Friday, July 30, 2021
Homeराजनीति'इस चुनाव में लोग मोदी के होठों पर ल्यूकोप्लास्ट चिपका देंगे ताकि वे झूठ...

‘इस चुनाव में लोग मोदी के होठों पर ल्यूकोप्लास्ट चिपका देंगे ताकि वे झूठ ना बोल पाएँ’

“भारत में विभिन्न धर्मों के लोग मिल-जुलकर रहते हैं लेकिन पीएम मोदी ये कैसे जानेंगे? क्योंकि उनका परिवार ही नहीं है और ना ही वो आप लोगों को परिवार मानते हैं।”

जैसे-जैसे चुनाव की तारीख़ नज़दीक आ रही है, ज़बानी हमले भी तेज हो रहे हैं। नेता एक दूसरे के खिलाफ जमकर ज़बानी हमले कर रहे हैं, लेकिन कभी-कभी इसको लेकर भाषाई मर्यादा का भी ख्याल नहीं रखा जाता है। कुछ राजनेता अपनी ज़बान पर संयम नहीं रख पाते हैं और विपक्षी नेता पर आपत्तिजनक बयान दे देते हैं।

तृणमूल कॉन्ग्रेस अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कूचबिहार की एक रैली में पीएम पर ज़बानी वार किए। ममता बनर्जी ने रैली में प्रधानमंत्री मोदी को सत्ता और राजनीति से बाहर निकालने की बात कही। इतना ही नहीं, उन्होंने तो यहाँ तक कह दिया कि मोदी के मुँह को चिपकने वाले सर्जिकल टेप से चिपका देना चाहिए। ममता ने कहा, “इस चुनाव में लोग उनके होठों पर ल्यूकोप्लास्ट चिपका देंगे ताकि वे झूठ ना बोल पाएँ। देश की खातिर उन्हें ना केवल कुर्सी (प्रधानमंत्री पद) बल्कि राजनीति से भी बाहर करना चाहिए।

उन्होंने पीएम पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने बंगाल को कोई मदद नहीं दी क्योंकि मोदी के पास किसानों और मध्य वर्ग की समस्याओं पर ध्यान देने का वक़्त नहीं था। वो अपने 5 साल के कार्यकाल में साढ़े चार साल दुनिया घूमने में ही व्यस्त रहे। ममता यही नहीं रुकीं, उन्होंने आगे कहा, “भारत में विभिन्न धर्मों के लोग मिल-जुलकर रहते हैं लेकिन पीएम मोदी ये कैसे जानेंगे? क्योंकि उनका परिवार ही नहीं है और ना ही वो आप लोगों को परिवार मानते हैं।” इसके साथ ही ममता ने नोटबंदी और किसानों की आत्महत्या को लेकर भी पीएम मोदी पर टिप्पणी की।

गौरतलब है कि ममता बनर्जी ने कुछ दिनों पहले पीएम मोदी के वैवाहिक जीवन और पत्नी से उनके संबंध पर कटाक्ष किया था। अलीपुरदुआर संसदीय क्षेत्र के बारोबिसा में चुनावी सभा के संबोधित करते हुए ममता ने कहा था कि जो अपनी पत्नी का देखभाल नहीं कर सकता, वो देश के नागरिकों की क्या देखभाल करेगा? इससे पहले ममता बनर्जी मोदी को ‘तुगलक का दादा’ और ‘हिटलर का चाचा’ से लेकर ‘दंगाई’, ‘लुटेरा’ और ‘ख़ूनी’ तक कह चुकी हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

Tokyo Olympics: 3 में से 2 राउंड जीतकर भी हार गईं मैरीकॉम, क्या उनके साथ हुई बेईमानी? भड़के फैंस

मैरीकॉम का कहना है कि उन्हें पता ही नहीं था कि वह हार गई हैं। मैच होने के दो घंटे बाद जब उन्होंने सोशल मीडिया देखा तो पता चला कि वह हार गईं।

मीडिया पर फूटा शिल्पा शेट्टी का गुस्सा, फेसबुक-गूगल समेत 29 पर मानहानि केस: शर्लिन चोपड़ा को अग्रिम जमानत नहीं, माँ ने भी की शिकायत

शिल्पा शेट्टी ने छवि धूमिल करने का आरोप लगाते हुए 29 पत्रकारों और मीडिया संस्थानों के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट में मानहानि का केस किया है। सुनवाई शुक्रवार को।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,882FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe