Friday, June 21, 2024
Homeराजनीतिसात चरण में होंगे लोकसभा चुनाव, चार जून को नतीजे: जानें -आपके राज्य में...

सात चरण में होंगे लोकसभा चुनाव, चार जून को नतीजे: जानें -आपके राज्य में कब होगा मतदान, तीन राज्यों में क्यों कराई जा रही 7 चरणों में वोटिंग

लोकसभा चुनाव 2024 की घोषणा कर दी गई है। चुनाव आयोग ने बताया है कि पूरे देश में 7 चरणों में लोकसभा चुनाव के लिए मतदान होगा, और 4 जून को मतगणना के साथ लोकसभा चुनाव के नतीजे जारी किए जाएँगे।

लोकसभा चुनाव 2024 की घोषणा की जा चुकी है। 19 अप्रैल से शुरू होने वाली मतदान की प्रक्रिया 1 जून 2024 तक चलेगी, तो 4 जून को नतीजों की घोषणा की जाएगी। इस लोकसभा चुनाव में तीन राज्यों उत्तर प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल में सात चरणों में मतदान की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। मुख्य चुनाव आयुक्त ने इसके पीछे की वजह राज्यों का बड़ा होना, सीटों की संख्या ज्यादा होना और राजनीतिक हिंसा को ध्यान में रखे जाने को बताया है। आइए जानते हैं कि किस चरण में कहाँ मतदान कराए जाएँगे।

चरण के हिसाब से लोकसभा सीटों पर मतदान की तारीख

पहले चरण में 19 अप्रैल को मतदान होगा। इसमें 21 राज्यों की 102 सीटों पर वोटिंग होगी।

दूसरे चरण में 26 अप्रैल को वोटिंग होगी। इसमें 13 राज्यों की 89 सीटों पर वोटिंग होगी। 

तीसरे चरण में 7 मई को वोटिंग होगी। 12 राज्यों की 94 सीटों पर वोटिंग होगी। 

चौथे चरण में 13 मई को वोटिंग होगी। 10 राज्यों की 96 सीटों पर वोटिंग होगी। 

पाँचवें चरण में 20 मई को वोटिंग होगी। 8 राज्यों की 49 सीटों पर वोटिंग होगी।

छठें चरण में 25 मई को वोटिंग होगी। 7 राज्यों की 57 सीटों पर वोटिंग होगी।

सातवें चरण में 1 जून को वोटिंग होगी। 8 राज्यों की 57 सीटों पर वोटिंग होगी।

लोकसभा चुनाव के नतीजे 4 जून को आएँगे।

22 राज्यों में एक ही चरण में लोकसभा चुनाव के लिए मतदान

लोकसभा चुनाव 2024 के दौरान 22 राज्यों में एक चरण में ही मतदान की प्रक्रिया संपन्न कराई जाएगी। इन 22 राज्यों में अरुणाचल प्रदेश, अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह, आँध्र प्रदेश, चंडीगढ़, दमन दीव नागर हवेली, दिल्ली, गोवा, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, केरल, लक्षद्वीप, लद्दाख, मिजोरम, मेघालय, नागालैंड, पुडुचेरी, सिक्किम, तमिल नाडु, पंजाब, तेलंगाना और उत्तराखंड हैं।

इन राज्यों में कई चरणों कराए जाएँगे लोकसभा चुनाव

लोकसभा चुनाव 2024 में 4 राज्यों कर्नाटक, राजस्थान, त्रिपुरा और मणिपुर में दो चरणों में चुनाव कराए जाएँगे। छत्तीसगढ़ और असम में तीन चरणों में लोकसभा चुनाव कराए जाएँगे। तो 3 राज्यों ओडिशा, मध्य प्रदेश और झारखंड में 4 चरणों में लोकसभा चुनाव आयोजित होंगे। महाराष्ट्र और जम्मू कश्मीर में 5 चरणों में लोकसभा चुनाव कराए जाएँगे तो उत्तर प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल में 7 चरणों में लोकसभा चुनाव कराए जाएँगे।

चुनाव आयोग द्वारा जारी

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा, ‘चुनाव आयोग इस लोकसभा चुनाव के लिए 2 साल से तैयारी कर रहा था। दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक चुनाव में कई चुनातियाँ होती हैं। भारत में इस बार 96.8 करोड़ से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। पूरे देश में 10.48 लाख मतदान केंद्र बनाए जाएँगे। इस चुनाव में 1.5 करोड़ मतदान कर्मी ड्यूटी करेंगे।’ चुनाव आयुक्त ने बताया कि इस साल देश में 96.8 करोड़ मतदाता मतदान करेंगे। इसमें 49.7 करोड़ पुरुष मतदाता हैं, तो 47.1 करोड़ महिला मतदाता। इस चुनाव में 1.8 करोड़ नए मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, तो इस बार 20 से 29 वर्ष के 19.74 करोड़ मतदाता देश के भविष्य का फैसला करेंगे।

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने एक सवाल के जवाब में कहा कि कुछ राज्यों में लोकसभा चुनाव सात चरणों में आयोजित किए जा रहे हैं, इसके पीछे कई कारण है। इस बार चुनाव आयोग किसी भी तरह की अव्यवस्था से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। चुनाव आयोग धन बल, बाहुबल, गलत सूचनाओं के प्रसार पर रोक के साथ ही और आदर्श आचार संहिता के पालन कराने के लिए दृढ़संकल्पित है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -