Monday, July 22, 2024
HomeराजनीतिCM सरमा ने निभाया वादा, ओलंपिक में मैडल जीतने वाली लवलीना को DSP का...

CM सरमा ने निभाया वादा, ओलंपिक में मैडल जीतने वाली लवलीना को DSP का नियुक्ति पत्र: पंजाब में दिव्यांग खिलाड़ी को नौकरी तक नहीं

लवलीना की दोनों बहनें लीचा और लीमा भी किक बॉक्सर्स हैं। कम संसाधन होने के बावजूद उनके माता-पिता ने तीनों बेटियों को खेल के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए प्रोत्साहित किया। तीनों बेटियों के सपनों को पूरा करने के लिए उनकी माँ स्थानीय को-ऑपरेटिव से लोन लिया करती थीं।

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma) बुधवार (12 जनवरी 2021) को टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन (Lovlina Borgohain) को असम पुलिस में डीएसपी (DSP) पद का नियुक्ति पत्र (Appointment Letter) सौंपेंगे। समाचार एजेंसी एएनआई (ANI) ने असम के मुख्यमंत्री कार्यालय (Assam CMO) के हवाले से यह जानकारी दी है।

पिछले साल अगस्त में ओलंपिक में पदक जीतकर देश का नाम रौशन करने वाली लवलीना को सीएम हिमंत ने 10 लाख रुपये नकद के साथ-साथ असम पुलिस में डीएसपी (DSP) का ऑफर दिया था। इसके साथ ही सीएम ने मुक्केबाज के नाम पर सड़क बनवाने और उनके गृह नगर में उनके नाम पर एक स्टेडियम बनाने का भी ऐलान किया था।

लवलीना असम के गोलाघाट स्थित एक छोटे से गाँव की रहने वाली हैं। उनका जीवन काफी संघर्ष भरा रहा है। 23 वर्षीय महिला मुक्केबाज लवलीना को सेमीफाइनल में विश्व चैंपियन तुर्की की बुसेनाज सुरमेनेली के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। इस मुकाबले में पहली बार ओलंपिक खेल रही लवलीना ने पूरा जोर लगाया था, लेकिन भारतीय मुक्केबाज को 0-5 से शिकस्त झेलनी पड़ी और कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा था।

बता दें कि लवलीना की दोनों बहनें लीचा और लीमा भी किक बॉक्सर्स हैं। कम संसाधन होने के बावजूद उनके माता-पिता ने तीनों बेटियों को खेल के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए प्रोत्साहित किया। तीनों बेटियों के सपनों को पूरा करने के लिए उनकी माँ स्थानीय को-ऑपरेटिव से लोन लिया करती थीं।

बता दें कि वादा करने के बाद भी पंजाब की कॉन्ग्रेस सरकार ने जालंधर की रहने वाली दिव्यांग शतरंज प्लेयर मलिका हांडा को राज्य सरकार में नौकरी और वित्तीय सहायता देने में आना-कानी कर रही है। इसको लेकर मलिका ने सोशल मीडिया पर रोते हुए एक वीडियो शेयर किया था। इसमें उन्होंने पंजाब सरकार के रवैये को लेकर अपना दर्द लोगों के बीच साझा किया था।

10 साल से शतरंज खेल रहीं मलिका हांडा 7 बार की नेशनल डेफ चेस चैम्पियन मलिका हांडा ने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं में कई पदक जीते हैं, जिनमें विश्व मूक-बधिर शतरंज चैम्पियनशिप में गोल्ड और एशियाई शतरंज चैम्पियनशिप में रजत पदक शामिल हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -