Thursday, July 18, 2024
Homeराजनीति'संजय राउत भ$^% है': शिवसेना में हुई फूट पर बोले शिंदे समर्थक, महिलाओं ने...

‘संजय राउत भ$^% है’: शिवसेना में हुई फूट पर बोले शिंदे समर्थक, महिलाओं ने भी बकी गाली, देखें वीडियो

शिंदे का गुट इस पूरे राजनीतिक घमासान की वजह संजय राउत को मान रहा है। इसी बीच यह वीडियो सामने आई है जिसमें उनके समर्थक संजय राउत को कैमरे पर गाली बकते नजर आ रहे हैं।

महाराष्ट्र में शिवसेना के दो गुट बँटने के बाद अब सोशल मीडिया पर हिंसा की खबरें आने लगी हैं। इसी बीच जहाँ उद्धव सरकार के समर्थन में खड़े शिवसैनिक एकनाथ शिंदे को सारी फूट के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं, वहीं शिंदे का गुट इस पूरे राजनीतिक घमासान की वजह संजय राउत को मान रहा है। कहा जा रहा है कि एनसीपी-कॉन्ग्रेस के साथ गठबंधन करके शिवसेना की विचारधारा के साथ खिलवाड़ हुआ।

एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुई है जिसमें शिंदे गुट के समर्थक संजय राउत को गाली देते नजर आ रहे हैं। रिपोर्टर उनसे पूछता है कि संजय राउत तो एकनाथ शिंदे के बागी होने पर उन्हें गद्दार बोल रहे हैं। इस पर शिंदे का समर्थक कहता है कि ये कहना पूर्ण रूप से गलत है क्योंकि एकनाथ शिंदे ने अभी तक शिवसेना को नहीं छोड़ा है।

पीछे से एक अन्य समर्थक कहता है कि आज जो कुछ भी हो रहा है उसकी वजह संजय राउत ही हैं। उन्हीं की वजह से शिवसेना में इतनी बड़ी फूट हो गई है। इसी बीच एक अन्य व्यक्ति भीड़ से माइक की ओर आगे आता है और कहता है- “संजय राउत गद्दार है, भ$^% है।”

रिपोर्टर उन्हें कहता है कि वो अपशब्दों का इस्तेमाल न करें। लेकिन तभी एक महिला आगे आती है। रिपोर्टर पूछता है- “आप लोग शिवसैनिक हैं?” इस पर महिला कहती है- “हम लोग बालासाहेब के शिवसैनिक हैं…संजय राउत गद्दारी कर रहे हैं, इसलिए ये माहौल हो रहा है। संजय राउत भ$^% है।”

बता दें कि एक ओर जहाँ महाराष्ट्र में शिवसैनिक दो गुटों में बँट गए हैं। शिंदे गुट में शामिल बागी विधायकों में से एक दीपक केसरकर ने बालासाहेब के नाम पर नई पार्टी बनाने की भी बात कही है। इस गुट ने शुरू से ही इस बात को कहा है कि वो बालासाहेब के शिवसैनिक हैं और उनकी विचारधारा को आगे लेकर जाएँगे, जबकि उद्धव गुट ने कहा है कि बागी विधायकों को जो करना है करें लेकिन बालासाहेब के नाम का इस्तेमाल न करें।

डिस्क्लेमर: ऑपइंडिया की संपादकीय नीति किसी भी अभद्र भाषा का समर्थन नहीं करती है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

3 आतंकियों को घर में रखा, खाना-पानी दिया, Wi-Fi से पाकिस्तान करवाई बात: शौकत अली हुआ गिरफ्तार, हमलों के बाद OGW नेटवर्क पर डोडा...

शौकत अली पर आरोप है कि उसने सेना के जवानों पर हमला करने वाले आतंकियों को कुछ दिन अपने घर में रखा था और वाई-फाई भी दिया था।

नई नहीं है दुकानों पर नाम लिखने की व्यवस्था, मुजफ्फरनगर पुलिस ने काँवड़िया रूट पर मजहबी भेदभाव के दावों को किया खारिज: जारी की...

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में पुलिस ने ताजी एडवायजरी जारी की है, जिसमें दुकानों और होटलों पर मालिकों के नाम लिखने को ऐच्छिक कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -