Friday, September 17, 2021
Homeराजनीतिएग्जिट पोल में बढ़त के बाद भी AAP और कॉन्ग्रेस का EVM राग चालू:...

एग्जिट पोल में बढ़त के बाद भी AAP और कॉन्ग्रेस का EVM राग चालू: संजय सिंह, गोपाल राय ने जताई चिंता

इस बार भी AAP के साथ ही कॉन्ग्रेस ने भी ईवीएम का राग अलापना शुरू कर दिया है। कॉन्ग्रेस नेता उदित राज ने वोटिंग प्रक्रिया चालू रहने के दौरान ही ट्वीट करते हुए कहा था, “भाजपा को बस ईवीएम ही बचा सकती है।”

दिल्ली विधानसभा चुनाव में वोटिंग हो चुकी है। एग्जिट पोल भी आ चुके हैं, जिसमें आम आदमी पार्टी के सत्ता में आने का अनुमान जताया जा रहा है। इसके बावजूद आम आदमी पार्टी का ईवीएम को लेकर रोना शुरू हो गया है। AAP को शक है कि बीजेपी ईवीएम में गड़बड़ी करके चुनाव परिणाम में बदलाव कर सकती है। वोटिंग के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर हुई पार्टी नेताओं की बैठक में तय हुआ है कि AAP के कार्यकर्ता मतगणना तक हर बूथ के ईवीएम पर नजरें बनाए रखेंगे। इस बैठक में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, संजय सिंह, गोपाल राय और प्रशांत किशोर समेत कई बड़े नेता उपस्थित थे।

इस बैठक के बाद संजय सिंह ने आरोप लगाया कि बाबरपुर में वोटिंग संपन्न होने के काफी समय बाद तक ईवीएम को जमा नहीं कराया गया, वह अधिकारियों के पास ही थे। इसी तरह की घटना विश्वास नगर में भी देखने को मिली।

इससे पहले संजय सिंह ने अपने ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो ट्वीट करते हुए आरोप लगाया था कि स्ट्रांग रूम नहीं होने के बावजूद एक जगह बस से ईवीएम उतारे जाते हुए देखे गए। उन्होंने लिखा, “चुनाव आयोग इस घटना का संज्ञान ले ये किस जगह EVM उतारी जा रही है। आस पास तो कोई सेंटर है नहीं।”

AAP नेता गोपाल राय ने भी आरोप लगाया है कि बाबरपुर के सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल में एक कर्मचारी EVM के साथ पकड़ा गया है। उन्होंने वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, “हमारी विधानसभा बाबरपुर में वोटिंग खत्म होने पर सभी EVM मशीन स्ट्रांग रूम भेज दी गई उसके बाद सरस्वती विद्या निकेतन पोलिंग स्टेशन पर एक अधिकारी EVM के साथ पकड़ा गया है। मैं इलेक्शन कमिशन से अपील करता हूँ कि इस पर तुरंत करवाई किया जाए।” संजय सिंह और गोपाल राय ने बताया कि AAP के कार्यकर्ता अब 11 फरवरी तक स्ट्रांग रूम के बाहर बैठ कर निगरानी भी करेंगे।

वहीं स्वराज इंडिया पार्टी के नेता और सुप्रीम कोर्ट में वकील प्रशांत भूषण ने भी ईवीएम को लेकर सवाल खड़े किए। उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका सल्तनत समाप्त होने वाला है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वो 11 तारीख यानी मतगणना के दिन का इंतजार करें। उसके बाद उनके टुकड़े पर पलने वाले मीडिया को बड़ा झटका लगेगा।

AAP के विधायक सौरभ भारद्वाज ने ट्वीट करते हुए कहा, “इस एग्जिट पोल के दो मायने हैं। एक, यह दिल्ली चुनाव 2020 का एग्जिट पोल है और दूसरा यह मनोज तिवारी का भी एग्जिट पोल है। उन्हें जल्द ही दिल्ली बीजेपी चीफ के पद से एग्जिट किया जाएगा और वह इस बात को अच्छी तरह से जानते हैं।”

गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी और कॉन्ग्रेस ईवीएम मशीनों की छेड़खानी को लेकर पहले भी कई बार सवाल उठाती रही है। इस बार भी AAP के साथ ही कॉन्ग्रेस ने भी ईवीएम का राग अलापना शुरू कर दिया है। कॉन्ग्रेस नेता उदित राज ने वोटिंग प्रक्रिया चालू रहने के दौरान ही ट्वीट करते हुए कहा था, “भाजपा को बस ईवीएम ही बचा सकती है।” 

वहीं दिल्ली कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने कहा, “ये सभी एग्जिट पोल फेल होने जा रहे हैं। बीजेपी को 20 सीटें भी नहीं मिलेंगी और केजरीवाल दिल्ली में सरकार नहीं बना पाएँगे। मुझे उम्मीद है कि एग्जिट पोल में जो दिखाया जा रहा हैं, कॉन्ग्रेस उससे बहुत बेहतर करने जा रही है। रिजल्ट आने तक प्रतीक्षा करें।”

Exit Polls के बाद शाह-नड्डा ने की पार्टी नेताओं के साथ बैठक, AAP का ईवीएम राग शुरू

32.25% वोटरों की राय को किया गया नज़र-अंदाज़: दिल्ली Exit Polls में बड़ी गड़बड़ी?

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘फर्जी प्रेम विवाह, 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का यौन शोषण व उत्पीड़न’: केरल के चर्च ने कहा – ‘योजना बना कर हो रहा...

केरल के थमारसेरी सूबा के कैटेसिस विभाग ने आरोप लगाया है कि 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का फर्जी प्रेम विवाह के नाम पर यौन शोषण किया गया।

डॉ जुमाना ने किया 9 बच्चियों का खतना, सभी 7 साल की: चीखती-रोती बच्चियों का हाथ पकड़ लेते थे डॉ फखरुद्दीन व बीवी फरीदा

अमेरिका में मुस्लिम डॉक्टर ने 9 नाबालिग बच्चियों का खतना किया। सभी की उम्र 7 साल थी। 30 से अधिक देशों में है गैरकानूनी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,922FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe