Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीति'मंडी में भाव…' पूछने वाली सुप्रिया श्रीनेत पर चुनाव आयोग एक्शन में, कहा -...

‘मंडी में भाव…’ पूछने वाली सुप्रिया श्रीनेत पर चुनाव आयोग एक्शन में, कहा – 29 मार्च तक जवाब दो: दिलीप घोष को BJP के बाद ECI ने भी थमाया नोटिस

मंडी को हिमाचल की छोटी काशी भी कहा जाता है। कंगना रनौत के चुनावी मैदान में उतरने के बाद सुप्रिया श्रीनेत के इंस्टाग्राम हैंडल पर उनकी तस्वीर के साथ आपत्तिजनक कैप्शन लिख कर पोस्ट डाला गया था।

चुनाव आयोग ने कॉन्ग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत और पश्चिम बंगाल में भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। दोनों पर महिलाओं की प्रतिष्ठा और सम्मान के विरुद्ध अपमानजनक, आपत्तिजनक और निंदनीय बयान देने के आरोप हैं। ECI ने कहा है कि दोनों नेता शुक्रवार (29 मार्च, 2024) को शाम 5 बजे से पहले अपना जवाब दाखिल करें। सुप्रिया श्रीनेत जहाँ टीवी चैनलों पर कॉन्ग्रेस का पक्ष रखते हुए दिखती हैं, वहीं दिलीप घोष फ़िलहाल पश्चिमी मेदिनीपुर से भाजपा सांसद हैं।

अबकी पार्टी ने उन्हें वर्धमान-दुर्गापुर लोकसभा क्षेत्र से लड़ने की जिम्मेदारी सौंपी है। बता दें कि सुप्रिया श्रीनेत ने अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ अपमानजनक व अश्लील टिप्पणी की थी। कंगना रनौत को भाजपा ने हिमाचल प्रदेश के मंडी से लोकसभा चुनाव 2024 में उतारा है। मंडी को हिमाचल की छोटी काशी भी कहा जाता है। कंगना रनौत के चुनावी मैदान में उतरने के बाद सुप्रिया श्रीनेत के इंस्टाग्राम हैंडल पर उनकी तस्वीर के साथ आपत्तिजनक कैप्शन लिख कर पोस्ट डाला गया था। उन्होंने लिखा था, “क्या भाव चल रहा है मंडी में, कोई बताएगा?”

वहीं दिलीप घोष की बात करें तो ने तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) सुप्रीमो व पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पारिवारिक पृष्ठभूमि को लेकर टिप्पणी की थी। ममता बनर्जी ने खुद को ‘राज्य की बेटी’ बताया था, जिस पर टिप्पणी करते हुए दिलीप घोष ने कहा था कि उन्हें ये निर्णय लेना चाहिए कि उनके पिता कौन हैं। 59 वर्षीय सांसद ने तंज कसा था कि कैसे गोवा में चुनाव प्रचार के दौरान भी ममता बनर्जी ने खुद को ‘गोवा की बेटी’ बताया था। त्रिपुरा में उन्होंने ऐसी ही बात की थी।

दिलीप घोष को भाजपा पहले ही उनके बयान को लेकर नोटिस जारी कर चुकी है, वहीं सुप्रिया श्रीनेत ने अपने कारनामे को लेकर अजीबोगरीब सफाई पेश की थी। उन्होंने दावा किया था कि उनका Meta हैंडल कई लोगों के पास है और उनमें से ही किसी ने कंगना रनौत को लेकर पोस्ट डाल दिया था। कंगना ने भी तगड़ा जवाब देते हुए कहा था कि उन्होंने रानी से लेकर वेश्या तक, जासूस से लेकर भूतनी तक और एक युवती से लेकर करिश्माई महिला नेता के किरदार पर्दे पर निभाए हैं और उन्हें इस पर गर्व है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -