Tuesday, July 27, 2021
HomeराजनीतिArticle 370: चिदंबरम के चेहरे पर कालिख पोतने वाले को इनाम देगा मुस्लिम यूथ...

Article 370: चिदंबरम के चेहरे पर कालिख पोतने वाले को इनाम देगा मुस्लिम यूथ एसोसिएशन

पी चिदंबरम ने कहा था कि जम्मू-कश्मीर मुस्लिम बहुल राज्य है, इसलिए आर्टिकल 370 को निष्प्रभावी किया गया है। यदि यह राज्य हिन्दू बहुल होता तो भाजपा सरकार इस मुद्दे को छूती भी नहीं।

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करने के फैसले को संप्रदाय से जोड़ने को लेकर वरिष्ठ कॉन्ग्रेस नेता और पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम की चौतरफा आलोचना हो रही है। अलीगढ़ के मुस्लिम यूथ एसोसिएशन ने चिदंबरम के चेहरे पर कालिख पोतने वाले व्यक्ति को 21,000 रुपए नकद इनाम देने की घोषणा की है।

जानकारी के मुताबिक, मुस्लिम यूथ एसोसिएशन के प्रमुख मोहम्मद आमिर रशीद का कहना है कि चिदंबरम की टिप्पणी हिन्दू- मुस्लिम की एकता के लिए नुकसानदेह है। रशीद ने कहा कि वो चिदंबरम का मुँह काला करने वाले को अपनी ईदी  (ईद के दौरान उपहार के रूप में प्राप्त नकद) में से 21,000 रुपए देंगे।

गौरतलब है कि, पी चिदंबरम ने कहा था कि जम्मू-कश्मीर मुस्लिम बहुल राज्य है, इसलिए आर्टिकल 370 को निष्प्रभावी किया गया है। यदि यह राज्य हिन्दू बहुल होता तो भाजपा सरकार इस मुद्दे को छूती भी नहीं।

इस दौरान चिदंबरम ने सात राज्यों में सत्तारूढ़ क्षेत्रीय दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि इन सभी पार्टियों ने राज्यसभा में बीजेपी के कदम के खिलाफ डर की वजह से सहयोग नहीं किया। उन्होंने आगे कहा कि जम्मू-कश्मीर के सौरा क्षेत्र में लगभग 10 हजार लोगों ने विरोध किया जो कि एक सच है। इस दौरान पुलिस ने कार्रवाई की, जिसमें गोलीबारी हुई, ये भी सच्चाई है। इसके साथ ही चिदंबरम ने कहा था कि देश के 70 साल के इतिहास में ऐसा कभी कोई उदाहरण नहीं आया जब एक राज्य को केन्द्रशासित प्रदेश बना दिया गया हो।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,362FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe