Saturday, July 31, 2021
Homeराजनीतिलॉकडाउन के बाद स्कूलों में होंगे कई बदलाव: HRD मंत्री निशंक ने शिक्षकों के...

लॉकडाउन के बाद स्कूलों में होंगे कई बदलाव: HRD मंत्री निशंक ने शिक्षकों के सवालों के दिए जवाब

निशंक ने शिक्षकों के साथ संवाद के दौरान कहा कि जिन अध्यापकों के पास उत्तर पुस्तकाएँ मूल्यांकन के लिए जा रही हैं उनको ऑनलाइन शिक्षण और दैनिक रिपोर्ट नहीं भेजनी होगी। साथ ही इन्हें नए सत्र की तैयारी से जुड़े काम नहीं दिए जाएँगे।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने गुरुवार (14 मई 2020) को देश के अलग-अलग हिस्सों से स्कूल-कॉलेजों के शिक्षकों द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब वेब कॉन्फ्रेसिंग के जरिए दिए।

उन्होंने मुख्य रूप से UGC NET परीक्षा तिथि और नवोदय विद्यालय की भर्ती प्रक्रिया को लेकर कंफ्यूज़न को दूर किया। साथ ही लॉकडाउन के बाद स्कूलों में कई बदलाव के संकेत दिए।

साथ ही निशंक ने लॉकडाउन खत्म होने के बाद स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर कई एहतियाती कदम उठाने की भी बात कही। उन्होंने क्लासेज़ में बच्चों के पढ़ने से लेकर उनके सारे काम के तरीके को भी बदलने का सुझाव दिया है। सोशल डिस्टेंसिंग को मद्देनजर रखते हुए विद्यार्थियों को छोटे-छोटे समूह में बाँट कर कई सेक्शन किए जाएँगे।

आचार्य देवो भव:’ का संदेश देते हुए रमेश पोखरियाल ने सभी शिक्षकों को इस महामारी के दौर में सरकार का साथ देते हुए छात्रों तक मिड-डे मील पहुँचाने, लोगों को खाने-पीने की चीजें पहुँचाने और अन्य तरीके से देश सेवा करने के लिए धन्यवाद दिया।

यूजीसी नेट

राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट – UGC NET) की परीक्षा तिथि को लेकर केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा कि इसकी घोषणा जल्द से जल्द कर दी जाएगी।

नवोदय विद्यालय भर्ती

अध्यापकों की नियुक्तियों पर जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार के अनुसार किसी भी शैक्षणिक संस्थान में अध्यापकों के पद खाली नहीं रहने चाहिए। नवोदय विद्यालय की जो भर्ती प्रक्रिया लॉकडाउन से पहले पूरी हो चुकी थी, उसमें चुने गए अध्यापकों को लॉकडाउन ख़त्म होने के बाद नियुक्तियाँ मिल जाएँगी।

शिक्षकों का ऑनलाइन प्रशिक्षण

मंत्री ने कहा पंडित मदन मोहन मालवीय राष्ट्रीय मिशन ऑन टीचर्स एंड टीचिंग के तहत ई-लर्निंग संसाधन के उपयोग के लिए स्कूली शिक्षकों के प्रशिक्षण का आयोजन किया जा रहा है। अध्यापक भी इसमें बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं।

उत्तर पुस्तिकाएँ जाँचने वाले अध्यापकों को छूट

जिन अध्यापकों के पास उत्तर पुस्तकाएँ मूल्यांकन के लिए जा रही हैं उनको ऑनलाइन शिक्षण और दैनिक रिपोर्ट नहीं भेजनी होगी। साथ ही इन्हें नए सत्र की तैयारी से जुड़े काम नहीं दिए जाएँगे।

इस दौरान दिल्ली के प्राथमिक विद्यालय की एक अध्यापिका की कोरोना वायरस से हुई मृत्यु पर शोक व्यक्त करते हुए निशंक ने कहा कि शिक्षक किसी भी तरह की परेशानी को लेकर उनसे जब भी चाहें, उनके ट्विटर और फेसबुक पर जुड़ सकते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,104FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe