Monday, September 26, 2022
Homeराजनीति'...अगर कॉन्ग्रेस राज्य में सभी सीटें नहीं जीत पाती है, तो सीएम को इस्तीफा...

‘…अगर कॉन्ग्रेस राज्य में सभी सीटें नहीं जीत पाती है, तो सीएम को इस्तीफा दे देना चाहिए’

सिद्धू ने बठिंडा में कॉन्ग्रेस उम्मीदवार अमरिंदर सिंह राजा के समर्थन में प्रचार करते हुए कहा था कि यदि 2015 की बेअदबी की घटनाओं के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो वह इस्तीफा दे देंगे।

पंजाब में मतदान के दिन ही कॉन्ग्रेस के खेमे में भूचाल सा आ गया। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कल (मई 19, 2019) अपने कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पर हमला बोला। अमरिंदर सिंह ने कहा कि सिद्धू उन्हें हटाकर मुख्‍यमंत्री बनना चाहते हैं। जिसके बाद अब सिद्धू की पत्नी नवजोर कौर का बयान सामने आया है। इसमें उन्होंने कैप्टन पर निशाना साधा है। उन्होंने अमृतसर में वोट डालने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि अगर कॉन्ग्रेस राज्य की सभी सीटें नहीं जीत पाती है, तो सीएम को इस्तीफा दे देना चाहिए।

कल अमरिंदर सिंह ने सिद्धू द्वारा चुनाव प्रचार के अंतिम दिन बठिंडा में दिए गए विद्रोही बयान की तरफ इशारा करते हुए कहा था कि मतदान से ठीक पहले उनकी गलत टिप्पणी से कॉन्ग्रेस को नुकसान होगा। इसके साथ ही कैप्‍टन ने सिद्धू के खिलाफ बड़ी कार्रवाई के संकेत भी दिए थे। उन्होंने कहा कि अगर वह सच्चे कॉन्ग्रेसी होते, तो अपनी शिकायत रखने के लिए सही समय का चयन करते, न कि मतदान से ठीक पहले इस तरह का बयान देते। पार्टी में अलग-अलग विचार के लोग होते हैं, लेकिन सिद्धू ने जो तरीका अपनाया वह गलत है। वह मुख्‍यमंत्री बनने के लिए इतने उतावले हैं कि उनको समय और मौके का भी ध्‍यान नहीं रहता।

हालाँकि अमरिंदर और सिद्धू के बीच अंदरूनी खींचतान काफी दिनों से जारी है, मगर सीएम अमरिंदर के बयान के बाद दोनों के बीच की नाराजगी अब खुल कर सबके सामने आ गई है। गौरतलब है कि सिद्धू ने 7 मई को बठिंडा में कॉन्ग्रेस उम्मीदवार अमरिंदर सिंह राजा के समर्थन में प्रचार करते हुए कहा था कि यदि 2015 की बेअदबी की घटनाओं के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो वह इस्तीफा दे देंगे। इस दौरान उन्होंने सवाल भी किया था कि 2015 में बेअदबी और पुलिस गोलीबारी की घटनाओं के सिलसिले में बादल परिवार के जिम्मेदार सदस्यों के खिलाफ प्राथमिकी क्यों नही दर्ज की गई?

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘भारत माता की जय’ नारे के साथ गुलाम नबी ने बनाई नई पार्टी, ‘डेमोक्रेटिक आज़ाद पार्टी’ रखा नाम: कहा- वापस नहीं आ सकता अनुच्छेद-370

कॉन्ग्रेस से अलग होने वाले गुलाम नबी आजाद ने अपनी नई राजनीतिक पार्टी के नाम का ऐलान कर दिया है। इसका नाम डेमोक्रेटिक आजाद पार्टी है।

‘दुपट्टा तक सिर पर नहीं है, पाकिस्तान को लूटकर खा गई’ : लंदन में PAK मंत्री मरियम के पीछे पड़ी भीड़, लगे- ‘चोरनी-चोरनी’ के...

एक महिला कहती है, "ये मरियम औरंगजेब है, जो टीवी पर बैठ कर बड़े-बड़े दावे करती है, लेकिन इसके सिर पर दुपट्टा नहीं है। ये चोरों की सरदारनी है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,319FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe