Sunday, June 16, 2024
Homeराजनीतिजिस हमले के लिए राहुल गाँधी ने दिया था 'क्षमादान', उस दिन कॉन्ग्रेसियों ने...

जिस हमले के लिए राहुल गाँधी ने दिया था ‘क्षमादान’, उस दिन कॉन्ग्रेसियों ने ही वायनाड ऑफिस में फाड़ी थी महात्मा गाँधी की तस्वीरः PA सहित 4 गिरफ्तार

गिरफ्तार कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं में रतीश कुमार सांसद राहुल गाँधी का PA (पर्सनल असिस्टैंट) है। ऑफिस स्टाफ एसआर के अलावा नौशाद और केए मुजीब नाम के दो अन्य कार्यकर्ताओं को भी केरल पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

वायनाड के कालपेट्टा स्थित राहुल गाँधी के दफ्तर में महात्मा गाँधी की तस्वीर क्षतिग्रस्त करने के आरोप में पुलिस ने 4 कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है। राहुल गाँधी केरल के वायनाड से ही सांसद हैं। यहाँ उनका दफ्तर भी है। कॉन्ग्रेस पार्टी का आरोप है कि उसके कार्यकर्ताओं के खिलाफ झूठे आरोप लगाए जा रहे हैं। उनका कहना है कि सत्ताधारी CPM के ‘स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (SFI)’ को बचाने के लिए ऐसा किया जा रहा है।

कॉन्ग्रेस नेताओं ने कहा कि 24 जून, 2022 को हुई इस घटना में SFI के लोग ही शामिल थे। कॉन्ग्रेस ने आरोप लगाया है कि उसके कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करवा के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुश करना चाहते हैं। गिरफ्तार कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं में रतीश कुमार सांसद राहुल गाँधी का PA (पर्सनल असिस्टैंट) है। ऑफिस स्टाफ एसआर के अलावा नौशाद और केए मुजीब नाम के दो अन्य कार्यकर्ताओं को भी केरल पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

हालाँकि, इस हमले के सम्बन्ध में कई SFI कार्यकर्ताओं और नेताओं को भी गिरफ्तार किया गया था। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि जंगल के 1 किलोमीटर के दायरे में आने वाले इलाकों को ‘स्पेशल इकोनॉमिक जोन (SEZ)’ घोषित किया जाए, लेकिन SFI का आरोप था कि राहुल गाँधी इस दिशा में बतौर सांसद कोई प्रयास नहीं कर रहे हैं और स्थानीय लोगों की समस्याओं का समाधान नहीं कर रहे हैं। इसी के विरोध में SFI ने राहुल गाँधी के दफ्तर तक मार्च निकाला था। हमले के बाद राहुल गाँधी ने अपने दफ्तर का दौरा भी किया था।

बाद में ये हिंसक हो गया था। सीएम विजयन ने कहा था कि महात्मा गाँधी की तस्वीर को जब क्षतिग्रस्त किया गया, तब तक पुलिस SFI कार्यकर्ताओं को वहाँ से हटा चुकी थी। इसीलिए, इस घटना में उन्होंने कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं का हाथ बताया था। केरल में कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और कालपेट्टा से विधायक टी सिद्दीकी का कहना है कि पुलिस मुख्यमंत्री के इसी बयान को सही साबित करने के लिए मनगढंत सबूत पेश कर रही है। उन्होंने कहा कि कॉन्ग्रेस इसका विरोध करेगी। राहुल गाँधी ने इस हमले के बाद महात्मा गाँधी का उद्धरण देते हुए हमलवारों को माफ़ करने की बात कही थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -