Tuesday, May 17, 2022
Homeराजनीतिमहाराष्ट्र: गवर्नर ने शिवसेना से पूछा- बनाएँगे सरकार, एनसीपी ने कहा- सम​र्थन चाहिए तो...

महाराष्ट्र: गवर्नर ने शिवसेना से पूछा- बनाएँगे सरकार, एनसीपी ने कहा- सम​र्थन चाहिए तो छोड़ो NDA

शिवसेना सांसद संजय राउत ने फिर ​से अपनी पार्टी का सीएम होने की बात दोहराई है। उन्होंने कहा, "पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने साफ कहा है कि सीएम शिवसेना का होगा। जब उन्होंने कह दिया तो इसका मतलब है कि किसी भी कीमत पर शिवसेना का ही मुख्यमंत्री होगा।"

भाजपा ने महाराष्ट्र में सरकार बनाने से इनकार कर दिया। इसके बाद राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने दूसरे सबसे बड़े दल शिवसेना से सरकार गठन के बारे में पूछा है। गवर्नर कार्यालय की तरफ से इस संबंध में शिवसेना विधायक दल के नेता एकनाथ खडसे से सरकार बनाने की इच्छा के बारे में पूछा गया है।

बताया जाता है कि कॉन्ग्रेस-एनसीपी के साथ मिलकर शिवसेना सरकार का गठन कर सकती है। एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा है कि यदि गवर्नर सरकार बनाने के लिए शिवसेना को न्योता देते हैं तो पार्टी उसको समर्थन देने पर विचार कर सकती है। मलिक के अनुसार फिलहाल शिवसेना की ओर से उनकी पार्टी को कोई प्रस्ताव नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि इस संबंध अंतिम फैसला कॉन्ग्रेस और एनसीपी मिलकर करेगी।

मलिक ने बताया कि एनसीपी ने 12 नवंबर को अपने विधायकों की बैठक बुलाई है। उन्होंने कहा कि यदि शिवसेना को हमारा समर्थन चाहिए तो उसे बीजेपी के साथ सारे रिश्ते तोड़ने का ऐलान करना होगा। उसे एनडीए से बाहर आना होगा और मोदी कैबिनेट में शामिल उसके पार्टी नेताओं को इस्तीफा देना होगा।

https://platform.twitter.com/widgets.js

बता दें कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार में शिवसेना भी शामिल है। महाराष्ट्र का विधानसभा चुनाव भी उसने बीजेपी के साथ ही मिलकर लड़ा था। लेकिन, नतीजे आने के बाद से वह ढाई साल के लिए सीएम पद मॉंग रही है। 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा के चुनाव में भाजपा को 105 और उसकी सहयोगी शिवसेना को 56 सीटें मिली है। कॉन्ग्रेस को 44 और उसकी सहयोगी एनसीपी को 54 सीटें मिली है।

इससे पहले महाराष्ट्र भाजपा के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने राज्यपाल से मुलाकात कर उन्हें बताया कि पार्टी सरकार नहीं बनाएगी। पाटिल ने शिवसेना पर जनादेश के अपमान का आरोप लगाया। पाटिल ने अफ़सोस जताते हुए कहा कि शिवसेना और भाजपा को बहुमत मिलने के बावजूद सरकार का गठन नहीं हो सका है। उन्होंने शिवसेना पर जनादेश का अपमान करने का आरोप लगाया। साथ ही कहा कि यदि कॉन्ग्रेस-एनसीपी के साथ मिल कर शिवसेना सरकार चलाना चाहती है तो उन्हें हमारी शुभकामनाएँ है।

वहीं, शिवसेना सांसद संजय राउत ने फिर ​से अपनी पार्टी का सीएम होने की बात दोहराई है। उन्होंने कहा, “पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने साफ कहा है कि सीएम शिवसेना का होगा। जब उन्होंने कह दिया तो इसका मतलब है कि किसी भी कीमत पर शिवसेना का ही मुख्यमंत्री होगा।” इस बीच, पूर्व मुख्यमंत्री और कॉन्ग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने कहा है कि हालात पर पार्टी की नजर है। उन्होंने कहा कि कॉन्ग्रेस के लिए सभी विकल्प खुले हैं और पार्टी ने अभी तक अंतिम फैसला नहीं किया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मथुरा के शाही ईदगाह में साक्ष्य मिटाए जाने की आशंका, मस्जिद को तुरंत सील करने के लिए नई याचिका दायर: ज्ञानवापी का दिया हवाला

ज्ञानवापी विवादित ढाँचे में शिवलिंग मिलने के बाद अब मथुरा के शाही ईदगाह मस्जिद को लेकर नई याचिका दायर हुई है, जिसमें इसे सील करने की माँग की गई।

हनुमान मूर्ति से लेकर गणेश मंदिर और परिक्रमा पथ से लेकर पुस्ती तक: 26 साल पहले भी हुआ था एक ज्ञानवापी सर्वे, जानें क्या-क्या...

ज्ञानवापी में पहली बार सर्वे नहीं हुआ है। इससे पहले साल 1996 में भी एक दिन का सर्वे हुआ था जिसमें सामने आया था कि विवादित ढाँचे के भीतर मंदिरों के चिह्न हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,366FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe