Tuesday, October 19, 2021
Homeराजनीतिप्रोपेगंडा पोर्टल के संस्थापक को कॉन्ग्रेस ने दी डेटा सेल की कमान, पहले मानती...

प्रोपेगंडा पोर्टल के संस्थापक को कॉन्ग्रेस ने दी डेटा सेल की कमान, पहले मानती थी ‘मोदी का आदमी’

अब फिर से प्रवीण की वापसी यह बताती है कि प्रोपेगंडा पोर्टलों और ऐसे पोर्टलों को चलाने वाले लोगों के सहारे कॉन्ग्रेस ग़लत नैरेटिव बना कर चुनाव जीतना चाहती है।

कॉन्ग्रेस पार्टी ने प्रोपेगंडा पोर्टल के संस्थापक ट्रस्टी को अपने डेटा सेल का का अध्यक्ष बनाया है। कॉन्ग्रेस ने ऐलान किया है कि प्रवीण चक्रवर्ती को पार्टी के ‘टेक्नोलॉजी एवं डेटा सेल’ का अध्यक्ष बनाया गया है। चक्रवर्ती प्रोपेगंडा पोर्टल इंडियास्पेंड के फाउंडिंग ट्रस्टी हैं। आपको बता दें कि फ़र्ज़ी फैक्ट चेक कर के अपने आप को न्यूज़ वेबसाइट कहने वाले पोर्टल ‘फैक्ट चेक इंडिया’ भी इंडियास्पेंड का ही एक भाग है।

इंडियास्पेंड के बारे में बता दें कि हाल ही में इसका एक पत्रकार पीड़ितों को बरगलाने की कोशिश में धरा गया था। बेगूसराय में एक महादलित परिवार को मुस्लिमों द्वारा परेशान किया जा रहा था। महिलाओं से बलात्कार तक की कोशिश की गई और घर के पुरुष सदस्यों को पीटा गया। जब मामला प्रकाश में आया तो इंडियास्पेंड के पत्रकार ने पीड़ित से जबरदस्ती यह कबूलवाने की कोशिश की कि यह एक सांप्रदायिक मामला नहीं है।

प्रवीण चक्रवर्ती इससे पहले भी कॉन्ग्रेस डेटा सेल में रह चुके हैं। इस वर्ष हुए लोकसभा चुनाव के दौरान उन पर तत्कालीन कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी को ग़लत जानकारियाँ देने का आरोप लगा था। कॉन्ग्रेस का तो ये तक सोचना था कि प्रवीण चक्रवर्ती प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आदमी हैं, जिन्हें जानबूझ कर कॉन्ग्रेस को हराने के लिए प्लांट किया गया है। कॉन्ग्रेस ने अपने डेटा एनालिटिक्स डिपार्टमेंट को डेटा सेल बना कर वापस लाया है।

अब फिर से प्रवीण की वापसी यह बताती है कि प्रोपेगंडा पोर्टलों और ऐसे पोर्टलों को चलाने वाले लोगों के सहारे कॉन्ग्रेस ग़लत नैरेटिव बना कर चुनाव जीतना चाहती है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

धर्मांतरण कराने आए ईसाई समूह को ग्रामीणों ने बंधक बनाया, छत्तीसगढ़ की गवर्नर का CM को पत्र- जबरन धर्म परिवर्तन पर हो एक्शन

छत्तीसगढ़ के दुर्ग में ग्रामीणों ने ईसाई समुदाय के 45 से ज्यादा लोगों को बंधक बना लिया। यह समूह देर रात धर्मांतरण कराने के इरादे से पहुँचा था।

सूरत में मंदिरों-घर की छत पर लाउडस्पीकर, सुबह-शाम हनुमान चालीसा; शनिवार को सत्संग भी: धर्म के लिए हिंदू हुए लामबंद

सूरत में आठ महीने पहले लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा की हुई शुरुआत ने कैसे हिंदुओं को जोड़ा, इसका संदेश कितना गहरा हुआ, पढ़िए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,980FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe