Friday, March 5, 2021
Home देश-समाज 4 बीघा में खड़ी फसल कटना जरुरी है, ताकि मायावती भर सके हेलीकॉप्टर...

4 बीघा में खड़ी फसल कटना जरुरी है, ताकि मायावती भर सके हेलीकॉप्टर से उतरकर हुँकार

रोजगार के गलत आँकड़े जुटाने में व्यस्त मीडिया प्रमुखों से मेरा व्यक्तिगत निवेदन है कि अपने मतलब के प्रोपेगैंडा बेचने से कुछ समय निकालकर किसानों की एड़ियों और बिवाइयों की तस्वीर बेचने के बाद बड़े मीडिया गिरोहों को इस खबर को भी प्रमुखता से छापना चाहिए।

आम चुनाव सर पर हैं, चारों दिशाओं में नेताओं की हुँकार भरने की खबर आ रही हैं। सबके जीतने के पूरे आसार नजर आ रहे हैं क्योंकि जिस स्तर पर रैलियाँ और भीड़ जुटाने के प्रयास देखने को मिल रहे हैं उनको देखते हुए ‘हार’ शब्द को चुनावी डायरी से विलुप्त कर लिया जाना चाहिए।

कुछ ऐसी घटनाएँ भी हैं जो किसानों की तस्वीर खींचने वालों को कष्ट दे सकती हैं। 4 बीघा जमीन पर अधपकी फसल को मायावती की रैली के लिए समय से पहले काटा जा रहा है। रोजगार के गलत आँकड़े जुटाने में व्यस्त मीडिया प्रमुखों से मेरा व्यक्तिगत निवेदन है कि अपने मतलब के प्रोपेगैंडा बेचने से कुछ समय निकालकर किसानों की एड़ियों और बिवाइयों की तस्वीर बेचने के बाद बड़े मीडिया गिरोहों को इस खबर को भी प्रमुखता से छापना चाहिए।

6 अप्रैल को रुड़की में प्रस्तावित BSP प्रमुख मायावती की जनसभा के लिए 4 बीघा में खड़ी गेहूँ की फ़सल काटी जा रही है। फसल को इसलिए कटवाया जा रहा है ताकि मायावती का विमान आसमान से वहाँ पर उतरे और उनका चुनावी भाषण जोर-शोर से वोटर्स को सुनाया जा सके। चिंता की बात यह भी है कि अभी फ़सल पकने का समय नहीं है, ऐसे में यह फ़सल मवेशियों के चारे के अलावा किसी काम में नहीं आ सकेगा। किसानों का कर्ज माफ़ करने के लिए महागठबंधन की सरकार लेकर जो लोग सत्ता में आने का स्वप्न देख रहे हैं, वो जब चुनावी रैलियों के लिए किसानों और उनकी फसलों की बलि देते हुए नजर आते हैं तो लोकतंत्र बहुत पीछे छूट जाता है।

उत्तर प्रदेश के महागठबंधन की तर्ज पर उत्तराखंड में BSP और SP ने चुनाव लड़ने के लिए समझौता किया है। उत्तराखंड राज्य की 5 सीटों में से 4 BSP के खाते में गई हैं और 1 सीट (पौड़ी) SP के खाते में गई है। हालाँकि, मजेदार बात ये है कि पौड़ी से समाजवादी पार्टी प्रत्याशी ने नामांकन ही नहीं किया है। हरिद्वार सीट से BSP के अंतरिक्ष सैनी मैदान में हैं। उत्तराखंड आंदोलन के इतिहास में 1994 के मुजफ्फरनगर में हुए वीभत्स कांड के लिए जिम्मेदार समाजवादी पार्टी का इस राज्य में वोट ढूँढना सत्ता में आने की लालसा की पराकाष्ठा ही मानी जा सकती है।

हरिद्वार, ख़ासकर रुड़की के इलाके में BSP का अच्छा-खासा वोट बैंक है और वहाँ से पार्टी के विधायक भी रहे हैं। BSP प्रत्याशी के समर्थन में मायावती की 6 अप्रैल को रुड़की में जनसभा है। रुड़की क्षेत्र में किसी बड़ी रैली के लिए मैदान उपलब्ध नहीं है, इसलिए BSP रैली के लिए जगह तैयार कर रही है। रुड़की में 4 बीघा में खड़ी गेहूँ की फ़सल को काटकर रैली के लिए मैदान बनाया जा रहा है। मैदान में एक हेलीपैड भी बनाया जाएगा, जिसमें मायावती का हेलिकॉप्टर उतरेगा।

स्थानीय लोग बता रहे हैं कि अभी फ़सल पकी नहीं है, लेकिन इसे काटने के अलावा उन्हें कोई दूसरा उपाय नजर नहीं आ रहा है, इसलिए अब यह सिर्फ़ पशुओं के चारे के काम आ सकती है। आस-पास के लोग यह कटा हुआ गेहूँ अपने मवेशियों के लिए ले जा रहे हैं।

पिछले कुछ वर्षों में  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैलियों के बारे में झूठ और फर्जी खबरों का कारोबार खूब बढ़ा है। आम चुनाव से पहले हालत ये हो चुके हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह जोर से साँस भी खींच लें, तो विपक्ष और तमाम मीडिया गिरोह इसे मोदी द्वारा चुनाव जीतने की रणनीति ठहराया जाने लगा है। हैरान करने वाली बात ये है कि चुनाव के लिए पार्टी प्रमुख से लेकर तमाम नेताओं के साथ खुदको निष्पक्ष कहने वाले मीडिया गिरोहों ने भी कमर कस डाली है। चुनाव जीतने और जितवाने के लिए नेताओं से ज्यादा होशियारी उनके मीडिया गिरोह दिखाते नजर आ रहे हैं। होशियारी दिखाते हुए मीडिया तंत्र वोटर्स के सामने ऐसी काल्पनिक घटनाएँ तोड़-मरोड़कर ले आते हैं, जो एक खुली ‘व्हाट्सएप्प यूनिवर्सिटी’ रोल निभा सकती है।

मीडिया गिरोह फ़ौरन अपनी पोज़िशन लेकर कुछ मनगढ़ंत स्वप्न जनता के बीच लाकर रखता है, जो बिना सोचे-समझे आगे संचार माध्यमों को सौंप दी जाती हैं। इसी तरह से प्रोपेगैंडा और अफवाहों के बीच मीडिया गिरोहों द्वारा नरेंद्र मोदी की रैलियों के लिए पेड़ कटवाए जाने की ख़बरें पढ़ने को मिली थी, जिन्हें OpIndia द्वारा फैक्ट चेक किए जाने पर पता चला था कि वो ख़बरें मात्र अफवाहें थी। इनमें झूठी अफवाह फैलाई जा रही थी कि नरेंद्र मोदी की रैली के लिए हैलीपैड बनवाया जाना था और इसके लिए बड़े स्तर पर पेड़ कटवाए गए।

लेकिन पर्यावरणविद पत्रकारों और किसानों के प्रति चिंतित रहने वाले लोगों को जानना आवश्यक है कि BSP प्रमुख मायावती की चुनावी तैयारियाँ गेहूँ की फ़सल पर भारी पड़ रही हैं। महागठबंधन फिलहाल और किसी पर नहीं लेकिन किसान और फसलों पर खूब भारी पड़ रहा है। अपने फेसबुक पोस्ट्स के विभिन्न भाषाओं में अनुवाद करते हुए किसानों की इस चिंता पर ध्यान दे पाना संभव नहीं होता होगा। ना ही TV पर रोज TV ना देखने की अपील करने वालों के लिए किसानों पर अभी प्राइम टाइम करने से TRP को कोई विशेष लाभ होगा, इसलिए मवेशियों को अध-पकी फसल खिलाने के महत्त्व को लेकर तो कम से कम कुछ प्राइम टाइम जरूर करवाए जाने चाहिए। बाकी जो है सो तो….

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

आशीष नौटियाल
पहाड़ी By Birth, PUN-डित By choice

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘शिवलिंग पर कंडोम’ से विवादों में आई सायानी घोष TMC कैंडिडेट, ममता बनर्जी ने आसनसोल से उतारा

बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए टीएमसी ने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। इसमें हिंदूफोबिक ट्वीट के कारण विवादों में रही सायानी घोष का भी नाम है।

‘हिंदू भगाओ, रोहिंग्या-बांग्लादेशी बसाओ पैटर्न का हिस्सा है मालवणी’: 5 साल पहले थे 108 हिंदू परिवार, आज बचे हैं 7

मुंबई बीजेपी के अध्यक्ष मंगल प्रभात लोढ़ा ने महाराष्ट्र विधानसभा में मालवणी में हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार का मसला उठाया है।

तापसी की चिंता में डूबे बॉयफ्रेंड भी आए IT जाँच के दायरे में, असली वजह फेर सकती है ‘गैंग’ के सपनों पर पानी

तापसी पन्नू के बॉयफ्रेंड बो के अनुराग कश्यप सहित कई बॉलीवुड हस्तियों के खिलाफ चल रही आयकर विभाग की कार्रवाई से बहुत गहरा संबंध है। एक और मामले से बो का जुड़ाव पता चला है जो उसके परेशानी का वास्तविक कारण है।

केरल गोल्ड तस्करी में CM विजयन और 3 कैबिनेट मंत्री डायरेक्ट शामिल: मुख्य आरोपित स्वप्ना सुरेश ने किया खुलासा

केरल के सोना और डॉलर तस्करी मामले में मुख्य आरोपित स्वप्ना सुरेश ने बेहद चौंकाने वाला खुलासा किया। मुख्यमंत्री पिनराई विजयन खुद ही...

तापसी के बॉयफ्रेंड को PM मोदी के मंत्री ने समझाया देश का कानून, टैक्स मामले में ट्वीट कर बता रहा था परेशानी

“भूमि का कानून सर्वोच्च है और हमें उसका पालन करना चाहिए। यह विषय आपके और मेरे डोमेन से परे है। हमें भारतीय खेलों के सर्वोत्तम हित में अपने पेशेवर कर्तव्यों पर कायम रहना चाहिए।"

33 आरोपित-200 चश्मदीद, रिया चकवर्ती का भी नाम: सुशांत सिंह से जुड़े ड्रग्स मामले में चार्जशीट फाइल

अभिनेता सुशांत सिंह राजूपत की मौत से जुड़े ड्रग्स मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने चार्जशीट दाखिल कर दी है।

प्रचलित ख़बरें

तिरंगे पर थूका, कहा- पेशाब पीओ; PM मोदी के लिए भी आपत्तिजनक बात: भारतीयों पर हमले के Video आए सामने

तिरंगे के अपमान और भारतीयों को प्रताड़ित करने की इस घटना का मास्टरमाइंड खालिस्तानी MP जगमीत सिंह का साढू जोधवीर धालीवाल है।

‘मैं 25 की हूँ पर कभी सेक्स नहीं किया’: योग शिक्षिका से रेप की आरोपित LGBT एक्टिविस्ट ने खुद को बताया था असमर्थ

LGBT एक्टिविस्ट दिव्या दुरेजा पर हाल ही में एक योग शिक्षिका ने बलात्कार का आरोप लगाया है। दिव्या ने एक टेड टॉक के पेनिट्रेटिव सेक्स में असमर्थ बताया था।

16 महीने तक मौलवी ‘रोशन’ ने चेलों के साथ किया गैंगरेप: बेटे की कुर्बानी और 3 करोड़ के सोने से महिला का टूटा भ्रम

मौलवी पर आरोप है कि 16 माह तक इसने और इसके चेले ने एक महिला के साथ दुष्कर्म किया। उससे 45 लाख रुपए लूटे और उसके 10 साल के बेटे को...

अंदर शाहिद-बाहर असलम, दिल्ली दंगों के आरोपित हिंदुओं को तिहाड़ में ही मारने की थी साजिश

हिंदू आरोपितों को मर्करी (पारा) देकर मारने की साजिश रची गई थी। दिल्ली पुलिस ने साजिश का पर्दाफाश करते हुए दो को गिरफ्तार किया है।

‘जाकर मर, मौत की वीडियो भेज दियो’ – 70 मिनट की रिकॉर्डिंग, आत्महत्या से ठीक पहले आरिफ ने आयशा को ऐसे किया था मजबूर

अहमदाबाद पुलिस ने आयशा और आरिफ के बीच हुई बातचीत की कॉल रिकॉर्ड्स को एक्सेस किया। नदी में कूदने से पहले आरिफ से...

BBC के शो में PM नरेंद्र मोदी को माँ की गंदी गाली, अश्लील भाषा का प्रयोग: किसान आंदोलन पर हो रहा था ‘Big Debate’

दिल्ली में चल रहे 'किसान आंदोलन' को लेकर 'BBC एशियन नेटवर्क' के शो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आपत्तिजनक टिप्पणी (माँ की गाली) की गई।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,301FansLike
81,951FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe