Saturday, July 13, 2024
HomeराजनीतिBJP नेता गिरिराज सिंह ने हरे झंडे पर जताई आपत्ति, कहा- इसे प्रतिबंधित करे...

BJP नेता गिरिराज सिंह ने हरे झंडे पर जताई आपत्ति, कहा- इसे प्रतिबंधित करे चुनाव आयोग

गिरिराज सिंह ने इस दौरान विपक्षी कन्हैया पर तंज कसते हुए कहा कि इस संसदीय क्षेत्र (बेगूसराय) में उनकी लड़ाई भारत को तोड़ने के लिए काम करने वाले गिरोह के खिलाफ है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि वो सांस्कृतिक राष्ट्रवाद और विकास के एजेंडे का प्रतिनिधित्व करते हैं।

अपने कट्टर हिंदुत्ववादी छवि के लिए जाने जाने वाले केंद्रीय मंत्री और बेगूसराय से भाजपा प्रत्याशी गिरिराज सिंह ने मंगलवार (अप्रैल 23, 2019) को चुनाव आयोग से माँग करते हुए कहा है चुनाव आयोग को हरे झंडे के इस्तेमाल पर रोक लगा देना चाहिए। इस रंग के झंडों को अक्सर मुस्लिमों से जुड़े राजनीतिक एवं धार्मिक निकायों से जोड़ कर देखा जाता है। उन्होंने आरोप लगाया कि ये घृणा फैलाते हैं और पाकिस्तान में इस्तेमाल होने की धारणा बनाते हैं।

गिरिराज सिंह ने इस दौरान विपक्षी कन्हैया पर तंज कसते हुए कहा कि इस संसदीय क्षेत्र (बेगूसराय) में उनकी लड़ाई भारत को तोड़ने के लिए काम करने वाले गिरोह के खिलाफ है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि वो सांस्कृतिक राष्ट्रवाद और विकास के एजेंडे का प्रतिनिधित्व करते हैं। भाजपा नेता ने पीटीआई को दिए इंटरव्यू में कहा कि भाजपा नीत राजग, बिहार में 2014 में जीती गई 31 सीटों के आँकड़ों को सुधारेगी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं प्रत्येक सीट पर गठबंधन के उम्मीदवार हैं एवं इसके सभी प्रत्याशी “उनके ही प्रतीक” हैं। बेगूसराय में त्रिकोणीय मुकाबला होने की उम्मीद है, जहाँ गिरिराज सिंह का सामना राजद के तनवीर हसन और सीपीआई के युवा नेता कन्हैया कुमार से है।

बेगूसराय सीट पर होने जा रही टक्कर इस बार के आम चुनावों में इसलिए अधिक चर्चा में रही, क्योंकि गिरिराज सिंह को भाजपा के हिंदुत्व का चेहरा के तौर देखा जाता है, तो वहीं जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर ‘देश द्रोही’ होने का आरोप है। गौरतलब है कि गिरिराज सिंह ने साल 2014 में 1.4 लाख मतों के अंतर से बिहार की नवादा लोकसभा सीट से जीत हासिल की थी, लेकिन इस बार उन्हें बेगूसराय से टिकट दिया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे ‘चाणक्य’ बताया, उसके समर्थन के बावजूद हारा मौजूदा MLC: महाराष्ट्र में ऐसे बिखरा MVA गठबंधन, कॉन्ग्रेस विधायकों ने अपनी ही पार्टी को दिया...

जिस जयंत पाटील के पक्ष में महाराष्ट्र की राजनीति के कथित चाणक्य और गठबंधन के अगुवा शरद पवार खुद खड़े थे, उन्हें ही हार का सामना करना पड़ा।

18 बैंक खाते, 95 करोड़ रुपए, अब तक 11 शिकंजे में… जनजातीय समाज का पैसा डकारने के मामले में कॉन्ग्रेस के पूर्व मंत्री गिरफ्तार,...

सीधे शब्दों में समझें तो पूरा मामला ये है कि ST निगम के कुछ अधिकारियों ने फर्जी हस्ताक्षरों का इस्तेमाल कर के अवैध रूप से 94,73,08,500 रुपए विभिन्न बैंक खातों में भेज दिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -