Monday, April 22, 2024
Homeराजनीतिहाथरस केस: सपा और RLD के कार्यकर्ताओं ने महिला पुलिसकर्मियों से बदसलूकी की, UP...

हाथरस केस: सपा और RLD के कार्यकर्ताओं ने महिला पुलिसकर्मियों से बदसलूकी की, UP पुलिस ने खदेड़ा

“गाँव में अभी 5 से अधिक लोगों के प्रतिनिधिमंडल को जाने की इजाजत नहीं है। हमें समाजवादी पार्टी और RLD के 5 लोगों के नाम मिले थे। हमने उन्हें जाने की इजाजत दे दी। तभी उनके कार्यकर्ताओं ने महिला पुलिसकर्मियों के साथ दुर्व्यवहार करना शुरू कर दिया और बैरिकेडिंग तोड़ डाली। पत्थरबाजी भी की गई।"

उत्तर प्रदेश के हाथरस केस में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ती जा रही है। आज (सितंबर 4, 2020) सुबह सबसे पहले एसआईटी की टीम मृतका के घर फिर से पहुँची। पिता के बयान दर्ज किए। मृतका के परिजनों से मिलने के लिए नेताओं का आना जारी है। पूर्व कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गाँधी शनिवार (सितंबर 3, 2020) को मृतका के परिवार से मिलने के लिए बुलगढ़ी गाँव पहुँचे थे। 

रविवार को समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल (RLD) के नेता पहुँचे। इस दौरान समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल कार्यकर्ताओं का पुलिस के साथ टकराव हो गया। बताया जा रहा है कि नारेबाजी कर रहे सपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठियाँ भाँजी।

हाथरस सदर के एसडीएम प्रेम प्रकाश मीणा ने लाठीचार्ज के बारे में बताते हुए कहा, “गाँव में अभी 5 से अधिक लोगों के प्रतिनिधिमंडल को जाने की इजाजत नहीं है। हमें समाजवादी पार्टी और RLD के 5 लोगों के नाम मिले थे। हमने उन्हें जाने की इजाजत दे दी। तभी उनके कार्यकर्ताओं ने महिला पुलिसकर्मियों के साथ दुर्व्यवहार करना शुरू कर दिया और बैरिकेडिंग तोड़ डाली। पत्थरबाजी भी की गई। हमारे एक CO घायल हुए हैं। भीड़ को नियंत्रण में लेने के लिए हमें लाठीचार्ज करना पड़ा। अभी हालात सामान्य हैं।”

बताया जा रहा है कि काफी संख्या में पहुँचे कार्यकर्ताओं ने हंगामा शुरू कर दिया और बैरिकेडिंग तोड़ दी। इसके बाद पुलिस ने दौड़ाकर लाठियाँ भाँजनी शुरू कर दी। गौरतलब है कि एक दिन पहले ही कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी ने भारी हंगामे के बीच पीड़ित परिजन से मुलाकात की।

रविवार दोपहर को समाजवादी पार्टी के नेता धर्मेंद्र यादव, अक्षय यादव, सपा विधायक संजय लठार और जयवीर ने पीड़िता के परिवार से मुलाकात की। मामले में पुलिस और प्रशासन की लापरवाही के खिलाफ सपा कार्यकर्ताओं ने इस दौरान यूपी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। पुलिस ने कार्यकर्ताओं को हटाने के लिए बल का प्रयोग करते हुए लाठीचार्ज किया। 

गौरतलब है कि इससे पहले हाथरस मामले पर विवादित बयान देते हुए कॉन्ग्रेस नेता निजाम मलिक ने कहा था कि जो व्यक्ति आरोपितों का सिर कलम करेगा, उसे उनका समुदाय 1 करोड़ रुपए का इनाम देगा। इस बयान के चर्चा में आने के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर कॉन्ग्रेस नेता को गिरफ्तार कर लिया।

बयान देते हुए निजाम मलिक ने कहा था, “जिन दरिंदों ने बलात्कार किया है, मैं अपने समाज और खुद की तरफ से माँग करता हूँ कि उन्हें फाँसी की सज़ा होनी चाहिए। जो लोग उन अपराधियों का सिर काट कर लाएँगे उन्हें हमारा समाज 1 करोड़ रुपए का इनाम देगा।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मुस्लिमों के लिए आरक्षण माँग रही हैं माधवी लता’: News24 ने चलाई खबर, BJP प्रत्याशी ने खोली पोल तो डिलीट कर माँगी माफ़ी

"अरब, सैयद और शिया मुस्लिमों को आरक्षण का लाभ नहीं मिलता है। हम तो सभी मुस्लिमों के लिए रिजर्वेशन माँग रहे हैं।" - माधवी लता का बयान फर्जी, News24 ने डिलीट की फेक खबर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe