Tuesday, October 26, 2021
HomeराजनीतिBJP-आरएसएस ऑफिस पर हमला, कैंडिडेट और नेताओं के बच्चों के घर भी बने निशाना:...

BJP-आरएसएस ऑफिस पर हमला, कैंडिडेट और नेताओं के बच्चों के घर भी बने निशाना: केरल में CPIM की गुंडई

सीपीआईएम कार्यकर्ताओं ने अराई कार्तिका और अराई पलक्कल में भाजपा कार्यालय पर हमला किया। तोड़फोड़ की इस घटना के दौरान खिड़कियों के शीशे और दरवाज़े तोड़े गए और कार्यालय में रखी चीज़ों को भी नुकसान पहुँचाया गया। घटना के वक्त दो भाजपा कार्यकर्ता कार्यालय के भीतर मौजूद थे, सीपीआईएम के गुंडों ने उनके साथ मारपीट की।

केरल के स्थानीय निकाय चुनावों में जीत हासिल करने के बाद कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ इंडिया-मार्क्सिस्ट (सीपीआईएम) के कार्यकर्ताओं ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर हथियारबंद होकर हमला कर दियामीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ सीपीआईएम के अराजक तत्वों ने केरल, कसरगोद जिले स्थित कंजनगाडू क्षेत्र के भाजपा कार्यालय में हमले की यह घटना अंजाम दी थी। इसी तरह के हमलों की घटना अपट्टी और पुथियाकोट्टा में अंजाम दी गई थी।

सीपीआईएम कार्यकर्ताओं ने अराई कार्तिका और अराई पलक्कल में भाजपा कार्यालय पर हमला किया। तोड़फोड़ की इस घटना के दौरान खिड़कियों के शीशे और दरवाज़े तोड़े गए और कार्यालय में रखी चीज़ों को भी नुकसान पहुँचाया गया। घटना के वक्त दो भाजपा कार्यकर्ता कार्यालय के भीतर मौजूद थे, सीपीआईएम के गुंडों ने उनके साथ मारपीट की। रिपोर्ट्स के मुताबिक़ भाजपा नेता उमानाथ राव की बेटी के घर पर पथराव भी किया गया था। सीपीआईएम के गुंडे यहीं नहीं रुके, उन्होंने नेलिक्कट से भाजपा उम्मीदवार माधवन के घर पर पटाखे फेंके। जिसकी वजह से इस घटना में उनकी पत्नी को गंभीर चोटें आई। 

अलप्पी में आरएसएस कार्यालय पर हमला 

इसके पहले ख़बर आई थी कि बुधवार (16 दिसंबर 2020) को अलाप्पुज़ा के कार्तिकापल्ली स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यालय पर सीपीआईएम के कार्यकर्ताओं ने हमला किया था। पुलिस ने हमले की इस घटना के संबंध में 5 लोगों पर मामला दर्ज किया था। इस घटना की सीसीटीवी फुटेज भी सामने आई थी जिसमें साफ़ देखा जा सकता था कि किस तरह अराजक तत्व बेख़ौफ़ होकर कार्यालय में तोड़फोड़ कर रहे हैं।

टाइम्स नाउ की रिपोर्ट के मुताबिक़ एक आरोपित दो पहिया वाहन से आया और उसने कार्यालय पर बम फेंका। घटना के बाद बरामद की गई फुटेज देख कर यह पता चलता है कि कार्यालय के बाहर आग लगाईं गई थी। केरल में इस तरह की घटनाएँ बेहद आम होती जा रही है, विशेष तौर पर मलप्पुरम के उत्तरी क्षेत्र में। इसके अलावा प्रदेश के अलाप्पुज़ा में इस तरह के हिंसक हमले की घटनाएँ अंजाम दी गई हैं। 

त्रिवेंद्रम कॉरपोरेशन और पलक्कड़ म्युनिसिपलिटी में 13.28 फ़ीसदी वोट हासिल करने और केरल में बीजेपी को राजनीतिक ज़मीन बनाते देख सीपीआईएम के गुंडों ने ये हमले किए हैं। भाजपा ने कई ऐसी सीटों पर भी जीत हासिल की है जो कम्युनिस्ट पार्टी का गढ़ मानी जाती रही हैं, इसमें कन्नूर और कसरगोद शामिल हैं। इस तरह की तमाम बातों की वजह से कम्युनिस्ट पार्टी के खेमे में काफी हलचल है।   

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केरल में नॉन-हलाल रेस्तराँ खोलने वाली महिला को बेरहमी से पीटा, दूसरी ब्रांच खोलने के खिलाफ इस्लामवादी दे रहे थे धमकी

ट्विटर यूजर के अनुसार, बदमाशों के खिलाफ आत्मरक्षा में रेस्तराँ कर्मचारियों द्वारा जवाबी कार्रवाई के बाद केरल पुलिस तुशारा की तलाश कर रही है।

असम: CM सरमा ने किनारे किया दीवाली पर पटाखों पर प्रतिबंध का आदेश, कहा – जनभावनाओं के हिसाब से होगा फैसला

असम में दीवाली के मौके पर पटाखों पर पूर्ण प्रतिबंध का ऐलान किया गया था। अब मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा है कि ये आदेश बदलेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
131,815FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe