Monday, October 25, 2021
Homeराजनीतिजंगलराज वाले चाहते हैं कि छठी मैया की धरती पर 'जय श्री राम' के...

जंगलराज वाले चाहते हैं कि छठी मैया की धरती पर ‘जय श्री राम’ के नारे न लगें: PM मोदी, किया बिहार के सैनिकों को नमन

"बिहार के हर जिले में कम से कम एक ऐसा उत्पाद है, जो देश और विदेश के बाजारों में धूम मचा सकता है। लेकिन बिहार को जंगलराज बनाने वालों के साथी, उनके करीबी चाहते हैं कि..."

जहाँ बिहार में मंगलवार (नवंबर 3, 2020) को दूससरे चरण का मतदान चल रहा है, वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सहरसा में जनसभा को सम्बोधित किया। सहरसा और अररिया सहित अन्य इलाकों में तीसरे व अंतिम चरण में मतदान होगा। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि वो बीते दिनों में बिहार के करीब हर क्षेत्र में गए हैं। जनभावनाओं को देखा है, समझा है। अभी दूसरे चरण के मतदान के जो ट्रेंड मिल रहे हैं, उसने तस्वीर साफ कर दी है। उन्होंने भरोसा जताया कि बिहार का जनादेश स्पष्ट है, बिहार में एक बार फिर एनडीए की सरकार बनने जा रही है।

पीएम मोदी ने लालू यादव के राज को याद करते हुए कहा कि जंगलराज ने बिहार के सामर्थ्य के साथ जो विश्वासघात किया, उसे बिहार का हर नागरिक अच्छे से जानता है। उन्होंने कहा कि जुबान पर बार-बार गरीब का नाम वालों ने गरीब को ही चुनाव से दूर कर दिया था। बिहार के गरीब को अपनी मर्जी की सरकार बनाने का अधिकार ही नहीं था। उन्होंने लोगों को सलाह दी कि अपने एक वोट की ताकत कम मत आँकना।

प्रधानमंत्री मोदी ने सहरसा में कहा कि जिस प्रकार से श्रीकृष्ण ने एक उँगली पर गोवर्धन को उठाया था, जिस प्रकार से ग्वालों ने समर्थन किया था, वैसे ही आपकी उँगली पर लोकतंत्र के सौभाग्य का चिह्न लगने वाला है। उन्होंने कहा कि आपके एक-एक वोट की ताकत बिहार के उज्ज्वल भविष्य की गारंटी है। बकौल पीएम मोदी, आत्मनिर्भर बिहार यानी बिहार का आईटी हब के रूप में विकास। आत्मनिर्भर बिहार यानी बिहार में नए दुग्ध प्रोसेसिंग यूनिट का विकास।

उन्होंने आगे कहा कि आत्मनिर्भर बिहार यानी बिहार में नए कृषि उत्पादक संघों का निर्माण। आत्मनिर्भर बिहार यानी बिहार के कुटीर उद्योगों का विकास। पीएम मोदी ने आश्वासन दिया कि बिहार के लोग आत्मनिर्भर भारत-आत्मनिर्भर बिहार के लिए प्रतिबद्ध हैं, कटिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि बीते वर्षों में एक नए उदीयमान, आत्मनिर्भर और गौरवशाली अतीत से प्रेरित बिहार की नींव रखी जा चुकी है।, अब इस मजबूत नींव पर एक भव्य और आधुनिक बिहार के निर्माण का समय है।

सहरसा में पीएम मोदी ने कहा कि बीते दशक में CM नीतीश के नेतृत्व में NDA सरकार ने आत्मनिर्भर बिहार की मजबूत नींव रखी है। बिहार में बिजली, पानी, सड़क जैसी मूल सुविधाएँ आज गाँव-गाँव पहुँच चुकी हैं। उन्होंने आँकड़े गिनाए कि आज बिहार देश के उन राज्यों में है, जहाँ बिजली की खपत सबसे अधिक होती है। साथ ही कहा कि जनधन योजना के कारण, कोरोना के इस संकट काल में बिहार की लाखों बहनों के बैंक खाते में सीधे सैकड़ों करोड़ रुपए जमा हो पाए हैं।

इसकी महत्ता की बात करते हुए पीएम मोदी ने याद दिलाया कि यही जनधन योजना है, जिसके कारण कोरोना काल में भी बिहार के लाखों किसान परिवारों के बैंक खाते में सीधी मदद पहुँच पाई है। उन्होंने बताया कि मुद्रा योजना के तहत बिहार में करीब ढाई करोड़ ऋण बिना गारंटी के आवंटित किए जा चुके हैं। इसमें करीब पौने 2 करोड़ तो महिला उद्यमी हैं। 50 लाख से अधिक साथी ऐसे हैं, जिन्होंने पहली बार इस योजना के तहत ऋण लिया है। पीएम ने कहा:

“बिहार के हर जिले में कम से कम एक ऐसा उत्पाद है, जो देश और विदेश के बाजारों में धूम मचा सकता है। आत्मनिर्भर बिहार के लिए हर जिले में इन उत्पादों को निखारने, सँवारने के लिए जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर और उद्योग लगाने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। NDA सरकार हमारे किसानों के उत्पादों को कितना संरक्षण दे रही है, इसका बहुत बड़ा उदाहरण है हमारा जूट से जुड़ा सेक्टर। आज जब देश सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्ति की तरफ तेज़ी से अपने कदम बढ़ा रहा है, तो इसका सीधा लाभ हमारे जूट किसानों को हो रहा है, जूट उद्योग को हो रहा है। पहले जितनी खादी बिकती थी, उससे कई गुना ज्यादा खादी आज बिक रही है। लोग खरीद रहे हैं, दुनिया में भी माँग बढ़ रही है। 2014 से पहले 25 साल में जितने वर्ष की खादी हमारे देश में बिकी थी, उससे ज्यादा की खादी सिर्फ पिछले 5 साल में बिक चुकी है।”

पीएम मोदी ने सहरसा की जनसभा के माध्यम से देश के 130 करोड़ देशवासियों को आग्रह किया कि वो आने वाले दिनों में धनतेरस, दीवाली, छठ जैसे त्यौहारों पर जितना संभव हो सके, लोकल चीजें ही खरीदें। उन्होंने कहा कि इससे दीवाली सिर्फ आपके घर ही नहीं, उस गरीब सामान बेचने वाले के घर भी होगी। उन्होंने कहा कि बिहार की अनेकों वीर माताएँ, अपने लाल, अपनी लाडली को राष्ट्ररक्षा के लिए समर्पित करती हैं।

उन्होंने याद दिलाया कि कैसे बिहार के शूरवीर देश की सीमा, देश की संप्रभुता की रक्षा के लिए सर्वोच्च बलिदान देते हैं, देश की रक्षा करते हैं। उन्होंने लोगों से पूछा कि बिहार को जंगलराज बनाने वालों के साथी, उनके करीबी क्या चाहते हैं, आपको पता है? फिर खुद ही जवाब देते हुए बोले कि वो चाहते हैं, आप भारत माता की जय के नारे न लगाएँ। बकौल पीएम, छठी मैया को पूजने वाली इस धरती पर, जंगलराज के साथी चाहते हैं कि भारत माता की जय के नारे न लगें।

पीएम मोदी ने बिहार के सहरसा की जनसभा में आगे कहा कि वो (जंगलराज बनाने वाले और उनके साथी) चाहते हैं, आप ‘जय श्री राम’ भी न बोलें, बिहार के चुनाव प्रचार में माँ भारती का जयकारा करना इन लोगों को रास नहीं आ रहा। उन्होंने भरोसा जताया कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए की सरकार दोबारा बनाने का संकल्प साकार होने जा रहा है। उन्होंने लोगों से अपील की कि हमें पूरी शक्ति के साथ एक-एक वोटर के पास जाना है और इस बार वोटिंग के और जीत के सभी पुराने रिकॉर्ड तोड़ने हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पहली बार WC में पाकिस्तान से हारी टीम इंडिया, भारत के खिलाफ सबसे बड़ी T20 साझेदारी: Pak का ओपनिंग स्टैंड भी नहीं तोड़ पाए...

151 रनों के स्कोर का पीछे करते हुए पाकिस्तान ने पहले 2 ओवर में ही 18 रन ठोक दिए। सलामी बल्लेबाज बाबर आजम ने 68, मोहम्मद रिजवान ने 79 रन बनाए।

T20 WC में सबसे ज्यादा पचासा लगाने वाले बल्लेबाज बने कोहली, Pak को 152 रनों का टारगेट: अफरीदी की आग उगलती गेंदबाजी

भारत-पाकिस्तान T20 विश्व कप मैच में विराट कोहली ने 45 गेंदों में अपना शानदार अर्धशतक पूरा किया। शाहीन अफरीदी के शिकार बने शीर्ष 3 बल्लेबाज।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
131,522FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe