Wednesday, April 17, 2024
Homeराजनीति'कमलनाथ लुच्चा-लफंगा, सड़क किनारे बैठे शराबी की भाषा बोलते हैं' - इमरती देवी ने...

‘कमलनाथ लुच्चा-लफंगा, सड़क किनारे बैठे शराबी की भाषा बोलते हैं’ – इमरती देवी ने किया पलटवार

"इस तरह की भाषा का उपयोग करने के बाद कमलनाथ भी लुच्चे-लफंगे बन गए हैं। वो शराबी, जो सड़क किनारे बैठे रहते हैं और लड़कियों पर टिप्पणी करते हैं कि वह देखो ‘आइटम निकल रही, यह वही हैं।"

हाल ही में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कॉन्ग्रेस नेता कमलनाथ ने मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार में मंत्री इमरती देवी के लिए ‘आइटम’ शब्द का इस्तेमाल किया था। इमरती देवी ने कमलनाथ के इस बयान का जवाब दिया है। उन्होंने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कमलनाथ पर टिप्पणी की है। भाषण के दौरान इमरती देवी ने कहा कि जिस तरह की भाषा कमलनाथ ने इस्तेमाल की, ऐसी भाषा सड़क किनारे बैठने वाले शराबी इस्तेमाल करते हैं। 

मध्य प्रदेश की 28 सीट पर होने वाले उपचुनावों के लिए भारतीय जनता पार्टी और कॉन्ग्रेस लगातार जनसभाएँ कर रही हैं। इस कड़ी में एक जनसभा को संबोधित करते हुए इमरती देवी ने यह बयान दिया। उन्होंने अपने भाषण में कहा, “अगर पूर्व मुख्यमंत्री इस तरह की भाषा का इस्तेमाल कर सकते हैं तो मैं भी बहुत कुछ कह सकती हूँ। कुछ इस तरह के लोग होते हैं शराबी, जो सड़क किनारे बैठे रहते हैं और लड़कियों पर टिप्पणी करते हैं कि वह देखो ‘आइटम निकल रही।’ इस तरह की भाषा का उपयोग करने के बाद कमलनाथ भी लुच्चे-लफंगे बन गए।” 

इसके बाद इमरती देवी ने कहा कि उन्हें (कमलनाथ) को शर्म नहीं आई कि हम नेता हैं, मंत्रिमंडल का हिस्सा हैं, फिर भी वह हमारे लिए इस तरह की भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा, “माई के दिन (नवरात्र) चल रहे थे, भगवती के दिन चल रहे थे और भगवती के सामने इस तरह की भाषा बोली तो आप देख लीजिएगा मध्य प्रदेश के भीतर इस जीवन में कॉन्ग्रेस सत्ता में नहीं आएगी। 28 की 28 सीट भाजपा सरकार की होगी, भाजपा ही चुनाव जीतेगी और जनता को भाजपा के साथ ही रहना है, अपनी नेता इमरती देवी के साथ रहना है।”

दरअसल मध्य प्रदेश कॉन्ग्रेस नेता कमलनाथ ने इमरती देवी पर अपमानजनक टिप्पणी की थी, जिसके बाद इस मुद्दे पर विवाद शुरू हुआ। पूर्व मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने आमसभा को संबोधित करते हुए भाजपा प्रत्याशी एवं कैबिनेट मंत्री श्रीमती इमरती देवी के बारे में कहा था, “आप तो उसे मुझसे ज्यादा पहचानते हैं, आपको मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था, ये क्या आइटम है।” (इतना कहने के बाद श्री कमलनाथ ने जनता की तरफ देखा, खिलखिला कर हँसे, फिर दोहराया ये क्या आइटम है, और मुस्कुराए, उनके समर्थकों ने तालियाँ बजाई और ठहाके लगाए।)  

बता दें कि मध्य प्रदेश के डबरा में कॉन्ग्रेस प्रत्याशी सुरेंद्र राजेश के लिए प्रचार करने पहुँचे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंच से भाषण देते वक्त कहा था, “सुरेंद्र राजेश हमारे उम्मीदवार हैं, सरल स्वभाव के सीधे-साधे हैं। यह उसके जैसे नहीं है, क्या है उसका नाम? मैं क्या उसका नाम लूँ, आप तो उसको मुझसे ज्यादा अच्छे से जानते हैं, आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था, “यह क्या आइटम है।”

आपको बता दें कि इमरती देवी, उन पूर्व विधायकों में से एक हैं, जिन्होंने कॉन्ग्रेस छोड़ भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया। इमरती देवी को ज्योतिरादित्य सिंधिया का कट्टर समर्थक माना जाता है। 

तमाम विवाद के बावजूद पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने इस बयान पर माफ़ी माँगना तो दूर बल्कि इसे सही करार दिया। उन्होंने अपनी तरफ से जारी की गई सफाई में कहा था, “हम सब आइटम हैं। इसमें कुछ आपत्तिजनक नहीं है। हम आइटम नंबर की तरह चिह्नित किए जाते हैं। बेरोजगारी जैसे मुख्य मुद्दे से भटकाने के लिए शब्दों को गलत तरह से पेश किया।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्कूल में नमाज बैन के खिलाफ हाई कोर्ट ने खारिज की मुस्लिम छात्रा की याचिका, स्कूल के नियम नहीं पसंद तो छोड़ दो जाना...

हाई कोर्ट ने छात्रा की अपील की खारिज कर दिया और साफ कहा कि अगर स्कूल में पढ़ना है तो स्कूल के नियमों के हिसाब से ही चलना होगा।

‘क्षत्रिय न दें BJP को वोट’ – जो घूम-घूम कर दिला रहा शपथ, उस पर दर्ज है हाजी अली के साथ मिल कर एक...

सतीश सिंह ने अपनी शिकायत में बताया था कि उन पर गोली चलाने वालों में पूरन सिंह का साथी और सहयोगी हाजी अफसर अली भी शामिल था। आज यही पूरन सिंह 'क्षत्रियों के BJP के खिलाफ होने' का बना रहा माहौल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe