Wednesday, May 22, 2024
Homeराजनीतिबाप तक पहुँची MP की टाइगर पॉलिटिक्स: दिग्विजय सिंह पर शिवराज के मंत्री ने...

बाप तक पहुँची MP की टाइगर पॉलिटिक्स: दिग्विजय सिंह पर शिवराज के मंत्री ने साधा निशाना

राज्य में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा था कि टाइगर जिंदा है। सिंधिया का ये बयान काफी वायरल हुआ था। इस पर दिग्विजय सिंह ने पलटवार करते हुए कहा था कि हम और माधवराव सिंधिया साथ में शेर का शिकार करते थे।

मध्य प्रदेश में ‘टाइगर’ पॉलिटिक्स जारी है। शिवराज सिंह चौहान के मंत्री अरविंद भदौरिया ने कॉन्ग्रेस नेता दिग्विजय सिंह पर पलटवार करते हुए विवादित बयान दिया है।

मध्य प्रदेश के सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया ने दिग्विजय सिंह पर निशाना साधते हुए कहा, “मैं बेंगलुरु में था, तब दिग्विजय सिंह मेरे भाई पर केस रजिस्टर्ड करके पुलिस से उठवा रहे थे, तेरे बाप में हिम्मत है। मैं चंबल की माटी में पैदा हुआ हूँ, किसी से डरता नहीं हूँ। दिग्विजय सिंह कहते हैं कि 2-2 टाइगर मारेंगे, तेरे बाप ने भी कभी टाइगर नहीं मारे होंगे।”

उनके इस बयान वीडियो वायरल हो रहा है। दरअसल, भदौरिया मंत्री बनने के बाद पहली बार भिंड पहुँचे थे। जिले की सीमा में प्रवेश करते ही गर्मजोशी के साथ कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया। स्वागत का सिलसिला मालनपुर से शुरू होकर भिंड तक चला। भिंड बस स्टैंड पर उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इसी दौरान दिग्विजय सिंह पर निशाना साधते हुए उन्होंने यह बात कही।

राज्य में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा था कि टाइगर जिंदा है। सिंधिया का ये बयान काफी वायरल हुआ था। इसके बाद एक कार्यक्रम में उनसे पूछा गया कि शिवराज सिंह चौहान और उनमें टाइगर कौन है, तो सिंधिया ने कहा था- दोनों टाइगर हैं। इस पर दिग्विजय सिंह ने पलटवार करते हुए कहा था कि हम और माधवराव सिंधिया साथ में शेर का शिकार करते थे।

सबसे पहले इसका इस्तेमाल शिवराज सिंह चौहान ने किया था। 2018 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी की हार के बाद जब वे सीएम हाउस छोड़ रहे थे, तो कहा था कि टाइगर अभी जिंदा है। इसके बाद से उनको ‘मामा शिवराज’ के साथ ‘टाइगर शिवराज’ भी कहा जाने लगा था। इसी टाइगर वाले बयान को लेकर दिग्विजय सिंह चौहान ने सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर लिखा था कि उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया के पिता माधवराव सिंधिया के साथ पहले टाइगर का खूब शिकार किया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘दिखाता खुद को सेकुलर है, पर है कट्टर इस्लामी’ : हिंदू पीड़िता ने बताया आकिब मीर ने कैसे फँसाया निकाह के जाल में, ठगे...

पीड़िता ने ऑपइंडिया को बताया कि आकिब खुद को सेकुलर दिखाता है, लेकिन असल में वो है इस्लामवादी। उसने महिला से कहा हुआ था वह हिंदू देवताओं को न पूजे।

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -