Monday, April 22, 2024
Homeराजनीति25000 पेड़ों की कटाई से पंजाब के मंत्री ने कमाए ₹1.25 करोड़, ट्रांसफर-पोस्टिंग में...

25000 पेड़ों की कटाई से पंजाब के मंत्री ने कमाए ₹1.25 करोड़, ट्रांसफर-पोस्टिंग में घोटाला अलग से: कॉन्ग्रेस नेता गिरफ्तार, पार्टी समर्थन में

पिछले हफ्ते वन विभाग के DFO और हम्मी नाम के एक ठेकेदार को विजलेंस टीम ने गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार DFO मोहाली में पोस्टेड थे जिनका नाम गुरमनप्रीत सिंह है।

पंजाब में कॉन्ग्रेस नेता और पूर्व वन मंत्री साधु सिंह धर्मसोत को भ्रष्टाचार के एक मामले में गिरफ्तार किया गया है। उन पर अपने कार्यकाल में पेड़ों की कटाई के दौरान करोड़ों के घोटाले और ट्रांसफर-पोस्टिंग के नाम पर पैसे उगाही करने का आरोप है। उनकी गिरफ्तारी राज्य सतर्कता ब्यूरो ने की है। साधु सिंह को सोमवार (6 जून, 2022) की रात गिरफ्तार किया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पिछले हफ्ते वन विभाग के DFO और हम्मी नाम के एक ठेकेदार को विजलेंस टीम ने गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार DFO मोहाली में पोस्टेड थे जिनका नाम गुरमनप्रीत सिंह है। उनकी गिरफ्तारी के बाद से पूर्व मंत्री पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही थी। इनसे हुई पूछताछ में साधु सिंह की संलिप्तता की जानकारी सामने आई थी। पंजाब विजलेंस ब्यूरो के चीफ डायरेक्टर वीरेंद्र कुमार ने बताया, “धर्मसोत एक पेड़ काटे जाने के बदले 500 रुपए की रिश्वत लेते थे।

इस दौरान कुल 25 हजार पेड़ काटे गए थे। इस हिसाब से उन्हें लगभग 1 करोड़ 25 लाख रुपए दिए गए। साथ ही उन्होंने अधिकारियों से ट्रांसफर-पोस्टिंग के नाम पर भी पैसे लिए।”

कॉन्ग्रेस ने किया गिरफ्तारी का विरोध

पूर्व मंत्री साधु सिंह की कॉन्ग्रेस ने राजनीति से प्रेरित बताया है। कॉन्ग्रेस के मुताबिक यह गिरफ्तारी संगरूर उपचुनाव की वजह से की गई है। वहीं मंत्री साधु सिंह की बेटी ने कहा, “सब कुछ झूठ है। हमें कुछ नहीं पता। मुझे मिलने भी नहीं दिया गया। हमसे बताया जा रहा है कि जाँच चल रही है। भगवंत मान हमें दबाने की कोशिश कर रहे हैं।”

बताया जा रहा है कि साधु सिंह की गिरफ्तारी की हरी झंडी कल रात में ही मुख्यमंत्री भगवंत मान ने दे दी थी। इस केस में FIR भी दर्ज की गई है। यह FIR विजलेंस ब्यूरो ने दर्ज करवाई है। इसमें पूर्व मंत्री साधु सिंह के साथ पूर्व मंत्री संगत सिंह गिलजियां का भी नाम है। इन दोनों के अलावा 9 अन्य लोगों को भी आरोपित किया गया है जिनके नाम अमित चौहान आईएफएस, गुरअमनप्रीत सिंह वन मंडल अफसरए दिलप्रीत सिंह वन गार्ड, चमकौर सिह, कमलजीत सिंह निवासी खन्ना, कुलविंदर सिंह शेरगिल और सचिन कुमार हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘RR-KKR के पॉइंट्स लेकर निचली टीमों को दे दो’: वेंकटेश प्रसाद ने समझाया क्या है राहुल गाँधी की स्कीम, तो अब RCB पहुँचेगी सीधे...

वेंकटेश प्रसाद ने कहा कि ये उसी तरह हुआ, जैसे कोई कहे कि हम RR और KKR से 4 पॉइंट्स लेकर तालिका में सबसे नीचे की तीनों टीमों में बाँट दें।

बंगाल के शिक्षक भर्ती घोटाले में 23753 टीचरों को अब 12% ब्याज के साथ लौटाना होगा अब तक मिला वेतन: ममता बनर्जी सरकार को...

हाईकोर्ट ने कहा कि 23,753 नौकरियों को रद्द किया जाए। इतना ही नहीं, इन सभी को 4 सप्ताह के भीतर पूरा वेतन लौटाना होगा, वो भी 12% ब्याज के साथ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe