Tuesday, May 21, 2024
Homeदेश-समाजहैदराबाद की ‘हिंदू शेरनी’ ने भरी हुंकार, कहा- BJP ने धर्म की रक्षा का...

हैदराबाद की ‘हिंदू शेरनी’ ने भरी हुंकार, कहा- BJP ने धर्म की रक्षा का दिया मौका, ओवैसी को नहीं मानती हूँ चुनौती… वे संसद से बाहर जाएँगे और मैं अंदर

माधवी लता कहती हैं कि अगर हिंदू भाई-बहन एक हो गए तो 'असद भाई' के लिए इस बार (चुनाव जीतने में) बहुत मुश्किल हो जाएगी। उन्होंने दावा किया कि ओवैसी परिवार ने पिछले 40 सालों में हैदराबाद का विकास नहीं किया है, वहीं वो पिछले 18 साल से हैदराबाद की जनता की सेवा में लगी हुई हैं।

तेलंगाना के हैदराबाद से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा/BJP) की प्रत्याशी माधवी लता इस समय खूब चर्चा में हैं। भाजपा ने उन्हें जब से ओवैसी के खिलाफ चुनावी मैदान में उतारा है तब से हैदराबाद की सड़कों पर उनके पोस्टर दिख रहे हैं जिसमें उन्हें ‘कट्टर हिंदू शेरनी’ कहा जा रहा है। माधवी ने अपने नाम का ऐलान होने के बाद से अपना चुनावी प्रचार शुरू किया हुआ है। बीच-बीच में वो मीडिया से भी रूबरू हो रही हैं। इस बार उन्होंने दैनिक भास्कर से बात की है।

अपने इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि हैदराबाद में वो ओवैसी को चुनौती ही नहीं मानती हैं। वो कहती हैं अगर हिंदू भाई-बहन एक हो गए तो ‘असद भाई’ के लिए बहुत मुश्किल हो जाएगी। उन्होंने बताया कि वो 18 साल से लोगों की सेवा में लगी हुई हैं जब हैदराबाद से बीजेपी ने उनके नाम का ऐलान किया तो उन्हें लगा कि उनके धर्म ने उन्हें मौका दिया कि वो उसकी रक्षा करें। उन्होंने बताया कि वो हैदराबाद के पसमांदा मुस्लिम महिलाओं के लिए सालों से काम कर रही हैं, मदरसों में बच्चों को खाना खिलाती हैं, इन सबका मतलब ये नहीं कि वो पूजा पाठ करना या मंदिर जाना छोड़ देंगी, ये उनके निजी मामले हैं।

उन्होंने बताया, “अगर मुस्लिम मुझे वोट नहीं देंगे तो वो हम जबरदस्ती नहीं कर सकते…हम अकबरुद्दीन और असदुद्दीन ओवैसी जैसे लोग नहीं, जो चुटकी बजाकर हवा में कह दें कि 15 मिनट में आपका काम करा देंगे। हम जमीन पर उतरकर काम करने में भरोसा रखते हैं।” उन्होंने दावा किया कि में BJP का ऐसा रिजल्ट आने वाला है कि AIMIM और कॉन्ग्रेस दोनों चौंक जाएँगे। इनकी जुबान बंद हो जाएगी और भाजपा इतिहास रचेगी। उन्होंने कहा कि हैदराबाद के अलावा बची 16 सीटों में से BJP को इस बार 13 से 14 सीटें मिलेंगी। उन्होंने राज्य में बीआरएस की हालत की तुलना खराब गाड़ी से की।

उन्होंने ओवैसी पर निशाना साधते हुए कहा कि 40 साल तक ओवैसी परिवार ने हैदराबाद में कोई विकास नहीं किया। पुराने शहर की गरीब जनता के पास कचरे वाले को देने के लिए महीने के 100 रुपए तक नहीं होते। घर में 4-5 दिन का राशन नहीं होता। ओवैसी अपने भाषणों में सिर्फ हैदराबाद के चार मीनार का जिक्र करते हैं लेकिन क्षेत्र में बने हजारों साल पुराने भव्य मंदिर का कभी नहीं करते। वो कहती हैं कि क्या एक सांसद के तौर पर उन्हें सबको एक साथ लेकर नहीं चलना चाहिए।

उन्होंने इस इंटरव्यू में फ्री इलाज के दावों पर पूछा कि हैदराबाद में 21 लाख वोटर्स हैं, उनके परिवार में 1 करोड़ से ज्यादा लोग कहते हैं। ओवैसी को बताना चाहिए कि क्या वो इन 1 करोड़ लोगों को फ्री इलाज दे रहे हैं? लता ने दावा किया कि ओवैसी के अस्पताल में कोई गरीब नहीं जाता है। उन्होंने कहा कि ओवैसी को सबसे मिलने का समय है लेकिन उनके पास आम जनता से मिलने का समय नहीं हैं। हालाँकि, अब लगता है कि उनसे मुलाकात जल्द होगी जब वो संसद से बाहर जाएँगे और हम अंदर।

इससे पहले पिछले इंटरव्यू में माधवी लता ने दावा किया था कि हैदराबाद में ओवैसी बाहरी मुस्लिमों को बसा रहे हैं और उनको दो कमरों का फ्लैट भी दिया जा रहा है। इसके अलावा उन्होंने यह जानकारी भी दी थी कि उनके लिए हैदराबाद में चुनाव प्रचार करना बहुत मुश्किल काम है क्योंकि वहाँ पत्थर तक मारे जाते हैं, लेकिन फिर भी वो इस जगह से अपना शत-प्रतिशत देने को तैयार हैं और कोशिशों में लगी हैं

उल्लेखनीय है कि माधवी लता ने हैदराबाद से ही शिक्षा ली है और सोशल वर्क वो पिछले 20 साल से कर रही हैं। माधवी लता के पति का नाम विश्वनाथ है। वो एमिरेट्स विरिंची नाम की कम्पनी के संस्थापक हैं। माधवी तेलंगाना टुडे को बताती हैं कि उन्होंने कई अनाथालयों को दान दिए हैं। माधवी लता प्रोफेशनल भरतनाट्यम नृत्यांगना हैं। वो अब तक 100 से ज्यादा स्टेज प्रस्तुति दे चुकी हैं। माधवी अपने छात्रा जीवन में NCC कैडेट भी रह चुकी हैं। डॉक्टर माधवी लता को तेलंगाना में हिंदुत्व का मुखर चेहरा माना जाता है। कोटी महिला कॉलेज से राजनीति शास्त्र में MA करने के बाद वह मूलतः शिक्षा और स्वास्थ्य जैसे सामाजिक कार्यों में काफी सक्रिय रही हैं। इन कार्यों को वो ट्रस्ट और संस्थाओं के माध्यम से करती हैं। हैदराबाद से भाजपा की पहली महिला प्रत्याशी माधवी के हिन्दू धर्म को लेकर दिए जाने वाले भाषण अक्सर वायरल होते हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ से लड़ रही लालू की बेटी, वहाँ यूँ ही नहीं हुई हिंसा: रामचरितमानस को गाली और ‘ठाकुर का कुआँ’ से ही शुरू हो...

रामचरितमानस विवाद और 'ठाकुर का कुआँ' विवाद से उपजी जातीय घृणा ने लालू यादव की बेटी के क्षेत्र में जंगलराज की यादों को ताज़ा कर दिया है।

निजी प्रतिशोध के लिए हो रहा SC/ST एक्ट का इस्तेमाल: जानिए इलाहाबाद हाई कोर्ट को क्यों करनी पड़ी ये टिप्पणी, रद्द किया केस

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए SC/ST Act के झूठे आरोपों पर चिंता जताई है और इसे कानून प्रक्रिया का दुरुपयोग माना है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -