Wednesday, July 28, 2021
HomeराजनीतिAAP की प्रीति मेनन: गालीबाज, झूठी और हिंदू विरोधी ट्वीटों की सरताज

AAP की प्रीति मेनन: गालीबाज, झूठी और हिंदू विरोधी ट्वीटों की सरताज

प्रीति मेनन का भाजपा के साथ जुड़े नेताओं के खिलाफ मूर्खतापूर्ण, घिनौने और अशोभनीय टिप्पणी करने का इतिहास रहा है। वह सोशल मीडिया पर बेहद हिंदूफोबिक टिप्पणियॉं करने के लिए भी जानी जाती हैं। बावजूद इसके 'हनुमान भक्त' अरविंद केजरीवाल ने कभी उन पर कोई कार्रवाई नहीं की और वह AAP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में बनी हुई हैं।

प्रीति शर्मा मेनन आम आदमी पार्टी (AAP) की नेशनल एक्जीक्यूटिव मेंबर है। ऐसा लगता है कि हिंदू विरोधी और मोदी सरकार को लेकर झूठे दावे करने वाले ट्वीट का उन्होंने ठेका ले रखा है।

औरंगाबाद में रेलवे ट्रैक पर सोए मजदूर मालगाड़ी की चपेट में आ गए थे। इस घटना के बाद प्रीति मेनन ने रेल मंत्री को निशाना बनाते हुए ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, “प्रवासी अभी भी पैदल क्यों चल रहे? क्या पीयूष गोयल के पास उनके लिए ट्रेन चलाने के लिए नहीं है?”

अश्लील और भद्दे ट्वीट्स प्रीति शर्मा मेनन की पहचान बन चुके हैं। पहले भी वह प्रधानमंत्री मोदी, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ काफ़ी अनर्गल बातें लिख चुकी हैं। हिंदुओं का मजाक उड़ाने और जानबूझकर उनकी धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाना उनकी आदत है।

प्रीति शर्मा मेनन ने यह भी दावा कर चुकी हैं कि भारत सरकार ने अगस्ता वेस्टलैंड स्कैम के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल के प्रत्यर्पण और निवेश के लिए शहजादी लतीफा का ‘सौदा’ किया था। उन्होंने दावा किया कि भारत सरकार अब महिलाओं का सौदा कर रही है।

एक अन्य ट्वीट में, प्रीति मेनन ने हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं का मजाक उड़ाया और अपमानजनक रूप से हिंदू साधुओं की मंडली को ‘न्यू इंडिया’ के मुख्यमंत्रियों के रूप में संदर्भित किया। उनके इशारा योगी आदित्यनाथ की ओर था जो गोरखनाथ मठ के महंत के अलावा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री भी हैं।

प्रीति मेनन ने खाकी हाफ पैंट का भी मजाक उड़ाया था, जिसे आरएसएस के कार्यकर्ता पहनते हैं।

प्रीति शर्मा मेनन ने ट्विटर पर कई बार प्रधानमंत्री मोदी और स्मृति ईरानी पर भी हमला किया है।

आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य प्रीति शर्मा मेनन स्मृति ईरानी से काफ़ी नफ़रत करती है और वो चाह कर भी अपनी इस नफ़रत को छुपा नहीं पाती।

दिन प्रतिदिन प्राधानमंत्री के लिए भी उनकी नफ़रत और बढ़ती ही चली जा रही है।

इन सबके अलावा, प्रीति मेनन ने सोशल मीडिया पर महिलाओं के खिलाफ टिप्पणी करने वाले लोगों का भी बचाव किया है।

जैसा कि उपरोक्त ट्वीट्स से देखा जा सकता है कि किस तरह प्रीति मेनन का भाजपा के साथ जुड़े नेताओं के खिलाफ मूर्खतापूर्ण, घिनौने और अशोभनीय टिप्पणी करने का इतिहास रहा है। वह सोशल मीडिया पर बेहद हिंदूफोबिक टिप्पणियॉं करने के लिए भी जानी जाती हैं। बावजूद इसके ‘हनुमान भक्त’ अरविंद केजरीवाल ने कभी उन पर कोई कार्रवाई नहीं की और वह AAP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में बनी हुई हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बद्रीनाथ नहीं, वो बदरुद्दीन शाह हैं…मुस्लिमों का तीर्थ स्थल’: देवबंदी मौलाना पर उत्तराखंड में FIR, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मौलाना के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 153ए, 505, और आईटी एक्ट की धारा 66F के तहत केस किया गया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके बयान से हिंदू भावनाएँ आहत हुईं।

बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री: पिता भी थे CM, राजीव गाँधी के जमाने में गवर्नर ने छीन ली थी कुर्सी

बसवराज बोम्मई के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जबकि बसवराज ने भाजपा 2008 में ज्वाइन की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,573FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe