Sunday, September 26, 2021
Homeराजनीतितेलिनीपाड़ा दंगा: दो BJP सांसदों के खिलाफ FIR, ममता ने कहा- किसी भी दोषी...

तेलिनीपाड़ा दंगा: दो BJP सांसदों के खिलाफ FIR, ममता ने कहा- किसी भी दोषी को बख़्शा नहीं जाएगा

बंगाल सरकार पर तुष्टिकरण के आरोप लगते रहे हैं और हालिया दंगों में भी पुलिस पर उलटा पीड़ित हिन्दुओं को ही प्रताड़ित करने के आरोप लगे थे। भाजपा नेताओं ने भी राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात कर हस्तक्षेप करने की माँग की है। भाजपा ने तृणमूल पर गुनहगारों को संरक्षण देने का आरोप लगाया है।

पश्चिम बंगाल में दो भाजपा सांसदों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। सांसद अर्जुन सिंह और लॉकेट चटर्जी के खिलाफ़ एफआईआर दर्ज किया गया। इनके खिलाफ हिंसा भड़काने सहित कई आरोप लगाए गए हैं। चंदननगर पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए दावा किया है कि इन दोनों ने हुगली के तेलिनीपाड़ा में हिंसा भड़काई। बता दें कि उस इलाके में हिन्दुओं के घरों को जलाया गया था और भीषण दंगे हुए थे।

इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आरोप लगाया था कि भाजपा नेताओं का एक बड़ा वर्ग राज्य में सांप्रदायिक हिंसा फैलाने का काम कर रहा है। तृणमूल कॉन्ग्रेस सुप्रीमो ने कहा था कि उन्होंने पुलिस को सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दे दिए हैं। उन्होंने नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत कार्रवाई किए जाने की बात करते हुए कहा कि किसी को भी छोड़ा नहीं जाएगा।

ममता ने कहा कि उनकी पुलिस ये नहीं देखेगी कि कौन सा आरोपित किस समुदाय से ताल्लुक रखता है। हालाँकि, बंगाल सरकार पर तुष्टिकरण के आरोप लगते रहे हैं और हालिया दंगों में भी पुलिस पर उलटा पीड़ित हिन्दुओं को ही प्रताड़ित करने के आरोप लगे थे। भाजपा नेताओं ने भी राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात कर हस्तक्षेप करने की माँग की है। भाजपा ने तृणमूल पर गुनहगारों को संरक्षण देने का आरोप लगाया है।

अब तक इस मामले में 56 लोगों को गिरफ्तार किए जाने की खबर है। चंदननगर के कई पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल पर कैम्प कर स्थिति को नियंत्रित करने का प्रयास किया। मोबाइल नेटवर्क बंद कर दिया गया और कर्फ्यू लगा दिया गया। अभी भी वहाँ काफी पाबंदियाँ हैं। शीतला माता का मंदिर जलाए जाने की भी ख़बर आई थी। मई 2019 में भी अर्जुन सिंह और लॉकेट चटर्जी पर ताबड़तोड़ 5 एफआईआर किए गए थे।

एक स्थानीय व्यक्ति ने बताया था कि अचानक से रात में आई पुलिस कुछ हिन्दुओं को उठा कर ले गई और उन्हें जेल में बंद कर दिया गया। उक्त व्यक्ति ने बताया कि उसके भी एक मित्र को इसी तरह रात में ही पुलिस उठा कर ले गई। यहाँ तक कि पुलिस को खदेड़ने वाले कट्टरपंथियों की जगह भी हिन्दुओं को ही निशाना बनाया जाता है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

11वीं से 14वीं शताब्दी की 157 मूर्तियाँ-कलाकृतियाँ, चोर ले गए थे अमेरिका… PM मोदी वापस लेकर लौटे

अमेरिका द्वारा भारत को सौंपी गई कलाकृतियों में सांस्कृतिक पुरावशेष, हिंदू धर्म, बौद्ध धर्म, जैन धर्म से संबंधित मूर्तियाँ शामिल हैं।

जबान के पक्के अजीत अंजुम, योगी आदित्यनाथ को दे रहे सलामी: वीडियो वायरल हो गया… हम कड़ी निंदा करते हैं

इतिहास गवाह है, महान अजीत अंजुम ने कभी घमंड नहीं किया। बेरोजगारी में YouTube पर वीडियो बनाने लगे लेकिन सलामी दी तो सिर्फ...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,410FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe