बस केवल इतना ही है कि वह मार्च का महीना था और यह फरवरी की 11 तारीख होगी। दिल्ली के एग्जिट पोल्स में खारिज कर दी गई कॉन्ग्रेस नतीजों में भी उन करीब दर्जनभर सीटों पर मजबूती से लड़ती दिखी तो यह अंतर खत्म हो सकता है, क्योंकि इसी तरह पंजाब चुनाव के वक्त शिअद-बीजेपी के सूपड़ा साफ होने की बात कही गई थी। लेकिन दोनों ने मिलकर 18 सीटें जीत ली थी।

ऐसे में आखिरी तस्वीर तो 11 फरवरी को मतगणना के बाद ही साफ होगी। तब ही पता चलेगा कि आप अपने ही अतीत को झुठला पाती है या नहीं।

दिल्ली चुनाव 2020: बीजेपी ने 20-20 मैच की तरह बदली हवा पर कितनी सीटों पर खिलेगा कमल?

दिल्ली में शिक्षा क्रांति के दावे ऊँचे, हकीकत फीकी: 500 स्कूल नहीं खुले, कमरे गिनवा रही केजरीवाल सरकार

98 से आगे निकली दिल्ली की जनता, Exit Poll में AAP आगे, कॉन्ग्रेस के फिर से 0 पर सिमटने के आसार

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बाबा का ढाबा स्कैम: वीडियो वायरल करने वाले यूट्यूबर पर डोनेशन के रूपए गबन करने के आरोप

ऑनलाइन स्कैमिंग पर बनाई गई वीडियो में लक्ष्य चौधरी ने समझाया कि कैसे लोग इसी तरह की इमोशनल वीडियो बना कर पैसे ऐंठते हैं।

अपहरण के प्रयास में तौफीक ने निकिता तोमर को गोलियों से भूना, 1 माह पहले ही की थी उत्पीड़न की शिकायत

तौफीक ने छात्रा पर कई बार दोस्ती और धर्मांतरण के लिए दबाव भी बनाया था। इससे इनकार करने पर तौफीक ने 2018 में एक बार निकिता का अपहरण भी कर लिया था।

केरल: 2 दलित नाबालिग बेटियों की यौन शोषण के बाद हत्या, आरोपित CPI(M) कार्यकर्ता बरी, माँ सत्याग्रह पर: पुलिस की भूमिका संदिग्ध

महिला का आरोप है कि इस केस को कमजोर करने वाले अधिकारियों का प्रमोशन हुआ। पुलिस ने सौतेले पिता को जिम्मेदारी लेने को भी कहा।

दाढ़ी कटाना इस्लाम विरोधी.. नौकरी छोड़ देते, शरीयत में ये गुनाह है: SI इंतसार अली को देवबंदी उलेमा ने दिया ज्ञान

दारुल उलूम देवबंद के उलेमा का कहना है कि दरोगा को दाढ़ी नहीं कटवानी चाहिए थी चाहे तो वह नौकरी छोड़ देते। शरीयत के हिसाब से उन्होंने बहुत बड़ा जुर्म किया है।

मुस्लिमों को BJP का डर भी दिखाया, ‘जात’ देख कर आरोपित को भी बचाया: लालू यादव का MY समीकरण

उन्हें जम कर भाजपा का डर दिखाया। इससे वो मुस्लिमों के मसीहा भी बने रहे और यादवों का वोट भी उन्हें मिलता रहा। इस तरह उन्होंने MY समीकरण बना कर राज किया।

15000 स्क्वायर किलोमीटर जंगल भी बढ़े और आदिवासी तरक्की के रास्ते में विकास के पार्टनर भी: प्रकाश जावड़ेकर

"बदलाव हम हर साल एफलिएशन में करते हैं। वो 1100 शिक्षक के सुझाव पर आधारित हैं। वो इतने सार्थक हैं कि 900 पेज का बदलाव हुआ, लेकिन..."

प्रचलित ख़बरें

IAS अधिकारी ने जबरन हवन करवाकर पंडितों को पढ़ाया ‘समानता का पाठ’, लोगों ने पूछा- मस्जिद में मौलवियों को भी ज्ञान देंगी?

क्या पंडितों को 'समानता का पाठ' पढ़ाने वाले IAS अधिकारी मौलवियों को ये पाठ पढ़ाएँगे? चर्चों में जाकर पादिरयों द्वारा यौन शोषण की आई कई खबरों का जिक्र करते हुए ज्ञान देंगे?

मदद की अपील अक्टूबर में, नाम लिख लिया था सितम्बर में: लोगों ने पूछा- सोनू सूद अंतर्यामी हैं क्या?

"मदद की गुहार लगाए जाने से 1 महीने पहले ही सोनू सूद ने मरीज के नाम की एक्सेल शीट तैयार कर ली थी, क्या वो अंतर्यामी हैं?" - जानिए क्या है माजरा।

जब रावण ने पत्थर पर लिटा कर अपनी बहू का ही बलात्कार किया… वो श्राप जो हमेशा उसके साथ रहा

जानिए वाल्मीकि रामायण की उस कहानी के बारे में, जो 'रावण ने सीता को छुआ तक नहीं' वाले नैरेटिव को ध्वस्त करती है। रावण विद्वान था, संगीत का ज्ञानी था और शिवभक्त था। लेकिन, उसने स्त्रियों को कभी सम्मान नहीं दिया और उन्हें उपभोग की वस्तु समझा।

अपहरण के प्रयास में तौफीक ने निकिता तोमर को गोलियों से भूना, 1 माह पहले ही की थी उत्पीड़न की शिकायत

तौफीक ने छात्रा पर कई बार दोस्ती और धर्मांतरण के लिए दबाव भी बनाया था। इससे इनकार करने पर तौफीक ने 2018 में एक बार निकिता का अपहरण भी कर लिया था।

नवरात्र में ‘हिंदू देवी’ की गोद में शराब और हाथ में गाँजा, फोटोग्राफर डिया जॉन ने कहा – ‘महिला आजादी दिखाना था मकसद’

“महिलाओं को देवी माना जाता है लेकिन उनके साथ किस तरह का व्यवहार किया जाता है? उनके व्यक्तित्व को निर्वस्त्र किया जाता है।"

एक ही रात में 3 अलग-अलग जगह लड़कियों के साथ छेड़छाड़ करने वाला लालू का 2 बेटा: अब मिलेगी बिहार की गद्दी?

आज से लगभग 13 साल पहले ऐसा समय भी आया था, जब राजद सुप्रीमो लालू यादव के दोनों बेटों तेज प्रताप और तेजस्वी यादव पर छेड़खानी के आरोप लगे थे।
- विज्ञापन -

मुंगेर में दुर्गा पूजा विसर्जन: पुलिस-पब्लिक भिडंत में युवक की मौत, SP लिपि सिंह ने कहा- ‘बदमाशों’ ने चलाई गोलियाँ

मुंगेर एसपी और JDU सांसद RCP सिंह की बेटी लिपि सिंह ने दावा किया है कि प्रतिमा विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने पुलिस पर पथराव किया और गोलीबारी की

गाँव में 1 मुस्लिम के लिए भी बड़ा कब्रिस्तान, हिन्दू हैं मेड़ किनारे अंतिम संस्कार करने को विवश: साक्षी महाराज

साक्षी महाराज ने याद दिलाया कि शमसान और कब्रिस्तान के इस मुद्दे को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी उठाया था।

पेशावर: मदरसे में कुरान पढ़ाते वक़्त बम धमाका- 7 की मौत 72 घायल, अधिकतर बच्चे

जहाँ बम धमाका हुआ, स्पीन जमात मस्जिद है, जो मदरसे के रूप में भी काम करता है। मस्जिद में जहाँ नमाज पढ़ी जाती थी, उस जगह को खासा नुकसान पहुँचा है।

बाबा का ढाबा स्कैम: वीडियो वायरल करने वाले यूट्यूबर पर डोनेशन के रूपए गबन करने के आरोप

ऑनलाइन स्कैमिंग पर बनाई गई वीडियो में लक्ष्य चौधरी ने समझाया कि कैसे लोग इसी तरह की इमोशनल वीडियो बना कर पैसे ऐंठते हैं।

अपहरण के प्रयास में तौफीक ने निकिता तोमर को गोलियों से भूना, 1 माह पहले ही की थी उत्पीड़न की शिकायत

तौफीक ने छात्रा पर कई बार दोस्ती और धर्मांतरण के लिए दबाव भी बनाया था। इससे इनकार करने पर तौफीक ने 2018 में एक बार निकिता का अपहरण भी कर लिया था।

केरल: 2 दलित नाबालिग बेटियों की यौन शोषण के बाद हत्या, आरोपित CPI(M) कार्यकर्ता बरी, माँ सत्याग्रह पर: पुलिस की भूमिका संदिग्ध

महिला का आरोप है कि इस केस को कमजोर करने वाले अधिकारियों का प्रमोशन हुआ। पुलिस ने सौतेले पिता को जिम्मेदारी लेने को भी कहा।

दाढ़ी कटाना इस्लाम विरोधी.. नौकरी छोड़ देते, शरीयत में ये गुनाह है: SI इंतसार अली को देवबंदी उलेमा ने दिया ज्ञान

दारुल उलूम देवबंद के उलेमा का कहना है कि दरोगा को दाढ़ी नहीं कटवानी चाहिए थी चाहे तो वह नौकरी छोड़ देते। शरीयत के हिसाब से उन्होंने बहुत बड़ा जुर्म किया है।

मुस्लिमों को BJP का डर भी दिखाया, ‘जात’ देख कर आरोपित को भी बचाया: लालू यादव का MY समीकरण

उन्हें जम कर भाजपा का डर दिखाया। इससे वो मुस्लिमों के मसीहा भी बने रहे और यादवों का वोट भी उन्हें मिलता रहा। इस तरह उन्होंने MY समीकरण बना कर राज किया।

15000 स्क्वायर किलोमीटर जंगल भी बढ़े और आदिवासी तरक्की के रास्ते में विकास के पार्टनर भी: प्रकाश जावड़ेकर

"बदलाव हम हर साल एफलिएशन में करते हैं। वो 1100 शिक्षक के सुझाव पर आधारित हैं। वो इतने सार्थक हैं कि 900 पेज का बदलाव हुआ, लेकिन..."

पैगंबर मुहम्मद के कार्टूनों का सार्वजानिक प्रदर्शन, फ्रांस के एम्बेसेडर को पाकिस्तान ने भेजा समन

पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने इस मुद्दे पर कहा कि फ्रांस के राष्ट्रपति का बयान बेहद गैर ज़िम्मेदाराना था और ऐसे बयान से सिर्फ आग को हवा मिलेगी।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
79,314FollowersFollow
338,000SubscribersSubscribe