Monday, August 2, 2021
Homeराजनीतिउद्धव की कुर्सी पर संकट: शरद पवार ने NCP मंत्रियों को बुलाया, अजित ने...

उद्धव की कुर्सी पर संकट: शरद पवार ने NCP मंत्रियों को बुलाया, अजित ने कहा- पता नहीं कब तक चलेगी सरकार

पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भीमा-कोरेगॉंव मामले की जॉंच एनआईए को सौंपे जाने के लिए उद्धव को धन्यवाद दिया था। साथ ही उन्होंने शिवसेना, कॉन्ग्रेस और एनसीपी को चुनाव के मैदान में चलने की चुनौती भी दी है।

महाराष्ट्र में राजनीति कब किस करवट बैठ जाए कहना मुश्किल है। उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में प्रदेश में चल रही शिवसेना, कॉन्ग्रेस और एनसीपी की गठबंधन सरकार के मतभेद आए दिन सामने आते रहते हैं। भीमा-कोरेगॉंव के मसले ने इसे और गहरा दिया है।

भीमा-कोरेगाँव मामले की जाँच पुणे पुलिस से एनआइए को सौंपे जाने को लेकर एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने उद्धव सरकार की आलोचना की थी। उन्होंने कहा था कि महाराष्ट्र पुलिस में कुछ लोगों का व्यवहार आपत्तिजनक था। पवार ने कहा था कि वो चाहते हैं कि इन अधिकारियों की भूमिका की भी जाँच होनी चाहिए।

अब पवार ने सोमवार (फरवरी 17, 2020) को महाराष्ट्र में अपने सभी मंत्रियों की बैठक बुलाई है। इस बैठक में एनसीपी के सभी 16 मंत्री शामिल होंगे। बताया जा रहा है कि यह बैठक पवार ने आनन-फानन में बुलाई है और इसके कारणों पर पार्टी ने कुछ नहीं बताया है।

वहीं, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भीमा-कोरेगाँव की जांँच केंद्रीय एजेंसी एनआईए को सौंपने को लेकर कहा कि वो इसके लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को धन्यवाद देते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि शरद पवार इस फैसले का विरोध कर रहे थे, उन्हें इस बात का डर लग रहा था कि कहीं सच सामने ना आ जाए।

भाजपा नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शिवसेना को फिर से चुनाव लड़ने की चुनौती भी दी है। एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने शिवसेना, NCP और कॉन्ग्रेस गठबंधन को हराने की बात कही। फडणवीस ने कहा, “अगर शिवसेना को इतना ही भरोसा है, तो मैं उन्हें फिर से चुनाव लड़ने की चुनौती देता हूँ। शिवसेना, कॉन्ग्रेस और NCP गठबंधन को बीजेपी अकेले चुनाव में हराएगी।”

दूसरी ओर, महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजित पवार ने भी आज बयान दिया है कि कोई भी ज्योतिष यह नहीं बता सकता है कि महाराष्ट्र में गठबंधन की सरकार कितने दिन चलने वाली है। अजित पवार ने यह भी कहा कि चीजें तभी तक आराम से चल सकती हैं जब तक यह सोनिया गाँधी, शरद पवार और उद्धव ठाकरे के अनुसार चलेंगी।

इससे पहले कॉन्ग्रेस ने शनिवार को उद्धव सरकार की ओर से भीमा-कोरेगाँव मामले की जाँच राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) को सौंपे जाने पर सहमति को लेकर असहमति जताई थी। कॉन्ग्रेस के महाराष्ट्र प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा था कि यह उचित नहीं था। इस तरह की बातों को लेकर पार्टनर से विचार करना चाहिए। उन्होंने उद्धव ठाकरे के लिए कहा था कि वो पावर में हैं, लेकिन इसका इस्तेमाल विवेकपूर्ण तरीके से करना चाहिए था।

ज्ञात हो कि महाराष्ट्र में बीते विधानसभा चुनाव में बीजेपी और शिवसेना साथ चुनाव लड़ी थी। चुनाव नतीजों में गठबंधन को बहुमत भी मिले थे, लेकिन बाद में शिवसेना और भाजपा की राह अलग हो गई थी। इसके बाद शिवसेना ने कॉन्ग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बनाई और उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री बने।

…वो मामला, जिससे ढाई महीने पुरानी ठाकरे सरकार संकट में: NCP और कॉन्ग्रेस के सीनियर नेता हुए नाराज

कभी नहीं कहा कि हम एक नहीं हो सकते: BJP से हाथ मिलाने पर महाराष्ट्र के CM उद्धव ठाकरे

CM पद से इस्तीफा दे देंगे उद्धव ठाकरे: महाराष्ट्र गठबंधन में बढ़ती कलह के बीच कॉन्ग्रेस नेता का बयान

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुहर्रम पर यूपी में ना ताजिया ना जुलूस: योगी सरकार ने लगाई रोक, जारी गाइडलाइन पर भड़के मौलाना

उत्तर प्रदेश में डीजीपी ने मुहर्रम को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी हैं। इस बार ताजिया का न जुलूस निकलेगा और ना ही कर्बला में मेला लगेगा। दो-तीन की संख्या में लोग ताजिया की मिट्टी ले जाकर कर्बला में ठंडा करेंगे।

हॉकी में टीम इंडिया ने 41 साल बाद दोहराया इतिहास, टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुँची: अब पदक से एक कदम दूर

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। 41 साल बाद टीम सेमीफाइनल में पहुँची है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,543FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe