महाराष्ट्र चुनाव: BJP के संकल्प पत्र में वीर सावरकर को भारत रत्न और 1 करोड़ नौकरियों का वादा

घोषणापत्र में पाँच साल में 1 करोड़ नौकरियों समेत कई बड़े वादे किए गए हैं। इसके अतिरिक्त 2022 तक हर घर को पीने का शुद्ध पानी मुहैया कराने, किसानों को 12 घंटे बिजली देने जैसे कई वादे किए गए हैं।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने मंगलवार (अक्टूबर 15, 2019) को घोषणापत्र जारी किया। इस घोषणापत्र में बीजेपी ने स्वतंत्रता सेनानी विनायक दामोदर सावरकर (वीर सावरकर) को भारत रत्न दिलाने का वादा किया है। बीजेपी और महाराष्ट्र में उसकी सहयोगी शिवसेना लंबे समय से सावरकर को भारत रत्न देने की वकालत करते रहे हैं। घोषणापत्र में सावरकर के अलावा महात्मा ज्योतिबा फुले और सावित्री बाई फुले और को भी भारत रत्न दिलाने की भी बात कही गई है।

घोषणा पत्र जारी करने के मौके पर बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, राज्य बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल समेत बीजेपी के कई बड़े नेता मौजूद थे। घोषणापत्र में पाँच साल में 1 करोड़ नौकरियों समेत कई बड़े वादे किए गए हैं। इसके अतिरिक्त 2022 तक हर घर को पीने का शुद्ध पानी मुहैया कराने, किसानों को 12 घंटे बिजली देने जैसे कई वादे किए गए हैं।

इस दौरान फडणवीस ने कहा कि 1 करोड़ परिवारों को महिला बचत समूह से जोड़कर रोजगार के विशेष अवसर उपलब्ध कराया जाएगा। घोषणापत्र में पार्टी ने पाँच साल में महाराष्ट्र को सूखा मुक्त करने की भी बात कही गई है। 2022 तक प्रत्येक घर को पीने का शुद्ध पानी उपलब्ध कराया जाएगा। मूलभूत सुविधाओं के लिए केंद्र सरकार के सहयोग से 5 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा। 

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

घोषणापत्र में कहा गया है कि राज्य की सभी सड़कों की स्थायी मरम्मत और देखभाल के लिए स्वतंत्र तंत्र का निर्माण किया जाएगा और मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के माध्यम से सभी बस्तियों को 12 महीने चलने वाली सड़कों से जोड़ा जाएगा। इसके साथ ही इसमें कहा गया है कि भारत नेट और महाराष्ट्र नेट के माध्यम से संपूर्ण महाराष्ट्र को इंटरनेट से जोड़ा जाएगा। प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना और महात्मा फुले जन आरोग्य योजना से कोई भी वंचित न रहे यह सुनिश्चित किया जाएगा।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

बीएचयू, वीर सावरकर
वीर सावरकर की फोटो को दीवार से उखाड़ कर पहली बेंच पर पटक दिया गया था। फोटो पर स्याही लगी हुई थी। इसके बाद छात्र आक्रोशित हो उठे और धरने पर बैठ गए। छात्रों के आक्रोश को देख कर एचओडी वहाँ पर पहुँचे। उन्होंने तीन सदस्यीय कमिटी गठित कर जाँच का आश्वासन दिया।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,579फैंसलाइक करें
23,213फॉलोवर्सफॉलो करें
121,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: